ताज़ा खबर
 

जब पिता का अंतिम संस्कार करने के बाद ऋषभ पंत ने खेली धमाकेदार पारी, जीत लिया सभी का दिल

ऋषभ पंत ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ नाबाद 128 रनों की पारी खेली जिसके लिए उन्होंने 63 गेंदों का सामना किया और 15 चौकों के साथ सात छक्के लगाए। यह पंत का आईपीएल में सर्वोच्च स्कोर भी है। इससे पहले उन्होंने पिछले सीजन में गुजरात लायंस के खिलाफ इसी मैदान पर 97 रनों की पारी खेली थी।

फैंस का अभिवादन स्वीकारते पंत। (फोटोः टि्वटर)

हैदराबाद के खिलाफ युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत ने गुरुवार को आईपीएल में अपना पहला शतक लगाया। इसके साथ ही उन्होंने लीग में अपने 1000 रन भी पूरे कर लिए। पंत ने फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेले जा रहे लीग के 11वें संस्करण के मैच में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ नाबाद 128 रनों की पारी खेली जिसके लिए उन्होंने 63 गेंदों का सामना किया और 15 चौकों के साथ सात छक्के लगाए। यह पंत का आईपीएल में सर्वोच्च स्कोर भी है। इससे पहले उन्होंने पिछले सीजन में गुजरात लायंस के खिलाफ इसी मैदान पर 97 रनों की पारी खेली थी। दिल्ली डेयरडेविल्स भले ही अपने पहले मैच में हार गई हो, लेकिन टीम के खिलाड़ी ऋषभ पंत ने अपनी शानदार पारी से सबका दिल जीत लिया है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब पंत ने टीम को अकेले दम पर मैच जिताने की कोशिश की हो। पिछले साल कार्डियक अटैक की वजह से आईपीएल के दौरान ही ऋषभ पंत के पिता की मौत हो गई थी।

ऋषभ पंत। (Photo Courtesy: IPL)

अपने पिता की मौत को खबर सुन पंत टूर्नामेंट को छोड़ अंतिम संस्कार में शामिल हुए। हालांकि, इसके अगले ही दिन वह फिर से अपनी टीम के साथ जुड़ गए। इतना ही नहीं आरसीबी के खिलाफ खेले गए पहले मैच के दौरान पंत ने शानदार अर्धशतक लगाने में भी कामयाब रहे। इस मैच में आरसीबी ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 157 रन बनाए थे। वहीं दिल्ली की टीम पूरे ओवर खेलने के बाद नौ विकेट के नुकसान पर 142 रन ही बना सकी और अपना पहला मैच हार गई।

इस मैच में पंत ने 36 गेंदों में चार छक्के और तीन चौके की मदद से 57 रनों की सहासिक पारी खेली। ऋषभ पंत की तरह सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली भी अपने पिता के निधन के बाद विराट पारी खेलने में कामयाब रहे थे। इंग्लैंड में खेले गए 1999 वर्ल्ड कप के दौरान सचिन के पिता का देहांत हो गया था। इसके अगले ही मैच में सचिन ने शतक लगाकर हिम्मत का परिचय दिया। सचिन की इस पारी की लोग आज भी सराहना करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App