ताज़ा खबर
 

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ हेज़लवुड ने क्यूरेटर की ‘बाउंस थ्योरी’ को नकारा

पिच क्यूरेटर पांडुरंग की पिच की उछाल भरी भविष्यवाणी पर हेजलवुड ने कहा, ‘मुझे हैरानी होगी अगर (गेंद) यहां उछाल लेती है।’
Author पुणे | February 21, 2017 23:03 pm
ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज जोश हेजलवुड। (एपी फाइल फोटो))

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जोस हेजलवुड पिच के बारे में भविष्यवाणी पर भरोसा करने के लिये तैयार नहीं हैं कि श्रृंखला के शुरुआती मैच में विकेट पर अच्छा उछाल मिलेगा और उन्होंने कहा कि गेंदबाजों को भारतीय बल्लेबाजों को आउट करने के लिये अन्य तरीके ढूंढने होंगे। पिच क्यूरेटर पांडुरंग सलगांवकर की पिच की उछाल भरी भविष्यवाणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए हेजलवुड ने कहा, ‘मुझे हैरानी होगी अगर (गेंद) यहां उछाल लेती है।’ उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि मैच शुरू होने में अभी डेढ़ दिन का समय बचा है। हमें मैच की सुबह पिच देखनी होगी कि यह कैसी दिखती है।’

पूर्व तेज गेंदबाज सलगांवकर ने कहा था कि विकेट में गेंद को अंतिम समय में ज्यादा मूवमेंट नहीं मिलेगा लेकिन इस पर अच्छा उछाल होगा और गेंद काफी उछलेगी। न्यू साउथ वेल्स के इस 26 वर्षीय गेंदबाज ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया में, आपको ज्यादातर मैचों में अच्छा उछाल मिलता है। निश्चित रूप से आपको यहां ऐसा नहीं मिलेगा और आपको अन्य तरीकों से पांच विकेट हासिल करने होंगे, भले ही यह रिवर्स स्विंग के जरिये हों, या कटर के जरिये। मैं कुछ अन्य चीजों पर कड़ी मेहनत कर रहा हूं। उम्मीद है कि हम इस हफ्ते इन्हें अभ्यास में लायेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘आपको अन्य तरीकों से विकेट झटकने की कोशिश करनी होगी। बोल्ड, पगबाधा, विकेट के आगे कैच आउट, कई तरह के मौके हैं।’

IND vs AUS: कोच लीमैन ने कहा- भारत हो या ऑस्ट्रेलिया, टॉस से फर्क नहीं पड़ता

ऑस्ट्रेलिया के कोच डेरेन लीमैन टॉस की प्रथा को खत्म करने के पक्ष में हैं और उनका मानना है कि भारत में आगामी टेस्ट श्रृंखला के नतीजे पर टॉस का कोई असर नहीं होगा। लीमैन पहले ही टॉस को लेकर अपनी आशंकाएं जता चुके हैं और उनका मानना है कि यह विकल्प मेहमान टीम को मिलना चाहिए कि वह पहले गेंदबाजी करना चाहती है या बल्लेबाजी। ऑस्ट्रेलियन एसोसिएटेड प्रेस (एएपी) ने लीमैन के हवाले से कहा, ‘हम जब पिछली बार यहां आए थे तो हमने चार बार टॉस जीता था और 0-4 से हार गए।’ उन्होंने कहा, ‘टॉस जीतने के बाद भी आपको अच्छा खेलना होता है।’

लीमैन ने कहा, ‘टॉस को लेकर मेरा नजरिया यह है कि इसे खत्म करना चाहिए, मेरा हमेशा यही नजरिया रहा है। आप चाहे यहां हो या ऑस्ट्रेलिया में, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।’ ऑस्ट्रेलिया के कोच ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पुणे में गुरुवार (23 फरवरी) से शुरू हो रही चार टेस्ट की श्रृंखला के लिए अच्छे विकेट तैयार किए जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘वे अच्छे विकेट बनाते हैं, इसलिए अच्छे पांच दिवसीय टेस्ट (पिच) को लेकर उत्सुक हूं जो पांच दिन के दौरान टूटेगा।’

IPL 2017: ये 5 रहे सबसे महंगे, इन 5 को नहीं मिला खरीददार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.