ताज़ा खबर
 

वेंकटेश प्रसाद का बड़ा खुलासा, ग्रेग चैपल ने इस वजह से दीपक चाहर को किया था खारिज, कहा – विदेशी कोचों को गंभीरता से नहीं लें

प्रसाद उस समय की बात कर रहे हैं जब चैपल के भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के पद से इस्तीफा देने के बाद आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी ने उन्हें राजस्थान क्रिकेट अकादमी का क्रिकेट निदेशक बनाया था।

वेंकटेश प्रसाद ने खुलासा किया कि दीपक चाहर को एक बार ग्रेग चैपल ने उन्हें खारिज कर दिया था।

भारत और श्रीलंका के बीच खेली जा रही तीन मैचों वनडे सीरीज में भारतीय युवा खिलाड़ी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। दूसरे वनडे मुक़ाबले में भारतीय तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने बल्ले से शानदार प्रदर्शन करते हुए श्रीलंकाई मंसूबों पर पानी फेर दिया और हारे हुए मैच को पलट दिया। चाहर के इस प्रदर्शन की हर तरफ तारीफ हो रही है। इसी बीच भारत के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने उन्हें लेकर एक बड़ा खुलासा किया है।

वेंकटेश प्रसाद ने खुलासा किया कि दीपक चाहर को एक बार ऑस्ट्रेलियाई कोच ग्रेग चैपल ने उन्हें खारिज कर दिया था और उन्हें क्रिकेट छोड़ने को कहा था। वेंकटेश प्रसाद ने बताया कि चैपल ने राजस्थान क्रिकेट अकादमी के साथ अपने कार्यकाल के दौरान कहा था कि वह क्रिकेट छोड़कर कोई और काम तलाश लें। प्रसाद उस समय की बात कर रहे हैं जब चैपल के भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के पद से इस्तीफा देने के बाद आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी ने उन्हें राजस्थान क्रिकेट अकादमी का क्रिकेट निदेशक बनाया था।

प्रसाद ने ट्वीट किया ,‘‘ दीपक चाहर के कद के कारण ग्रेग चैपल ने उन्हें आरसीए में खारिज करके दूसरा काम तलाशने काो कहा था। उसने अपने दम पर मैच जिताया जबकि मूल रूप से वह बल्लेबाज नहीं है ’’ उन्होंने कहा ,‘‘ कहने का मतलब यह है कि खुद पर भरोसा रखो और विदेशी कोचों को ज्यादा गंभीरता से मत लो।’’

मध्यम तेज गेंदबाज चाहर ने 82 गेंद में नाबाद 69 रन बनाये जिसकी मदद से भारत ने दूसरा वनडे और श्रृंखला अपने नाम कर ली। प्रसाद ने कहा ,‘‘ इसके कई अपवाद हैं लेकिन भारत में इतनी प्रतिभायें होते हुए टीमों और फ्रेंचाइजी को भारतीय कोच और मेंटर रखने की कोशिश करनी चाहिये।’’

बता दें श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे में भारत को 276 रनों का लक्ष्य मिला था। भारत ने अपने सात विकेट 193 रनों पर ही खो दिए थे। इसी के साथ उस पर हार का संकट मंडराने लगा था, लेकिन चाहर और भुवनेश्वर कुमार ने 84 रनों की बेहतरीन साझेदारी कर श्रीलंका के मुंह से जीत छीन भारत को सौंप दी थी।

इसी के साथ भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 के अजेय बढ़त हासिल कर ली थी। मध्यम तेज गेंदबाज चाहर ने अपनी गेंदबाजी से दो विकेट भी लिए थे और फिर बल्ले से कमाल करते हुए नाबाद 69 रन बनाए थे जिसकी मदद से भारत ने तीन विकेट से मैच अपने नाम कर लिया था।

Next Stories
1 हरमनप्रीत कौर ने 180 के स्ट्राइक रेट से ठोके रन, लेकिन फिर भी हारी टीम; दक्षिण अफ्रीकी ‘दंपति’ ने इंग्लैंड की टीम को जिताया
2 उमेश यादव ने झटके 3 विकेट, हो सकती है आठ महीने बाद टेस्ट टीम में वापसी; युवा अंग्रेज ने शतक ठोक भारत को चौंकाया
3 TNPL में गेंदबाजों ने बरपाया कहर, युवा स्पिनर ने चार गेंद में झटके तीन विकेट, हार गई दिनेश कार्तिक के दोस्त की टीम
ये पढ़ा क्या?
X