ताज़ा खबर
 

बॉलर को कोहनी मार गंवाया था 75% मैच फीस, इन 5 मौकों पर आपा खो चुके हैं कैप्टन कूल धोनी

धोनी ने मुस्तफिजुर के बॉल को मिड ऑफ की तरफ बैट किया और तेज रफ्तार से रन लेने के लिए दौड़े, तभी बीच में मुस्तफिज़ुर आ गए। भागते हुए धोनी की कोहनी से उन्हें जोरदार धक्का लगा और वे गिर गए। धोनी पर इसके लिए मैच का 75 फीसदी जुर्माना लगाया गया, जबकि मुस्तफिजुर पर भी 50 फीसदी फाइन लगाया गया।

महेंद्र सिंह धोनी।

दक्षिण अफ्रीका के सेंचुरियन में अपने साथी खिलाड़ी मनीष पांडेय पर आपा खोने वाले महेंद्र सिंह धोनी यूं तो कैप्टन कूल के नाम से फेमस रहे हैं, लेकिन धोनी के क्रिकेट करियर में कुछ ऐसे भी मौके आए, जब वे बेहद नाराज भी दिखे थे। इस दौरान साथी खिलाड़ियों, विरोधी खेमे के खिलाड़ियों, पत्रकारों और अंपायर्स के साथ उनकी बहस हो चुकी है। ऐसे ही कुछ दिलचस्प वाकयों के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं, जब कैप्टन कूल धोनी गुस्से में आ गए। साल 2015 में जब टीम इंडिया बांग्लादेश के दौरे पर थी, तो तीन एकदिवसीय मैचों की पहली सीरीज में भारत को जीत के लिए 309 रनों का बड़ा टारगेट चेज करना था। 25वें ओवर में बांग्लादेश के गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान गेंदबाजी करने आए। यह उनका पहला इंटरनेशनल वन डे था। धोनी बैटिंग के लिए क्रीज पर थे। धोनी ने मुस्तफिजुर के बॉल को मिड ऑफ की तरफ बैट किया और तेज रफ्तार से रन लेने के लिए दौड़े, तभी बीच में मुस्तफिज़ुर आ गये। भागते हुए धोनी की कोहनी से उन्हें जोरदार धक्का लगा और वे गिर गए। धोनी पर इसके लिए मैच का 75 फीसदी जुर्माना लगाया गया, जबकि मुस्तफिजुर पर भी 50 फीसदी फाइन लगाया गया।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Gold
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Honor 8 32GB Pearl White
    ₹ 14210 MRP ₹ 30000 -53%
    ₹1500 Cashback

धोनी के गुस्से को लोगों ने तब देखा, जब 2011-12 में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर थी। ब्रिस्बेन में मैच चल रहा था। 29वें ओवर में सुरेश रैना ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हसी को स्टम्प किया और अपील की। थर्ड अंपायर ने पहले तो हसी को आउट करार दे दिया, हसी वापस भी लौटने लगे, तभी मैदान पर मौजूद अंपायर ने उन्हें वापस खेलने को बुला लिया। इस के बाद धोनी अंपायर से बड़ी देर तक उलझे रहे और दोनों के बीच काफी बहस हुई। अंपायर का कहना था कि थर्ड अंपायर ने हसी को गलत आउट दिया है।

2016 में बांग्लादेश-भारत टी20 मैच के दौरान भी धोनी एक पत्रकार पर भड़क गए थे। दरअसल, बेंगलुरु में हुए मैच में भारत ने बांग्लादेश को हरा दिया था। इस जीत के बाद जब धोनी मीडिया से रू-ब-रू थे, तो एक पत्रकार ने धोनी से टीम इंडिया के धीमे रन औसत के बारे में सवाल पूछा। इस सवाल से धोनी उखड़ गये। धोनी ने पत्रकार से कहा कि लगता है आप भारत की जीत से खुश नहीं हैं। धोनी ने कहा कि आपकी आवाज, आपके सवाल और आपके टोन से लगता है कि आप भारत की जीत से खुश नहीं हैं। इस दौरान धोनी के पोस्चर से लग रहा था कि वह काफी चिढ़े हुए हैं।

इसके अलावा, कई और मौके आए जब धोनी का गुस्सा लोगों को देखने को मिला। 2011 के वर्ल्ड कप फाइनल में धोनी की इनिंग्स काफी यादगार है। इस मैच में धोनी ने जिताऊ 91 रन बनाए थे। एक वक्त मैच में ऐसा आया जब भारत को जीत के लिए 22 गेंदों पर 22 रन की जरूरत थी। भारत के खिलाफ श्रीलंका की टीम गेंदबाजी कर रह रही थी। नुवान कुलशेकरा बॉलिंग कर रहे थे। धोनी हर एक रन तेजी से बनाना चाहते थे। धोनी के साथ बैटिंग के लिए दूसरे छोर पर युवराज सिंह मौजूद थे। एक गेंद पर धोनी ने शॉट लगाया और तेजी से पहला रन पूरा कर लिया। धोनी दूसरा रन लेना चाहते थे, लेकिन युवराज ने उन्हें मना कर दिया। इस पर धोनी ने युवराज को काफी तेज डांट लगाई थी।

इंग्लैंड के खिलाफ भी एक मैच में धोनी युजवेन्द्र चहल पर रन लेने के लिए नहीं दौड़ने पर काफी नाराज हो गए थे। इस दौरान धोनी ने उन्हें चिल्लाकर मैदान पर ही डांटा था। 21 फरवरी को धोनी द्वारा अपने साथी मनीष पांडे पर चिल्लाने की भी मीडिया में खासी चर्चा हो रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App