ताज़ा खबर
 

केएल राहुल के हेलमेट के कारण आउट होकर भी नॉट आउट रहा न्‍यूजीलैंड का बल्‍लेबाज

भारतीय स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद पर लाथम ने स्‍वीप शॉट खेला जिस पर केएल राहुल ने कैच लपक लिया।

Author नई दिल्‍ली | September 23, 2016 2:31 PM
न्‍यूजीलैंड के बल्‍लेबाज टॉम लाथम शॉॉट खेलते हुए। (AP File Photo)

भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच कानपुर में चल रहे पहले टेस्‍ट के दूसरे दिन बल्‍लेबाज को फील्‍डर के हेलमेट ने बचा लिया। जिस बल्‍लेबाज को यह जीवनदान मिला वे हैं न्‍यूजीलैंड के टॉम लाथम। भारतीय स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद पर लाथम ने स्‍वीप शॉट खेला जिस पर केएल राहुल ने कैच लपक लिया। लेकिन मैदान अंपायर्स ने इस बारे में तीसरे अंपायर की मदद ली। उन्‍होंने काफी जांच के बाद लाथम को नॉटआउट दिया और इसकी वजह बना राहुल का हेलमेट। इसके कुछ देर बाद ही लाथम ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया। लाथम का भारत में यह पहला टेस्‍ट अर्धशतक है।

दरअसल हुआ यह है कि न्‍यूजीलैंड की पारी के 37वें ओवर की चौथी गेंद पर लाथम ने जडेजा की गेंद पर स्‍वीप खेला। लेकिन गेंद उनके बल्‍ले के निचले हिस्‍से को छूते हुए जूते को लगी और उछल गई। शॉर्ट लेग पर तैनात केएल राहुल ने इसे दो बार के प्रयास में लपक लिया। मैदानी अंपायर रिचर्ड कैटबॉरो ने इंतजार करने को कहा और तीसरे अंपायर की मदद ली। रिप्‍ले में जडेजा की गेंद सही थी और लाथम के जूते से लगकर गेंद के हवा में उछलने तक फैसला भारत के पक्ष में था। लेकिन कैच लेने के दौरान राहुल को थोड़ी परेशानी हुई और गेंद उनके हाथ से छूटती दिखी। लेकिन उन्‍होंने इसे पकड़ लिया। हालांकि इसी दौरान गेंद उनके हेलमेट की जाली को लग गई। तीसरे अंपायर ने फैसला टॉम लाथम को नॉट आउट करार दिया।

कानपुर टेस्ट: मुरली विजय ने माना, कुछ बल्लेबाज़ों ने ढीले शॉट खेलकर गंवाए विकेट

इस फैसले के बाद भारतीय टीम के कप्‍तान विराट कोहली अंपायर से कारण भी पूछते नजर आए। वजह जानने के बाद राहुल, जडेजा और कोहली काफी निराश दिखे। नियम है कि कैच लेने के दौरान फील्‍डर का कोई भी बाहरी प्रोटेक्टिव गियर जैसे कि हेलमेट या एल्‍बो गार्ड बीच में आ जाता है या फिर कैच से पहले गेंद को छू लेता है तो आउट नहीं दिया जा सकता।  इससे पहले भारत की पहली पारी 318 रन पर समाप्‍त हुई। रवींद्र जडेजा 42 रन बनाकर नाबाद रहे।

कानपुर टेस्ट: न्यूजीलैंड के स्पिनर सैंटनर बोले- पहले दिन के बाद हम अच्छी स्थिति में हैं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App