ताज़ा खबर
 

भारतीय गेंदबाज का हैरतअंगेज बयान-टीम में सिलेक्ट न होने पर आत्महत्या करना चाहता था

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव इन दिनों अपनी गेंदबाजी की वजह से सुर्खियों में बने हुए हैं। कुलदीप यादव अभी तक अपनी गेंदबाजी से सभी को प्रभावित करने में कामयाब रहे हैं।

कुलदीप ने बताया कि एक समय ऐसा था जब टीम में सिलेक्ट नहीं होने की वजह से वह सुसाइड करना चाहते थे।(फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव इन दिनों अपनी गेंदबाजी की वजह से सुर्खियों में बने हुए हैं। कुलदीप यादव अभी तक अपनी गेंदबाजी से सभी को प्रभावित करने में कामयाब रहे हैं। यही वजह है कि वह सभी फॉर्मेट में टीम के साथ जुड़े हुए हैं। लेकिन उन्हें यह सफलता ऐसे ही नहीं मिली। इसके लिए उन्हें बहुत संघर्ष करना पड़ा। हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान कुलदीप यादव ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कई बातें शेयर की। कुलदीप ने बताया कि एक समय ऐसा था जब टीम में सलेक्ट नहीं होने की वजह से वह सुसाइड करना चाहते थे। जब कुलदीप 13 साल के थे तो वो अंडर-15 में खेलना चाहते थे लेकिन उन्हें टीम में जगह नहीं दी गई। इस बात से कुलदीप काफी निराश हो गए और सुसाइड करना चाहते थे। यहां तक कि कुलदीप ने क्रिकेट ना खेलने का भी मन बना लिया था। कुलदीप ने कहा कि उन्होंने अंडर-15 में जाने के लिए काफी मेहनत किया था लेकिन उनका चयन नहीं हुआ।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Panasonic Eluga A3 Pro 32 GB (Grey)
    ₹ 9799 MRP ₹ 12990 -25%
    ₹490 Cashback

कुलदीप यादव बताते हैं कि वह स्कूल में बस मस्ती के लिए क्रिकेट खेला करते थे लेकिन उनके पिता चाहते थे कि वह अपने खेल को आगे बढ़ाए। इसलिए उन्होंने कुलदीप को कोच के पास भेजना शुरू किया। कुलदीप एक फास्ट बॉलर बनने की ख्वाहिश रखते थे लेकिन उनके कोच ने उन्हें स्पिन पर फोकस करने को कहा। कुलदीप बताते हैं कि वो शेन वार्न और वसीम अकरम के बहुत बड़े फैन हैं।

खासतौर पर वो वार्न को गेंदबाजी करते हुए देखना काफी पसंद करते हैं। वह उनके पुराने वीडियो देखकर उनसे काफी कुछ सीखते हैं। कुलदीप कहते हैं आज क्रिकेट की वजह से लोग मुझे पहचानते हैं। फिलहाल, कुलदीप अपना सारा ध्यान 16 नंवबर से श्रीलंका के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज पर फोकस कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App