ताज़ा खबर
 

वनडे क्रिकेट में 350 प्लस का फेर, टीम इंडिया ने खुद को साबित किया है शेर, जानिए दिलचस्प आंकड़े

भारत के नाम कुल 23 बार 350 से ज्यादा का स्कोर बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका की टीम है, जिसने 22 बार ये कारनामा किया है। ऑस्ट्रेलिया (17) तीसरे नंबर पर है।

Indian Cricket Team, Three hundred Fifty Plus Run Score in ODI, Maximum Time 350 Score in ODI, Team India makes twenty three times 350 Score in ODI, Highest Score in ODI, Australian Cricket Team, South African Cricket Team, 101 Times three Fifty Score in ODIभारत ने अब तक वनडे मुकाबलों में कुल 23 बार 350 प्लस का स्कोर बनाया है। दक्षिण अफ्रीका 22 बार ये कारनामा कर चुका है। वहीं, आॅस्ट्रेलिया 17 बार ये कारनामा करके तीसरे स्थान पर है।(Photo: BCCI)

भारत और इंग्लैंड के बीच समाप्त हुई तीन वनडे मैचों की सीरीज के तीनों मुकाबलों में दोनों टीमों ने 300 प्लस का स्कोर बनाया। यह क्रिकेट इतिहास में पहला मौका था जब तीन वनडे मैचों की सीरीज में 2000 से ज्यादा रन बने होंं। इस सीरीज में कुल 2019 रन बने। पहले दोनों मुकाबलों में दोनों टीमों ने 350 से ज्यादा का स्कोर बनाया। दूसरी ओर पाकिस्तान और आॅस्ट्रेलिया के बीच जारी पांच वनडे मैचों की सीरीज के सिडनी में खेले गए चौथे मुकाबले में कंगारू टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 353 रन का स्कोर बनाया। इस तरह यह कुल 101वां अवसर था जब वनडे क्रिकेट में टीमों ने 350 प्लस का स्कोर बनाया हो।

इंग्लैंड टीम द्वारा भारत के खिलाफ कटक वनडे में 382 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए बनाए गया 366 रन का स्कोर वनडे क्रिकेट का 100वां, 350 प्लस का स्कोर था। जब वनडे क्रिकेट 60 ओवरों का हुआ करता था तब विश्व क्रिकेट में सर्वोच्च स्कोर बनाने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के नाम था, जिसने साल 1983 के विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ 338 रन बनाए थे। वनडे क्रिकेट में पहला 350 से ज्यादा का स्कोर साल 1987 विश्व कप में बना। जब वेस्टइंडीज ने श्रीलंका के खिलाफ 360/4 का स्कोर बना डाला था। अगला रिकॉर्ड करीब पांच सालों के बाद बना जब इंग्लैंड ने पाकिस्तान के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज में 363/7 का स्कोर बनाया।

साल 2000 तक कुल 1662 वनडे मैचों में टीमों ने सिर्फ 6 बार 350 से ज्यादा का स्कोर बनाया था।2001 से 2004 के बीच 350 प्लस स्कोर की संख्या 12 हो गई।साल 2005 से 2014 के बीच लगभग हर साल 6 बार इस स्कोर को पार किया गया। साल 2014 के अंत तक कुल 69 बार 350 से ज्यादा का स्कोर वनडे क्रिकेट में बन चुका था। साल 2015 के बाद वनडे क्रिकेट में करीब 25 महीनों में ही 32 बार 350 से ज्यादा के टोटल बन चुके हैं। अकेले इंग्लैंड की टीम ने जून 2015 के बाद कुल 7 बार 350 से ज्यादा का स्कोर बनाया है। इसके आलावा सभी टीमों ने मिलकर 9 बार ऐसा किया है।

वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 350 से ज्यादा का स्कोर बनाने के मामले में टीम इंडिया नंबर एक पर है। भारत के नाम कुल 23 बार 350 से ज्यादा का स्कोर बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका की टीम है, जिसने 22 बार ये कारनामा किया है। ऑस्ट्रेलिया तीसरे नंबर पर है, उसने ये कारानामा कुल 17 बार अंजाम दिया है। वहीं न्यूजीलैंड 12, इंग्लैंड 10, श्रीलंका 7, पाकिस्तान 6, वेस्टइंडीज 3 और जिम्बाब्वे एक बार इस कारनामें को अंजाम दे चुका है। इस दौरान सबसे ज्यादा बार 350 प्लस का स्कोर भारतीय सरजमीं पर बना है। भारत में 26 बार 350 प्लस से ज्यादा का स्कोर बन चुका है। वहीं, दक्षिण अफ्रीका में 20 बार 350 प्लस का स्कोर बन चुका है। अन्य देशों में 10 बार से ज्यादा ये स्कोर नहीं बना है।

वनडे क्रिकेट में कुल आठ बार ऐसा हुआ है जब टीमें 350 से ज्यादा का स्कोर बनाने के बावजूद मैच हारी हैं। ऑस्ट्रेलिया चार बार 350 प्लस स्कोर बनाने के बावजूद मैच हार चुका है। इंग्लैंड तीन बार और श्रीलंका एक बार 350 प्लस स्कोर बनाकर भी मैच हार चुका है। एक सीरीज में सबसे ज्यादा बार 350 प्लस का स्कोर बनने का रिकॉर्ड साल 2013 में भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज में बना। इस सीरीज में कुल 5 बार 350 प्लस का स्कोर बना था। इसके अलावा इंग्लैंड-न्यूजीलैंड के बीच 2015 में खेली गई सीरीज में चार बार 350 प्लस का स्कोर बना था। वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्कोर बनाकर मैच हारने का रिकॉर्ड भी आॅस्ट्रेलिया के नाम है, जब वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 434 रन बनाने के बावजूद मैच हार गया। दक्षिण अफ्रीका ने 438 रन बनाकर मैच जीत लिया था।

Next Stories
1 कप्तान के तौर पर विराट कोहली को भारत में मिली पहली बार हार, 19 मुकाबलों में रहे थे अपराजित
2 केदार जाधव के पराक्रम के बावजूद भारत को मिली हार, जानिए आखिरी ओवर की रोमांचक लड़ाई की कहानी
3 कोलकाता वनडे: विराट कोहली ने तोड़ा एबी डिविलियर्स का वर्ल्‍ड रिकॉर्ड, कप्‍तान के रूप में पूरे किए हजार रन
यह पढ़ा क्या?
X