ताज़ा खबर
 

IND vs ENG: भारत की नज़रें दूसरे वनडे के जरिये सिरीज़ जीतने पर, युवराज के ख़राब फॉर्म पर भी निगाह

बाराबती स्टेडियम पर भारत का रिकॉर्ड अच्छा रहा है और यहां 15 वनडे में से भारत ने 11 जीते हैं।

Author कटक | January 18, 2017 21:59 pm
क्रिकेटर युवराज सिह। (पीटीआई फाइल फोटो)

मुश्किल लक्ष्य का पीछा करके जीत दर्ज करने वाली आत्मविश्वास से भरपूर भारतीय टीम इंग्लैंड के खिलाफ गुरुवार (19 जनवरी) दूसरे एक दिवसीय क्रिकेट मैच के जरिये श्रृंखला अपने नाम करने की कोशिश में होगी। लक्ष्य का पीछा करने में माहिर विराट कोहली ने मोर्चे से अगुवाई करके 300 से अधिक रन का लक्ष्य हासिल करके भारत को करिश्माई जीत दिलाई। कोहली ने खुद 17वां वनडे शतक जड़ा। उनका बखूबी साथ दिया केदार जाधव ने जिसने 65 गेंद में शतक पूरा किया। भारत एकमात्र टीम है जिसने तीन बार 350 से अधिक के लक्ष्य का पीछा करके जीत दर्ज की और तीनों बार कोहली ने शतक जमाया। पिछले मैच में हालांकि टीम की जीत के नायक जाधव साबित हुए जिन्होंने इंग्लैंड के कप्तान ईयोन मोर्गन समेत सभी को चौंका दिया। मोर्गन ने मैच के बाद कहा,‘हमने वैकल्पिक रणनीति अपनाई और विराट को निशाना बनाया लेकिन हमें जाधव की पारी का अंदेशा नहीं था। भारत के रन तेजी से बनते रहे और उन्हें विकेट से मदद मिली।’ बाराबती स्टेडियम पर भारत का रिकॉर्ड अच्छा रहा है और यहां 15 वनडे में से भारत ने 11 जीते हैं। भारत की जीत में एकमात्र कमी महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह का खराब फॉर्म रही। दिल्ली के खब्बू बल्लेबाज शिखर धवन के लिये भी मुश्किल हो सकती है क्योंकि अजिंक्य रहाणे ने दूसरे अभ्यास मैच में 83 गेंद में 91 रन बनाये। रोहित शर्मा चोटिल है जबकि ऋषभ पंत टीम में प्रवेश की दहलीज पर हैं। ऐसे में धवन के पास समय कम बचा है। सभी की नजरें युवराज पर टिकी होंगी जो 300वें वनडे मैच से सिर्फ छह मैच दूर हैं।

भारत की गेंदबाजी पहले मैच में औसत रही लेकिन मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कोहली ने कहा कि पिच बल्लेबाजों की ऐशगाह थी। आर अश्विन का प्रदर्शन भी औसत रहा लेकिन टीम प्रबंधन को बखूबी इल्म है कि वह किसी भी समय फॉर्म में लौट सकता है। उनके पास बैक अप स्पिनर अमित मिश्रा है। इंग्लैंड को अगले दो मैच जीतने के लिये करिश्माई प्रदर्शन करना होगा। बांग्लादेश के खिलाफ श्रृंखला से बाहर रहने के बाद टीम में लौटे कप्तान मोर्गन पर गेंदबाजों से अच्छा प्रदर्शन कराने का दबाव होगा। क्रिस वोक्स और डेविड विले को मिले शुरुआती विकेटों के अलावा इंग्लैंड का आक्रमण धारहीन दिखा और गेंदबाजों ने काफी फालतू रन भी दिये। बेन स्टोक्स ने 40 गेंद में 62 रन बनाये लेकिन गेंदबाजी में 73 रन दे डाले। केदार और कोहली की साझेदारी के दौरान 25 ओवर तक इंग्लैंड को विकेट नहीं मिला। कोहली पर अंकुश लगाने का कोई तरीका इंग्लैंड खेमे को नजर नहीं आ रहा। पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला 0-4 से गंवाने के बाद अब वनडे श्रृंखला जीतने का उस पर भारी दबाव है। सभी की नजरें युवराज पर टिकी होंगी जो 300वें वनडे मैच से सिर्फ छह मैच दूर हैं। भारत की गेंदबाजी पहले मैच में औसत रही लेकिन मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कोहली ने कहा कि पिच बल्लेबाजों की ऐशगाह थी। आर अश्विन का प्रदर्शन भी औसत रहा लेकिन टीम प्रबंधन को बखूबी इल्म है कि वह किसी भी समय फार्म में लौट सकता है। उनके पास बैक अप स्पिनर अमित मिश्रा है।

इंग्लैंड को अगले दो मैच जीतने के लिये करिश्माई प्रदर्शन करना होगा। बांग्लादेश के खिलाफ श्रृंखला से बाहर रहने के बाद टीम में लौटे कप्तान मोर्गन पर गेंदबाजों से अच्छा प्रदर्शन कराने का दबाव होगा। क्रिस वोक्स और डेविड विले को मिले शुरुआती विकेटों के अलावा इंग्लैंड का आक्रमण धारहीन दिखा और गेंदबाजों ने काफी फालतू रन भी दिये। बेन स्टोक्स ने 40 गेंद में 62 रन बनाये लेकिन गेंदबाजी में 73 रन दे डाले। केदार और कोहली की साझेदारी के दौरान 25 ओवर तक इंग्लैंड को विकेट नहीं मिला। कोहली पर अंकुश लगाने का कोई तरीका इंग्लैंड खेमे को नजर नहीं आ रहा। पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला 0-4 से गंवाने के बाद अब वनडे श्रृंखला जीतने का उस पर भारी दबाव है। बाराबती स्टेडियम पर पिछला वनडे दो नवंबर 2014 को खेला गया था जब भारत ने पांच विकेट पर 363 रन बनाकर श्रीलंका को 169 रन से हराया था। भारत ने यहां पांच अक्तूबर 2015 को टी20 मैच खेला था जिसमें टीम 92 रन पर सिमट गई और छह विकेट से पराजय झेलनी पड़ी थी। कटक के दर्शकों ने इससे नाराज होकर मैदान पर कागज की मिसाइलें फेंकी थी जिससे खेल रोकना पड़ा था । इस बार स्टेडियम की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

टीमें इस प्रकार हैं :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), लोकेश राहुल, शिखर धवन, युवराज सिंह, एम एस धोनी, केदार जाधव, हार्दिक पंड्या, रविंद्र जडेजा, आर अश्विन , जसप्रीत बुमरा, उमेश यादव, अजिंक्य यादव, मनीष पांडे, भुवनेश्वर कुमार और अमित मिश्रा ।

इंग्लैंड : ईयोन मोर्गन (कप्तान), जासन राय, एलेक्स हेल्स, जो रूट, जोस बटलर, बेन स्टोक्स, मोईन अली, क्रिस वोक्स, डेविड विले, आदिल रशीद, जैक बाल, लियाम डासन, जानी बेयरस्टा, सैम बिलिंग्स, लियाम प्लंकेट ।

वनडे में भारतीय बल्लेबाजों द्वारा लगाए गए 10 सबसे तेज शतक

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App