ताज़ा खबर
 

IPL 2018, CSK vs SRH: धोनी की कप्तानी का जलवा, चेन्नई सुपर किंग्स के नाम दर्ज हुआ अनोखा रिकॉर्ड

IPL 2018: की टीम टेबल पर नजर डालें तो पाएंगे कि सनराइजर्स हैदराबाद जीत के एक छोर पर है तो दिल्ली डेयरडेविल्स सबसे निचले पायदानों पर नजर आती है। लेकिन क्रिकेट पंडितों ने सुपरकिंग्स के पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए बाकी टीमों की गुंजाइश को तौलना शुरू कर दिया है।

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ गुरुवार को ईडन गार्डन में हुए मुकाबले में शॉट लगाते हुए। फाइल फोटो (पीटीआई)

आईपीएल 2018 के रोमांचक मुकाबलों में कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी से सजी चेन्नई सुपर किंग्स ने धूम मचा रखी है। रविवार (13 मई) को हुए मैच में सुपर किंग्स का मुकाबला सनराइजर्स हैदराबाद से हुआ। ये मुकाबला आसान से स्कोर का पीछा करते हुए सुपर किंग्स ने 8 विकेट से जीत लिया। फिलहाल सुपर किंग्स टॉप टीमों की लिस्ट में नंबर 2 पर बनी हुई है। जबकि सनराइजर्स हैदराबाद अभी भी नंबर एक पर राज कर रही है। ऐसे वक्त में जबकि आईपीएल की टेबल ने अपना निश्चित आकार लेना शुरू कर दिया है। 44 मैच खेले जा चुके हैं। इस लिस्ट में किंग्स इलेवन पंजाब पर कोलकाता नाइट राइडर्स पर शनिवार (12 मई) को हासिल की गई जीत भी शामिल है।

फिलहाल आईपीएल की टीम टेबल पर नजर डालें तो पाएंगे कि सनराइजर्स हैदराबाद जीत के एक छोर पर है तो दिल्ली डेयरडेविल्स सबसे निचले पायदानों पर नजर आती है। आईपीएल के टॉप चार में अधिकतम चार या फिर पांच टीमें ही पहुंच सकती हैं। लेकिन क्रिकेट पंडितों ने टॉप चार की लिस्ट में नंबर दो पर काबिज सुपरकिंग्स के पुराने रिकॉर्ड को देखते हुए बाकी टीमों की गुंजाइश को तौलना शुरू कर दिया है।

चेन्नई सुपरकिंग्स के बारे में ये बातें यूं ही नहीं कही जा रही हैं। इसके पीछे सुपरकिंग्स का पुराना रिकॉर्ड भी गवाह है। 2008 में सुपरकिंग्स टॉप 4 में पहुंचा था। इसे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के अनुभवी नेतृत्व का ही दम कहा जाएगा कि सुपरकिंग्स इस सीरीज में फाइनल तक पहुंची थी। जबकि अगर बात 2009 की करें तो सुपर किंग्स सेमीफाइनलिस्ट भी बना था। लेकिन 23 मई 2009 को जोहान्सबर्ग में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ खेले गए मुकाबले में सुपरकिंग्स को 6 विकेट से हार का मुंह देखना पड़ा था। इस हार ने सुपरकिंग्स के लिए सीरीज मेें आगे के दरवाजे बंद कर दिए थे।

लेकिन आईपीएल 2010 में महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी से सजी चेन्नई सुपरकिंग्स के सिर पर जीत का सेहरा बांधा गया। जीत का ये सिलसिला अगले सीजन यानी आईपीएल 2011 में भी बरकरार रहा। वहीं आईपीएल—2012 और आईपीएल—2013 में सुपर किंग्स फाइनल तक पहुंचने में कामयाब रही। आईपीएल सीजन 2014 में भी चेन्नई सुपरकिंग्स सेमीफाइनल तक पहुंची थी। वहीं आईपीएल के सीजन 2015 में वह फाइनल में रही थी। आईपीएल के चालू सत्र 2018 में भी सुपरकिंग्स टॉप चार में पहुंच चुकी है।

इस आंकड़े को देखकर साफ कहा जा सकता है कि इसे कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के कुशल नेतृत्व का नमूना ही कहा जाएगा। जिसके बाद और कुछ भी कहने के लिए बाकी नहीं रह जाता है। इस आईपीएल में कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी करीब 10 साल पहले वाली फॉर्म में उतरकर मैच खेल रहे हैं। धोनी का अपनी खोई हुई फॉर्म को वापस पा लेेना अगर क्रिकेट दर्शकों के लिए रोमांचक है, तो वहीं विपक्षी टीम के लिए ये खतरे की घंटी से कम नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App