ताज़ा खबर
 

बचपन में विराट कोहली को दी थी कोचिंग, राजकुमार शर्मा को अब मिली बड़ी जिम्‍मेदारी

International Cricket Council, appointed Rajkumar Sharma: राजकुमार ने बताया माल्टा, एस्टोनिया और मेजबान स्पेन इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे। अब तक की स्थिति के अनुसार मैं इस टूर्नामेंट में टीम का प्रभारी रहूंगा।

Author March 25, 2019 9:52 AM
कोच राजकुमार शर्मा और विराट कोहली।

Rajkumar Sharma, Malta national cricket team: भारतीय कप्तान विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा को आईसीसी क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के लिए माल्टा की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया है। शर्मा ने इसकी पुष्टि करते हुए पीटीआई को बताया, ‘‘स्पेन में 29 से 31 मार्च के बीच आईसीसी का तीन देशों का डिविजनल टूर्नामेंट होगा। माल्टा, एस्टोनिया और मेजबान स्पेन इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे। अब तक की स्थिति के अनुसार मैं इस टूर्नामेंट में टीम का प्रभारी रहूंगा।’’यह द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता हालांकि 2018-19 सत्र में दिल्ली की रणजी टीम की कमान उन्हें नहीं सौंपे जाने पर अपनी निराशा को नहीं छिपा पाया। उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 18 साल से जूनियर कोच और चयनकर्ता होने के कारण मुझे उम्मीद थी कि डीडीसीए मुझे सीनियर रणजी टीम के साथ काम करने का मौका देगा लेकिन वीरेंद्र सहवाग, आकाश चोपड़ा, राहुल संघवी और गौतम गंभीर के पैनल ने मुझे पर्याप्त सक्षम नहीं माना। यह तब है जब दिल्ली की अंडर 23 टीम ने मेरे मार्गदर्शन में सीके नायुडू ट्राफी जीती। ’

इस पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेट ने स्वीकार किया कि आगामी टूर्नामेंट में स्तर काफी ऊंचा नहीं होगा लेकिन वह इसे चुनौती के रूप में ले रहे हैं। बता दें कि राजकुमार शर्मा ने सबसे पहले ऑफ स्पिनरों की ‘दूसरा’ गेंद का सबसे पहले उपयोग किया था। शर्मा ऑफ स्पिनर थे और उन्होंने दिल्ली की तरफ से 9 प्रथम श्रेणी मैच भी खेले हैं। किताब ‘क्रिकेट विज्ञान’ में कहा गया कि शर्मा ने अस्सी के दशक में ही ‘दूसरा’ का उपयोग शुरू कर दिया था और 1987 में उन्होंने पाकिस्तान के बल्लेबाज एजाज अहमद को ऐसी गेंद पर आउट भी किया था।

वरिष्ठ खेल पत्रकार धर्मेन्द्र पंत द्वारा लिखी गई इस किताब को नेशनल बुक ट्रस्ट ने प्रकाशित किया है। किताब में कहा गया है, ‘अमूमन जब दूसरा का जिक्र होता है तो सकलैन को इसका जनक कहा जाता है, लेकिन उनसे भी पहले दिल्ली के ऑफ स्पिनर राजकुमार शर्मा ने इसका उपयोग करना शुरू कर दिया था।’ इसके अनुसार राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) ने शर्मा के इस दावे पर मुहर लगाई थी और बायोमैकेनिक्स विशेषज्ञ डा. रेने फर्नाडिस ने दूसरा करते समय राजकुमार के एक्शन को शत प्रतिशत सही पाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App