ताज़ा खबर
 

India vs West Indies: भुवनेश्वर के पांच विकेट से भारत मजबूत स्थिति में, कुल बढ़त 285 रन की

भुवनेश्वर ने 33 रन देकर पांच विकेट लिए जिससे भारत ने वेस्टइंडीज को पहली पारी में 225 रन पर ढेर कर दिया।

Author ग्रोस आइलेट | August 13, 2016 13:58 pm
वेस्टइंडीज के खिलाफ विकेट लेने के बाद भारतीय गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को बधाई देते उनके साथी खिलाड़ी। (AP Photo/Ricardo Mazalan)

अपनी स्विंग गेंदबाजी का जलवा बिखेरने वाले भुवनेश्वर कुमार के पांच विकेट की मदद से भारत ने तीसरे क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन वेस्टइंडीज को पहली पारी में 225 रन पर आउट करके अपनी स्थिति मजबूत कर ली। चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक भारत ने तीन विकेट पर 157 रन बना लिए थे और अब उसके पास 285 रन की बढ़त हो गई है। पहली पारी में भारत को 128 रन की बढ़त मिली। भारत के लिए शिखर धवन (26) और केएल राहुल (28) ने पहले विकेट के लिए 7.3 ओवर में 49 रन जोड़े। राहुल ने मिगुल कमिंस की गेंद पर दूसरी स्लिप में कैच थमा दिया जबकि कमिंस ने कप्तान विराट कोहली (4) को भी तुरंत पगबाधा आउट करके भारत को दो झटके दिए।

भारत के 50 रन नौवे ओवर में बने। अजिंक्य रहाणे (नाबाद 51) ने स्कोर आगे बढ़ाया। धवन को रोस्टन चेस ने पगबाधा आउट करके इस साझेदारी को बनने नहीं दिया। चौथे दिन का खेल समाप्त होने तक रहाणे के साथ रोहित शर्मा 41 रन बनाकर खेल रहे थे। दोनों ने सिर्फ 92 गेंद में 50 रन की साझेदारी की। रोहित ने अपनी पारी में तीन छक्के लगाए। वहीं रहाणे ने आठवां टेस्ट अर्धशतक 88 गेंद में पूरा किया। चौथे विकेट की साझेदारी में दोनों 85 रन जोड़ चुके हैं।

इससे पहले भुवनेश्वर ने 33 रन देकर पांच विकेट लिए जिससे भारत ने वेस्टइंडीज को पहली पारी में 225 रन पर ढेर कर दिया। वेस्टइंडीज का स्कोर एक समय तीन विकेट पर 202 रन था और वह अच्छी स्थिति में दिख रहा था लेकिन इसके बाद भुवनेश्वर ने अपने एक स्पैल में मैच का नक्शा पलट दिया। वेस्टइंडीज ने अपने आखिरी सात विकेट 23 रन के अंदर गंवाए। इनमें से पांच विकेट इस स्विंग गेंदबाज ने लिए। उनके अलावा भारत की तरफ से रविचंद्रन अश्विन ने दो तथा इशांत शर्मा और रव्रिंद जडेजा ने एक-एक विकेट लिया।

भुवनेश्वर ने जर्मेन ब्लैकवुड (20) के रूप में अपना पहला विकेट लेकर कैरेबियाई पारी के पतन की कहानी शुरू की। ब्लैकवुड ने उठती हुई गेंद पर स्लिप में भारतीय कप्तान विराट कोहली को कैच थमाया। अपने अगले ओवर में भुवनेश्वर ने आउट स्विंगर पर मर्लोन सैमुअल्स (48) का गिल्लियां बिखेरी। भारत ने इससे पहले सुबह के सत्र में पहले घंटे में ही डेरेन ब्रावो (29) और क्रेग ब्रेथवेट (64) के विकेट हासिल कर दिए थे। इसके बाद सैमुअल्स और ब्लैकवुड ने चौथे विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी की थी। जडेजा ने पिछले मैच के नायक रोस्टन चेज (दो) को आउट किया जिन्होंने बाहर की तरफ टर्न होती गेंद पर अजिंक्य रहाणे को कैच दिया जबकि भुवनेश्वर ने वेस्टइंडीज के कप्तान जैसन होल्डर (दो) को पगबाधा आउट करके पवेलियन भेजा। उन्होंने इसके बाद अलजारी जोसेफ (शून्य) और शेन डोरिच (18( का विकेट लेकर तीसरी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लेने का कारनामा किया।

कोहली ने सुबह गेंदबाजी की शुरुआत बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा से कराई लेकिन उन्होंने एक ओवर बाद ही उस छोर से इशांत को गेंद थमा दी जिन्होंने दिन के अपने चौथे ओवर में भारत को पहली सफलता दिलायी। भाग्य ने हालांकि गेंदबाज का साथ दिया क्योंकि तब लग रहा था कि उनका अगला पांव लाइन से आगे निकला है और वह नोबॉल है लेकिन तीसरे अंपायर ग्रेगरी ब्रेथवेट ने इसे वैध गेंद करार दिया। ब्रावो इशांत के बाउंसर को नहीं समझ पाए और गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर फाइन लेग पर खड़े जडेजा के पास चली गई। ब्रावो ने अपनी पारी में 101 गेंदें खेली तथा तीन चौके लगाए।

अश्विन ने दूसरे छोर से जिम्मा संभाला और अपनी पहली ही गेंद पर ब्रेथवेट की एकाग्रता भंग करके भारत को महत्वपूर्ण सफलता दिलाई। ब्रेथवेट ने अतिरिक्त उछाल लेती गेंद को लेग साइड की तरफ खेलना चाहा लेकिन वह उनके दस्ताने को चूमकर रिद्विमान साहा के दस्तानों में समा गई। ब्रेथवेट ने 163 गेंद की पारी में छह चौके लगाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App