IPL 2018: Kuldeep Yadav believes presence of Shane Warne at Eden Gardens motivated his career-best performance - Jansatta
ताज़ा खबर
 

IPL 2018: नॉकआउट मुकाबले में KKR को जिताने वाले कुलदीप ने बताया, कौन है उनका आदर्श

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने कहा है कि वह शेन वार्न को अपना आदर्श मानते हैं ओर उनके सामने अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं।

Author कोलकाता | May 16, 2018 3:55 PM
शेन वार्न को अपना आदर्श मानते हैं कुलदीप यादव

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने कहा है कि वह शेन वार्न को अपना आदर्श मानते हैं ओर उनके सामने अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं। कुलदीप ने मंगलवार रात को यहां ईडन गार्डन्स स्टेडियम में लीग के 11वें संस्करण में राजस्थान के खिलाफ 20 रन देकर चार विकेट झटके और अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उनके इस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला। कोलकाता ने इस मैच को छह विकेट से जीता।

कुलदीप ने मैच के बाद कहा, “यह मैच मेरे लिए बहुत अहम था क्योंकि मेरा आदर्श (शेन वार्न) मेरे सामने थे और उनके सामने गेंदबाजी करने से मुझे प्रेरणा मिलती है। जिसे मैंने बचपन से अपना आदर्श माना है और अगर वह आपके प्रदर्शन की सराहना करते हैं तो बहुत अच्छा लगता है।”

उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से यहां से जाने के बाद मैं उनके सपंर्क में रहूंगा और उनसे बात करूंगा क्योंकि आईपीएल के बाद इंग्लैंड के लंबे दौरे पर जब भी कभी मुलाकात होगी तो उनके गेंदबाजी को लेकर काफी चर्चा करूंगा।”

कुलदीप ने अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को लेकर कहा,”ईडन में खेलना अच्छा लगता है। हैट्रिक भी यहीं से ली है और मैंने यहां पर अपना पांच साल गुजारा है। यहां से काफी यादें जुड़ी हुई है। यह मैच हमारे लिए बहुत अहम था और मैंने चार विकेट निकाले। रहाणे के बारे में सोचा नहीं था कि वह रिवर्स स्विप करेंगे। मैंेने अपना सामान्य गेंद डाला था। हां, थोड़ा ऊपर डाला था जिसे वह समझ नहीं सके।”

यह पूछे जाने पर कि अगर सुनील नरेन उनके सामने हो तो वह कैसी गेंदबाजी करेंगे, चाइना मैन गेंदबाज ने कहा, “नरेन मेरे सामने बल्लेबाजी करने आएंगे तो मैं उन्हें अपना स्वभाविक गेंद डालूंगा। मैंने उन्हें कभी गेंद नहीं की लेकिन जिस तरह वह दूसरे गेंदबाजों को खेलते हैं तो शायद मुझे भी वैसे ही खेलने की कोशिश करेंगे। उनके खिलाफ मैं अपनी ताकत पर निर्भर रहूंगा और ज्यादा कुछ अलग करने की कोशिश नहीं करूंगा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App