ताज़ा खबर
 

पहला दौरा: जब तीन बल्लेबाजों ने शतक लगाकर किया हैरान

भारत-आस्ट्रेलिया के बीच मुकाबले की शुरूआत साल 1947 में हुई थी। इसी साल भारत को अंग्रेजी शासन से आजादी भी मिली थी। लाला अमरनाथ की अगुआई में भारतीय टीम चार मैचों की टैस्ट शृंखला के लिए आस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी। हालांकि टीम इंडिया को उस दौरे पर 0-4 से बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस शृंखला में दोनों टीमों की ओर से कई बेहतरीन प्रदर्शन देखने को मिले थे।

Author Updated: November 26, 2020 1:45 AM
cricket leagueविजय हजारे (बाएं) डॉन ब्रैडमैन(बीच में) विनोद मांकड (दाएं) फाइल फोटो।

विड-19 महामारी के कारण लंबे समय से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर भारतीय टीम मजबूत प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के मैदान पर वापसी करेगी। दोनों टीमों के बीत 27 नवंबर से तीन एकदिवसिय, तीन टी-20 और चार मैचों की बॉर्डर-गावसकर ट्रॉफी टैस्ट शृंखला खेली जाएगी। यह सीरीज दोनों टीमों के लिए नाक बचाने जैसी होती है। ऐसे में दोनों टीमें इस टैस्ट शृंखला में दबदबा बनाना चाहती है। आइए भारत और आस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट इतिहास पर नजर दौड़ाएं।

भारत-आस्ट्रेलिया के बीच मुकाबले की शुरूआत साल 1947 में हुई थी। इसी साल भारत को अंग्रेजी शासन से आजादी भी मिली थी। लाला अमरनाथ की अगुआई में भारतीय टीम चार मैचों की टैस्ट शृंखला के लिए आस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी। हालांकि टीम इंडिया को उस दौरे पर 0-4 से बड़ी हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन इस शृंखला में दोनों टीमों की ओर से कई बेहतरीन प्रदर्शन देखने को मिले थे।

बात उस शृंखला में खेली गई कुछ बेहतरीन पारियों की, जो हमेशा ही बल्लेबाजों के लिए मिशाल बन गए। इस शृंखला में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा। उन्होंने ऊछाल वाली पिच पर बेहतरीन बल्लेबाज की। भारत की ओर से एक या दो नहीं बल्कि तीन शतकीय पारियां खेली गईं। यह आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के लिए अचंभे का विषय था। वीनू मांकड़ और विजय हजारे के साथ दत्तू फडकर ने भी शतकीय पारी खेल कर भारत का मान बढ़ाया। हालांकि सबसे दर्शनीय डॉन ब्रैडमैन की पारी रही जिन्होंने पहले टैस्ट में ही भारतीय गेंदबाजों की परीक्षा ली।

डॉन ब्रैडमैन, 185 रन : टैस्ट शृंखला का पहला मैच ब्रिसबेन में खेला गया था। सर डॉन ब्रैडमैन ने इस मैच में 185 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। उनकी लयबद्ध पारी के सामने भारतीय गेंदबाज कुछ नहीं कर सके। इस मुकाबले का हाल ये था कि बल्लेबाजों के साथ ब्रैडमैन ने साझेदारी की ही साथ ही गेंदबाजों के साथ भी उनकी साझेदारी शानदार रही। ब्रैडमैन की मैराथन पारी का अंत लाला अमरनाथ ने किया जिनकी गेंद पर वे हिट विकेट हो गए।

विजय हजारे, 116 रन : एडिलेड में खेले गए चौथे मैच में आस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 674 रन बनाए। ब्रैडमेन ने 201 व लिंडसे हासेट ने नाबाद 198 रन बनाए। भारत की शुरूआत अच्छी नहीं रही। 133 पर भारत ने अपने कुल पांच विकेट खो दिए। इसके बाद दाएं हाथ के बल्लेबाज विजय हजारे ने शानदार पारी खेली। वह और दत्तू फाडकर ने छठे विकेट के लिए 188 रन जोड़े। लेकिन जिस बल्लेबाज ने सुर्खियां बटोरी वह थे, हजारे जिन्होंने क्लास बल्लेबाजी करते हुए 116 रन बनाए।

विनोद मांकड, 111 रन : ब्रैडमैन की टीम का दबदबा मेलबर्न में खेले गए पांचवें और अंतिम टैस्ट में भी जारी रहा। आस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी आठ विकेट पर 573 रनों पर घोषित की। स्कोरबोर्ड पर तीन रन ही थे कि भारत ने अपने सलामी बल्लेबाज चंदू सरवटे को खो दिया। उनके साथ पारी की शुरूआत करने आए मांकड ने पारी की जिम्मेदारी संभाली और हेमू अधिकारी के साथ मिलकर टीम को संकट से बाहर निकाला। दूसरे विकेट के लिए इन दोनों ने 124 रन जोड़े। अधिकारी 202 गेंदों पर 38 रन ही बना पाए। हजारे एक बार फिर बल्लेबाजी करने उतरे और मांकड का साथ दिया, जिन्होंने सीरीज में अपना दूसरा शतक जमाया। पांच घंटे बल्लेबाजी करते हुए मांकड ने 111 रन बनाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आंकड़े: किसका पलड़ा भारी, एक दिवसीय में भारत बनाम आस्ट्रेलिया
2 सौरव गांगुली की नजर में 2 खिलाड़ी हैं भारत के बेस्ट विकेटकीपर, वनडे-टी20 टीम से बाहर क्रिकेटर्स का भी लिया नाम
3 ट्रेनिंग के लिए रोज 80 किमी सफर करती थीं झूलन गोस्वामी, 23 साल पहले एक मैच ने बदला करियर
ये पढ़ा क्या?
X