ताज़ा खबर
 

आईपीएल खिलाड़ी नीलामी 2017: बेन स्टोक्स-टाइमल मिल्स बने मिलियन डॉलर क्रिकेटर, अनजान घरेलू क्रिकेटरों पर बरसा धन

IPL Players Auction 2017: स्टोक्स ने अब तक फ्रेंचाइजी क्रिकेट नहीं खेला है। उनका 77 टी20 मैचों में स्ट्राइक रेट 134 से अधिक है जबकि गेंदबाजी इकोनामी रेट 8.60 है।

Author बेंगलुरु | February 22, 2017 12:30 pm
IPL Auction 2017: इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स। (PTI Photo/20 Feb, 2017)

इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स सोमवार (20 फरवरी) को आईपीएल की खिलाड़ियों की नीलामी में सबसे महंगे खिलाड़ी बने जब राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स ने उन्हें 14 करोड़ 50 लाख रुपए में खरीदा जबकि कई चर्चित नामों की अनदेखी के बीच कुछ अनजान घरेलू क्रिकेटरों पर भी फ्रेंचाइजियों ने मोटी रकम खर्च की। नीलामी में दूसरी सबसे बड़ी धनराशि बटोरने वाले खिलाड़ी इंग्लैंड के ही बायें हाथ के तेज गेंदबाज टाइमल मिल्स रहे जिन्हें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 12 करोड़ रुपए में खरीदा। कुल 350 खिलाड़ी नीलामी में शामिल थे जिनमें आठ फ्रेंचाइजी ने कुल 91.15 करोड़ रुपए खर्च करके 66 खिलाड़ियों को खरीदा। स्वाभाविक था कि सबसे अधिक भारतीय खिलाड़ी खरीदे गये। भारत के 39 खिलाड़ियों ने आईपीएल अनुबंध हासिल किया जबकि 27 विदेशी खिलाड़ी भी विभिन्न फ्रेंचाइजी टीमों से जुड़े।

अफगानिस्तान के युवा लेग स्पिनर राशिद खान अरमान के लिए सनराइजर्स हैदराबाद ने चार करोड़ रुपए की बोली लगायी जबकि स्पिन गेंदबाजी ऑलराउंडर मोहम्मद नबी को भी सनराइजर्स ने 30 लाख रुपए में खरीदा। ये दोनों आईपीएल से जुड़ने वाले अफगानिस्तान के पहले खिलाड़ी हैं। भारत के उभरते हुए खिलाड़ियों में से कुछ ने मोटी रकम बटोरी। तमिलनाडु के बायें हाथ के तेज गेंदबाज टी नटराजन के लिए किंग्स इलेवन पंजाब ने तीन करोड़ रुपए खर्च किए जो 10 लाख रुपए के उनके आधार मूल्य से 30 गुना अधिक है। हैदराबाद के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को स्थानीय फ्रेंचाइजी सनराइजर्स ने दो करोड़ 60 लाख रुपए में खरीदा।

पिछले कुछ समय से भारतीय टेस्ट टीम को नेट पर गेंदबाजी करने वाले बायें हाथ के राजस्थान के बायें हाथ के तेज गेंदबाज अनिकेत चौधरी के लिए आरसीबी ने दो करोड़ रुपए खर्च किए जबकि कर्नाटक के युवा ऑफ स्पिनर कृष्णप्पा गौतम के लिए मुंबई इंडियन्स ने दो करोड़ रुपए की बोली लगायी। भारतीय टेस्ट टीम से बाहर तेज गेंदबाज वरुण आरोन को किग्स इलेवन पंजाब ने दो करोड़ 80 लाख रुपए में खरीदा जबकि लेग स्पिनर कर्ण शर्मा तीन करोड़ 20 लाख रुपए में मुंबई की टीम के साथ जुड़े। बायें हाथ के स्पिनर पवन नेगी को आरसीबी ने एक करोड़ रुपए में खरीदा। उनका आधार मूल्य 30 लाख रुपए था। यह हालांकि उन्हें पिछले साल मिली आठ करोड़ 50 लाख रुपए की राशि से काफी कम है। उन्हें पिछले साल दिल्ली डेयरडेविल्स ने खरीदा था।

चेतेश्वर पुजारा और इशांत शर्मा जैसे सीनियर टेस्ट खिलाड़ियों को हालांकि कोई खरीदार नहीं मिला। इन दोनों का आधार मूल्य क्रमश: 50 लाख और दो करोड़ रुपए था। इरफान पठान में भी किसी फ्रेंचाइजी ने दिलचस्पी नहीं दिखायी। उनका आधार मूल्य 50 लाख रुपए था। विदेशों के जिन मशहूर खिलाड़ियों को कोई खरीदार नहीं मिला उनमें दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर इमरान ताहिर भी शामिल हें जो आईसीसी की वर्तमान वनडे और टी20 रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज हैं। निश्चित तौर पर सोमवार (20 फरवरी) का दिन इंग्लैंड के खिलाड़ियों के नाम रहा। स्टोक्स सबसे महंगे खिलाड़ी रहे जबकि मिल्स भी उनके करीब पहुंचने में सफल रहे। ये दोनों आईपीएल 10 की नीलामी में मिलियन डॉलर क्रिकेटर बने।

