scorecardresearch

भारतीय ऑलराउंडर ने अपनी गेंदबाजी से ऑस्ट्रेलियाई खेमे में मचा दिया था हड़कंप, कंगारू दिग्गज ने स्वीकारा सच

अजीत अगरकर की बात करें तो शेन वॉटसन को साल 1999 में भारत का ऑस्ट्रेलिया का दौरा याद है। जवागल श्रीनाथ के साथ अगरकर टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक थे।

दिल्ली कैपिटल्स के सहायक कोच शेन वॉटसन (फोटो-डीसी ट्विटर)

दिल्ली कैपिटल्स (DC) के सहायक कोच शेन वॉटसन का ऑस्ट्रेलिया के लिए 14 साल का लंबा करियर काफी शानदार रहा। इस दौरान वह दो बार के विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे, कई यादगार पारियां खेलीं, साझेदारियों को तोड़ा और शानदार कैच लिए। 2016 में टी 20 विश्व कप के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी वॉटसन ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन जारी रखा। 37 साल की उम्र में साल 2018 में उन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के लिए 500 से अधिक रन बनाए।

आईपीएल से संन्यास लेने के बाद वॉटसन ने इस साल दिल्ली के साथ जुड़ने से पहले पिछले दो साल एक विशेषज्ञ के रूप में काम किया और उनके योगदान का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि लगभग हर खिलाड़ी ने वॉटसन पर और किसी न किसी क्षमता में उनके प्रभाव पर बात की है। वह एक शानदार कोचिंग टीम का हिस्सा हैं, जिसमें उनके साथ पूर्व ऑस्ट्रेलिया साथी रिकी पोंटिंग बतौर कोच और प्रवीण आमरे हैं।

सहायक कोच के रूप में वॉटसन के सहयोगियों में अजीत अगरकर भी हैं। अगरकर की बात करें तो वॉटसन को साल 1999 में भारत का ऑस्ट्रेलिया का दौरा याद है। जवागल श्रीनाथ के साथ अगरकर टीम इंडिया के प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक थे। यह अगरकर की दूसरी टेस्ट सीरीज थी और तीन मैचों में उन्होंने 11 विकेट लिए। वॉटसन के अनुसार अगरकर ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को काफी परेशान किया।

वॉटसन ने दिल्ली कैपिटल्स के पॉडकास्ट पर कहा, “अजीत अगरकर कमाल के इंसान हैं। मैंने उनके खिलाफ थोड़ा बहुत खेला है। खासकर उनके करियर के अंत के समय में। जवागल श्रीनाथ ने अच्छी गति से गेंदबाजी की, लेकिन अजीत… मुझे याद है कि वह ऑस्ट्रेलिया आए थे। मुझे लगता है कि यह 1999 था, ब्रेट ली का पदार्पण वर्ष। उन्होंने काफी तेज गेंदबाजी की। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम को काफी परेशान किया। मुझे याद है कि वह स्टीव वॉ को बाउंस करने की कोशिश कर रहे थे और वॉ इससे खुश नहीं थे।”

वॉटसन का कहना है कि वह कोच अगरकर से काफी प्रभावित हैं। भारत के इस पूर्व ऑलराउंडर में खिलाड़ियों और उनकी मानसिकता को समझने की क्षमता है। उन्होंने कहा, ” उनके पास जो ज्ञान है… वह वास्तव में एक अच्छे इंसान हैं और जानते हैं कि लोगों के साथ वास्तव में कैसे जुड़ना है। एक क्रिकेटर के रूप में उन्होंने जो हासिल किया है उसके लिए उन्हें टीम के भीतर भी बहुत सम्मान मिलता है। वह एक अच्छे इंसान हैं और लोगों की परवाह करते हैं। इसलिए किसी चीज के बारे में बताने और लोगों की मदद करने की उनकी क्षमता शानदार है। “

पढें IPL 2022 (Ipl News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट