ताज़ा खबर
 

MI vs CSK, IPL 2018: मैच से पहले जसप्रीत बुमरा बोले- ब्रेक पर था, अब भूख लगी है

IPL 2018: अपने तीन साल के आईपीएल कॅरिअर में बुमरा 46 मैचों में 47 विकेट्स ले चुके हैं। लसिथ मलिंगा के रिटायरमेंट के बाद टीम में उनकी भूमिका अब एक वरिष्‍ठ गेंदबाज की हो गई है।

मुंबई इंडियंस के अभ्‍यास सत्र के दौरान जसप्रीत बुमरा और लसिथ मलिंगा। (Photo: PTI)

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमरा क्रिकेट के मैदान पर वापसी को बेताब हैं। दक्षिण अफ्रीका सीरीज खत्‍म होने के बाद से बुमरा नेशनल क्रिकेट एकेडमी में वक्‍त बिता रहे थे। 7 अप्रैल को इंडियन प्रीमियर लीग के पहले मुकाबले में बुमरा की मुंबई इंडियंस का मुकाबला चेन्‍नई सुपर किंग्‍स से होगा। मैच से पहले बुमरा ने पीटीआई से कहा, ”मैं ब्रेक पर था। मैंने दक्षिण अफ्रीका में बहुत ओवर्स डाले, पूरे साल लगातार खेलता रहा। मैं एनसीए में था, घर पर सो नहीं रहा था। यह अच्‍छा ब्रेक था और जरूरी था। मेरी भूख लौट आई है और वापसी करना अच्‍छा लगता है।”

शनिवार के मैच को लेकर बुमरा ने कहा, ”मैं पहले भी CSK के खिलाफ खेला हूं। भारतीय टीम के साथियों के खिलाफ खेलना अच्‍छा लगता है।” बुमरा अपने तीन साल के आईपीएल कॅरिअर में 46 मैचों में 47 विकेट्स ले चुके हैं। लसिथ मलिंगा के रिटायरमेंट के बाद टीम में उनकी भूमिका अब एक वरिष्‍ठ गेंदबाज की हो गई है।

बुमरा ने आगे कहा, ”हम एक बहुत अच्‍छी गेंदबाजी यूनिट हैं। हमारे पास विविधता है- अच्‍छे स्पिनर्स और तेज गेंदबाज हैं। अगर आपके पास 6 विभिन्‍न गेंदें हैं और आप किसी दिन उन्‍हें इस्‍तेमाल नहीं पाते तो इसका कोई फायदा नहीं हैं।” बुमरा सीमित ओवरों के क्रिकेट में विश्‍व के नंबर 1 गेंदबाज हैं। मुंबई इंडियंस के गेंदबाजी कोच शेन बॉन्‍ड ने बुमराह की जमकर तारीफ की और उन्‍हें एक ‘पूर्ण गेंदबाज’ बताया।

IPL 2018: जानिए कब और कहां खेले जाएंगे सभी टीमों के मुकाबले

बल्‍लेबाजी में मुंबई अपने कप्तान रोहित पर निर्भर करेगी। उनके अलावा टीम में वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ऐल्विन लुइस एवं केरॉन पोलार्ड, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, सिद्देष लाड शामिल हैं। गेंदबाजी में टीम को ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिन्स, बांग्लादेश के मुस्ताफिजुर रहमान से अच्छे प्रदर्शन की उम्‍मीद होगी। हालांकि मुंबई का स्पिन विभाग अनुभवहीन है। राहुल चाहर, अनुकूल रॉय और श्रीलंका के अकिला धनंजय जैसे युवा स्पिनरों से रोहित को खासी उम्‍मीदें हैं।

दूसरी तरफ चेन्नई की टीम ज्यादा बैंलेस्‍ड है और उसने धोनी, सुरेश रैना एवं रविंद्र जडेजा जैसे अहम खिलाड़ियों को बरकरार रखा है और उसके पास मुरली विजय, केदार जाधव, ड्वेन ब्रावो, फाफ डू प्लेसिस, सैम बिलिंग्‍स और शेन वाटसन जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App