ताज़ा खबर
 

IPL 9: अमित मिश्रा ने जहीर व सही रणनीति को दिया सफलता का श्रेय

अमित मिश्रा ने कहा कि उन्होंने मिलर और ग्लेन मैक्सवेल जैसे खतरनाक बल्लेबाजों को लेकर अच्छी तरह से तैयारी की थी और इसके अच्छे परिणाम मिले।

Author नई दिल्ली | April 17, 2016 12:37 AM
पंजाब के खिलाफ विकेट लेने के बाद साथी खिलाड़ियों के साथ खुशी मनाते अमित मिश्रा। (पीटीआई फोटो)

आइपीएल में अपने 100वें मैच में तीन ओवर में 11 रन देकर चार विकेट लेने वाले दिल्ली डेयरडेविल्स के लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने कहा कि कप्तान जहीर खान के शुरू में बनाए गए दबाव और रणनीति पर अच्छी तरह से अमल करने से वे किंग्स इलेवन पंजाब की बल्लेबाजी को झकझोरने में सफल रहे। जहीर ने पावरप्ले के अपने तीन ओवरों में केवल आठ रन दिए जिसके बाद मिश्रा ने अपनी गुगली का जादू बिखेरा और किंग्स इलेवन को नौ विकेट पर 111 रन ही बनाने दिए। डेयरडेविल्स ने केवल 13.3 ओवर में लक्ष्य हासिल करके आइपीएल नौ में अपनी पहली जीत दर्ज की।

मिश्रा ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जहीर भाई अनुभवी गेंदबाज हैं। उन्होंने शुरू में ही दबाव बना दिया था और इस तरह के दबाव से हमेशा मदद मिलती है। इसके बाद बल्लेबाजों ने स्पिनरों पर हावी होने की कोशिश की और इससे हमें मदद मिली। जब बल्लेबाज स्पिनरों पर बड़े शाट खेलने का प्रयास करता है तो विकेट लेने के भी मौके रहते हैं। हमने यही रणनीति अपनाई थी और इसमें हम सफल रहे।

इस लेग स्पिनर को जहीर ने केवल तीन ओवर ही करने को दिए लेकिन उन्हें इसका मलाल नहीं है कि उन्हें पांच विकेट लेने का मौका नहीं दिया गया। मिश्रा से पूछा गया कि किंग्स इलेवन के कप्तान डेविड मिलर ने इसे ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार दिया तो उन्होंने कहा कि कौन जानता है मेरे आखिरी ओवर में तीन छक्के भी लग सकते थे। मेरे पास जो कुछ है, मैं उससे खुश हूं। सबसे महत्त्वपूर्ण यह है कि मैंने टीम की जीत में योगदान दिया।

उन्होंने कहा कि अमूमन डेथ ओवरों में तेज गेंदबाजों को ही गेंदबाजी सौंपी जाती है। मैं कप्तान के फैसले से खुश हूं। मुझे खुशी है कि मैंने (आइपीएल में) अपने 100वें मैच में अच्छा प्रदर्शन किया और मैन आफ द मैच बना और मेरे पास पर्पल कैप है। मिश्रा ने मिलर के विकेट को टर्निंग प्वांइट बताया क्योंकि तब टीम दो विकेट गंवाकर दबाव में थी। उन्होंने कहा कि मिलर का विकेट टर्निंग प्वाइंट था क्योंकि तब टीम दबाव में थी और कप्तान के आउट होने से उस पर और दबाव बढ़ा।

मिश्रा ने कहा कि उन्होंने मिलर और ग्लेन मैक्सवेल जैसे खतरनाक बल्लेबाजों को लेकर अच्छी तरह से तैयारी की थी और इसके अच्छे परिणाम मिले। उन्होंने कहा कि बेशक मैंने उनके लिए थोड़ी तैयारी की थी। मैंने उनके वीडियो देखे थे और जहीर भाई से बात की थी। हमारी रणनीति उन्हें बड़े शाट खेलने के लिए ललचाना था और ऐसे में हमें उनके विकेट मिल सकते थे। मुझे खुशी है कि हमारी रणनीति कामयाब रही। उन्होंने फीरोजशाह कोटला की पिच के बारे में कहा कि मैं ये नहीं कहूंगा कि यह गेंदबाजों के अनुकूल था लेकिन थोड़ा धीमा था जिससे हमें फायदा मिला। वे विकेट को समझ पाते, इससे पहले हमने उनके विकेट ले लिए। हमने सही समय पर उनके विकेट निकाले।

डेयरडेविल्स को पहले मैच में हार के बाद यह जीत मिली है और मिश्रा ने कहा कि इससे उसका मनोबल बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि घरेलू मैदान पर यह जीत अच्छी रही और इससे टीम का मनोबल बढ़ेगा। सबसे अहम बात यह है कि हम किस तरह से अभ्यास और कड़ी मेहनत कर रहे हैं। यह अभी शुरुआत है। हमारा ध्यान अगले मैचों पर हैं। हमें बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों विभाग में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। हमें आगे भी अपने खेल में लगातार सुधार करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App