ताज़ा खबर
 

IPL में रोजाना लाखों लीटर पानी की होती है बर्बादी, NGT ने सरकार और BCCI को भेजा नोटिस

जस्टिस जावेद रहीम की अध्यक्षता वाली पीठ ने जल संसाधन मंत्रालय, भारतीय क्रिकेट बोर्ड और उन नौ राज्यों को नोटिस दिए हैं जहां मैच होने हैं।

Author नई दिल्ली | March 14, 2018 9:07 PM
आईपीएल ट्रॉफी।

इंडियन प्रीमियर लीग मैचों के दौरान रोजाना लाखों लीटर पानी की बर्बादी की वजह से टूर्नामेंट पर प्रतिबंध लगाने की याचिका पर बुधवार को राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने केंद्र, बीसीसीआई और अन्य से जवाब मांगा है। जस्टिस जावेद रहीम की अध्यक्षता वाली पीठ ने जल संसाधन मंत्रालय, भारतीय क्रिकेट बोर्ड और उन नौ राज्यों को नोटिस दिए हैं जहां मैच होने हैं। सभी पक्षों को दो सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा गया है। मामले की अगली सुनवाई 28 अप्रैल को है।

अलवर के एक युवा हैदर अली ने आईपीएल के दौरान पानी की बेतहाशा बर्बादी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर याचिका दायर की है। इसमें कहा गया, ‘‘संबंधित अधिकारियों को व्यावसायिक उद्देश्यों से इस टूर्नामेंट के आयोजन से रोका जाये जो नौ स्थानों पर होना है।’’ दूसरी तरफ, क्रिकेटरों में से एक भारतीय कप्तान विराट कोहली ने स्वीकार किया कि अब समय आ गया है जब वह अपने शरीर की जरूरत को समझे और अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए कार्यभार का प्रबंधन करें। कोहली को श्रीलंका में चल रही त्रिकोणीय ट्वेंटी-20 सीरीज के लिए आराम दिया गया है।

कोहली ने ‘टिसो’ ब्रांड की घड़ी के प्रोमोशनल कार्यक्रम के मौके पर कहा, ‘‘शारीरिक रूप से कुछ हल्की फुल्की चोट हैं, मैं इनसे उबर रहा हूं। वर्कलोड ने थोड़ा असर दिखाना शुरू कर दिया है। अब मुझे ज्यादा सतर्क होना होगा कि मैं अपने शरीर, दिमाग और क्रिकेट के साथ कैसे आगे बढ़ूं।’’ उन्होंने कहा कि ब्रेक उन्हें नई चुनौतियों के लिए तैयार होने के लिए उबरने में मदद कर रहा है जिसकी शुरुआत आईपीएल से होगी।

कोहली ने कहा, ‘‘आगे बढ़ने के लिए इस तरह का समय काफी अहम है। मैं इसका लुत्फ उठा रहा हूं। मुझे किसी भी चीज की कमी नहीं खल रही है क्योंकि मेरे शरीर को वाकई इसकी जरूरत थी। हालांकि मैं मैचों पर नजर लगाए हूं। लेकिन मैं इस समय मैच नहीं देख रहा हूं और ऐसा नहीं लग रहा है कि मुझे मैदान पर होना चाहिए था क्योंकि मैंने अपने शरीर की जरूरत को महसूस करना शुरू कर दिया है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App