ताज़ा खबर
 

IPL Auction 2020: बोली बड़ी लगी लेकिन टीमें असंतुलित

IPL Auction 2020: कोलकाता में होने वाली आइपीएल की नीलामी को लेकर काफी समय से चर्चा थी। हर फ्रेंचाइजी अपने रिलीज किए गए खिलाड़ियों की जगह बेहतरीन क्रिकेटर शामिल करने की चाह में यहां शिरकत कर रहे थे। सबने जमकर बोली भी लगाई।

Author Updated: December 26, 2019 1:17 AM
विराट कोहली और गौतम गंभीर

संदीप भूषण
IPL Auction 2020: आइपीएल के 13वें सत्र के लिए खिलाड़ियों की नीलामी संपन्न हो गई है। यहां अधिकतम 73 खिलाड़ियों की बोली लगाई जा सकती थी और पांच घंटे चली नीलामी प्रक्रिया में 62 खिलाड़ी फ्रेंचाइजियों की पसंद बने। इनमें से 33 भारतीयों की किस्मत चमकी तो 29 विदेशी खिलाड़ियों को भी प्रमियर लीग का हिस्सा बनने का मौका मिला। फ्रेंचाइजियों ने इन खिलाड़ियों को खरीदने के लिए लगभग 140 करोड़ रुपए खर्च किए। इस सत्र की नीलामी में आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों का बोलबाला रहा।

एक तरफ जहां तेज गेंदबाज पैट कमिंस को कोलकाता नाइट राइडर्स ने 15.5 करोड़ में खरीदकर रेकार्ड बनाया वहीं हमवतन ग्लेन मैक्सवेल भी 10.75 करोड़ रुपए की बोली के साथ अपने पुराने फ्रेंचाइजी में लौटे। लीग के 11वें सत्र में दिल्ली के लिए धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी क्रिस मौरिस को भी 10 करोड़ में रॉयल चैलेंजर्स बंगलुरु ने अपनी टीम में शामिल किया। इस लीग में एक बार फिर कुछ ऐसे भारतीय नाम शामिल हुए जिन्हें यहां तक पहुंचने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। वहीं प्रवीन तांबे का बिकना भी किसी रेकार्ड से कम नहीं। आइपीएल के 13वें सत्र में नीलामी से जुड़ी विस्तृत रिपोर्ट।

संतुलन नहीं बना पाई आरसीबी
कोलकाता में होने वाली आइपीएल की नीलामी को लेकर काफी समय से चर्चा थी। हर फ्रेंचाइजी अपने रिलीज किए गए खिलाड़ियों की जगह बेहतरीन क्रिकेटर शामिल करने की चाह में यहां शिरकत कर रहे थे। सबने जमकर बोली भी लगाई। हालांकि इसके बाद भी यह कहना कि सभी टीमों के पास संतुलित अंतिम एकादश है, बेईमानी होगी। सबसे पहले बात आरसीबी की होनी चाहिए। यह ऐसी टीम है जिसकी कमान खुद विराट कोहली संभाल रहे हैं। विराट दुनिया के उम्दा क्रिकेटरों में शुमार हैं लेकिन अपनी टीम को कभी खिताब नहीं दिला पाए। उनकी फ्रेंचाइजी ने इसी कमी को पूरा करने के लिए 10 करोड़ की बोली लगाकर हरफनमौला क्रिस मौरिस को खरीदा। इस अफ्रीकी खिलाड़ी पर पैसा लुटाने का क्या मतलब है यह तो लीग के शुरू होने के बाद ही समझ आएगा लेकिन फिलहाल कुछ दिनों से वे फॉर्म से बाहर हैं। उन्होंने पिछले 10 टी-20 मुकाबलों में सिर्फ नौ विकेट लिए और 102 रन बनाए। बंगलुरु ने लगातार अनफिट रह रहे तेज गेंदबाज डेल स्टेन को भी दो करोड़ में खरीदा। स्टेन पिछले सीजन में सिर्फ दो मैच ही खेल सके थे। तब उन्होंने चार विकेट लिए थे। उससे पहले 2016 में एक मैच में कोई विकेट नहीं लिया। 2015 में छह मैच में तीन विकेट लिए थे।

