scorecardresearch

INDW vs SLW:मिताली राज से आगे निकलीं हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना ने हासिल की खास उपलब्धि, श्रीलंका के खिलाफ भारत ने लगाई सीरीज जीत की हैट्रिक

मंधाना टी20 में 2,000 रन तक पहुंचने वाली दूसरी सबसे तेज भारतीय महिला क्रिकेटर बन गयी, जिससे दिन यादगार बन गया। मंधना ने अपनी 84वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की, वह महान क्रिकेटर मिताली राज (70 पारियों) और मौजूदा कप्तान हरमनप्रीत कौर (88 पारियों) के बाद यह कारनामा हासिल करने वाली तीसरी भारतीय महिला क्रिकेटर बन गयीं।

भारतीय महिला क्रिकेट टीम। (फोटो: बीसीसीआई वुमेन/ट्विटर)

कप्तान हरमनप्रीत कौर के गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने शनिवार को यहां दूसरे ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में श्रीलंका को पांच विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला जीत ली। अनुभवी उप कप्तान स्मृति मंधाना (34 गेंद में 39 रन) के अलावा शेफाली वर्मा (10 गेंद में 17 रन) और सभिनेनी मेघना (10 गेंद में 17 रन) की मदद से भारत ने 126 रन का लक्ष्य 19.1 ओवर में हासिल कर लिया।

यह श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम की लगातार तीसरी सीरीज जीत है। लक्ष्य इतना बड़ा भी नहीं था लेकिन भारतीय टीम इस आसान लक्ष्य का पीछा करते हुए लड़खड़ा गयी जिसके बाद हरमनप्रीत ने 32 गेंद में नाबाद 31 रन बनाकर टीम को जीत दिलायी। श्रीलंका ने अच्छी शुरूआत की लेकिन वह सात विकेट पर 125 रन ही बना सकी।

तीसरा और अंतिम टी20 मैच सोमवार को यहां खेला जायेगा। मंधाना टी20 में 2,000 रन तक पहुंचने वाली दूसरी सबसे तेज भारतीय महिला क्रिकेटर बन गयी, जिससे दिन यादगार बन गया। मंधना ने अपनी 84वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की, वह महान क्रिकेटर मिताली राज (70 पारियों) और मौजूदा कप्तान हरमनप्रीत कौर (88 पारियों) के बाद यह कारनामा हासिल करने वाली तीसरी भारतीय महिला क्रिकेटर बन गयीं।

टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम ने कप्तान चामरी अटापट्टू (41 गेंद में 43 रन) और विषमी गुणरत्ने (50 गेंद में 45 रन) की मदद से आदर्श शुरूआत की। इन दोनों ने श्रीलंका के लिये पहले विकेट के लिये टी20 में 87 रन की सर्वश्रेष्ठ साझेदारी निभायी जिससे भारतीय गेंदबाज विकेट लेने के लिये बेताब दिखीं।

अटापट्टू और गुणरत्ने के आउट होने के बाद श्रीलंका ने लगातार विकेट गंवा दिये और टीम इतना कम स्कोर बना पायी। दीप्ति शर्मा (चार ओवर में 34 रन देकर दो विकेट) निश्चित रूप से सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहीं लेकिन राधा यादव और पूजा वस्त्राकर ने भी गेंद से अच्छे प्रदर्शन के बूते भारत को शिकंजा कसने में मदद की।

पढें क्रिकेट (Cricket News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X