इंग्लैंड के ही क्रिस वोक्स के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स ने चार करोड़ 20 लाख रुपए की बोली लगाई। आक्रामक बल्लेबाज जैसन रे पहले दौर की नीलामी में नहीं बिके लेकिन दूसरे दौर में गुजरात लायन्स ने उन्हें एक करोड़ रुपए में खरीदा। पुणे टीम के मालिक संजीव गोयनका ने स्पष्ट किया कि उन्हें पता था कि स्टोक्स पर काफी रकम खर्च करनी पड़ेगी और वह इसके लिए भी तैयार हैं कि शायद वह पूरे टूर्नामेंट में खेलने के लिए उपलब्ध नहीं हो। गोयनका ने संवाददाताओं से कहा, ‘हमें पता था कि वह काफी महंगा होगा। हमारा मानना है कि वह 14 मैचों के लिए उपलब्ध रहेगा और फिलहाल हम शुरुआती 14 मैचों पर ही ध्यान लगा रहे हैं और हम इसे लेकर खुश हैं। हमें पता था कि इससे कम पैसों में वह हमें नहीं मिलेगा।’

रविवार (19 फरवरी) को महेंद्र सिंह धोनी को कप्तानी से हटाने वाली पुणे की टीम देर से बोली में शामिल हुई और 13 करोड़ रुपए से शुरुआत की। टीम ने अंतत: मुंबई इंडियन्स, दिल्ली डेयरडेविल्स, रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद को पछाड़कर स्टोक्स को अपनी टीम के साथ जोड़ा। इंग्लैंड की सीमित ओवरों की टीम में स्टोक्स के कप्तान इयोन मोर्गन को किंग्स इलेवन पंजाब ने उनकी आधार कीमत दो करोड़ रुपए में खरीदा। तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर स्टोक्स को खरीदने के लिए पांच फ्रेंचाइजियों ने बोलियां लगाई। स्टोक्स ने अब तक फ्रेंचाइजी क्रिकेट नहीं खेला है। उनका 77 टी20 मैचों में स्ट्राइक रेट 134 से अधिक है जबकि गेंदबाजी इकोनामी रेट 8.60 है।

दूसरी तरफ मिल्स ने 55 टी20 मैचों में 63 विकेट चटकाए हैं और इस दौरान उनका इकोनामी रेट 7.47 रहा। यह पूछने पर कि क्या स्टोक्स के लिए बोली लगाने से पहले पुणे के कप्तान स्टीवन स्मिथ से सलाह मशविरा किया गया, गोयनका ने कहा कि कोच स्टीफन फ्लेमिंग सहित सभी लोग इस फैसले का हिस्सा थे। उन्होंने कहा, ‘स्टीवन स्मिथ और स्टीफन फ्लेमिंग, सभी इस फैसला का हिस्सा थे। यह सामूहिक फैसला था। हमें अपनी टीम में इस तरह के ऑलराउंडर की जरूरत थी। हम अपने मुख्य खिलाड़ी, अंतिम एकादश तैयार कर रहे हैं और आगानी दिनों में आपको आगे की रणनीति देखने को मिलेगी।’ स्टोक्स के लिए शुरुआत में मुंबई, दिल्ली और आरसीबी ने बोली लगाई। बोली के 10 करोड़ 50 लाख रुपए तक पहुंचने पर मुंबई की टीम मैदान से हट गई।

दिल्ली और बेंगलुरु की टीम के बीच बोली जारी रही जिसके बाद सनराइजर्स की टीम इसमें शामिल हुई। लेकिन जब लग रहा था कि स्टोक्स 12 करोड़ 50 लाख रुपए में बिक जाएंगे तब पुणे की टीम मैदान में उतर गई। बायें हाथ के तेज गेंदबाज मिल्स 90 मील प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करने में सक्षम हैं और वह आरसीबी में मिशेल स्टार्क के विकल्प होंगे जो रविवार (19 फरवरी) को आईपीएल से हट गए। अन्य अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों में न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर कोरी एंडरसन और श्रीलंका के कप्तान एंजेलो मैथ्यूज को दिल्ली डेयरडेविल्स ने उनके आधार मूल्य पर खरीदा जो क्रमश: एक करोड़ और दो करोड़ रुपए था। दिल्ली डेयरडेविल्स ने दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कागिसो रबादा को पांच करोड़ रुपए में खरीदा जबकि न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट के लिए केकेआर ने पांच करोड़ रुपए खर्च किए।

IPL 2017: ये 5 रहे सबसे महंगे, इन 5 को नहीं मिला खरीदार

IPL 2017: नीलामी में बेन स्टोक्स रहे सबसे महंगे खिलाड़ी, वहीं इन भारतीय खिलाड़ियों को किसी ने नहीं खरीदा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App