हैदराबाद ने मजबूत की बल्लेबाजी
मजबूत गेंदबाजी इकाई के लिए मशहूर हैदराबाद ने इस नीलामी में अपने बल्लेबाजी क्रम को मजबूत बनाने की कोशिश की है। उसने मध्यक्रम को बेहतर करने के लिए प्रियम गर्ग और विराट सिंह के साथ शॉन मार्श को टीम में शामिल किया है। वहीं डेविड वॉर्नर, केन विलियमसन, जॉनी बेयरस्टो उसके शीर्ष क्रम को मजबूत और आक्रामक बनाते हैं। कोलकाता और पंजाब ने अपनी टीम में 9-9 खिलाड़ियों को शामिल किया है। किफायती खरीदारी के लिए जानी जाने वाली राजस्थान की टीम ने सबसे ज्यादा 11 खिलाड़ी खरीदे। उसने भी अपनी टीम में ज्यादातर हरफनमौलाओं को मौका दिया ताकि हर परिस्थिति में जीत उनकी झोली में आए।

महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई ने 5.50 करोड़ में इंग्लैंड के युवा हरफनमौला सैम कुरैन को खरीदा है। साथ ही उसने पीयूष चावला, आर साई किशोर और जोश हेजलवुड को टीम में शामिल किया। कुरैन को ड्वेन ब्रावो के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है।

सबसे ज्यादा खिलाड़ी महाराष्ट्र से
नीलामी प्रक्रिया में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र के खिलाड़ियों ने भाग लिया। इनकी संख्या 24 थी जिसमें से छह इस आइपीएल में खेलेंगे। इसके बाद गुजरात का नंबर आता है जहां से 19 खिलाड़ी इस नीलामी का हिस्सा थे। इसमें से तीन खिलाड़ी को फ्रेंचाइजियों ने चुना। दिल्ली के 14 खिलाडियों पर कोलकाता में बोली लगी लेकिन बिके सिर्फ दो। वहीं राजस्थान के 10 में तीन, तमिलनाडु के 10 में तीन, उत्तर प्रदेश के नौ में से तीन, झारखंड के सात में से दो, हरियाणा के छह में से एक, केरल के पांच में से एक, पंजाब के सात में दो, जम्मू कश्मीर के तीन में एक, नगालैंड के दो में एक, तेलंगाना के चार में एक खिलाड़ी को फ्रेंचाइजियों ने खरीदा। वहीं मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ का एक भी खिलाड़ी नहीं बिका।

आश्चर्यजनक बोलियां

नीलामी में कई ऐसी बोलियां लगी जिसे सुनकर लोग आश्चर्यचकित रह गए। इसमें सबसे पहला नाम प्रवीन तांबे का है। उन्हें 48 साल की उम्र में कोलकाता ने खरीदा वहीं इस बोली प्रक्रिया में अफगानिस्तान के नूर अहमद भी शामिल हुए जिनकी उम्र लगभग 15 साल है। क्रिकेट के मैदान पर विकेट चटकाने के बाद सलामी दागने वाले कैरेबियाई खिलाड़ी शेल्डन कोटरेल को बेस प्राइस से 17 गुना अधिक कीमत मिली। उन्हें पंजाब ने 8.5 करोड़ में खरीदा। अंडर-19 टीम के कप्तान प्रियम को भी 1.9 करोड़ मिले। वहीं चौकाने वाला नाम रवि विश्नोई का भी रहा जिन्हें पंजाब ने दो करोड़ में खरीदा। 17 साल के यशस्वी जायसवाल पर भी 2.4 करोड़ की बोली लगी। वहीं हरफनमौला वरुण चक्रवर्ती को चार करोड़ मिले। विराट सिंह को 1.9 करोड़ रुपए मिले।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X