ताज़ा खबर
 

India vs England 2nd ODI: युवराज और धोनी का धमाल, भारत ने श्रृंखला जीती

मोर्गन ने आखिर तक इंग्लैंड की उम्मीद बनाये रखी लेकिन आखिर में उनकी टीम आठ विकेट पर 366 रन तक ही पहुंच पायी।
Author कटक | January 20, 2017 04:24 am
कटक वनडे में युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी की जोड़ी ने भारत को संकट से उबारकर अच्छी स्थिति में पहुंचाया। युवराज ने शतकीय पारी खेली।(Photo: AP)

युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी ने बाराबती स्टेडियम में आज यहां अपना पुराना रंग दिखाकर दिलकश शतकीय पारियां खेली जिससे भारत ने रोमांच से भरे बड़े स्कोर वाले दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में इयोन मोर्गन के साहसिक शतक पर पानी फेरकर इंग्लैंड को 15 रन से हराया और तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 से अजेय बढ़त बनायी।  युवराज ने 127 गेंदों पर 150 रन की जबर्दस्त पारी खेली जो उनके करियर का सर्वोच्च स्कोर है। धोनी ने भी अपना असली जलवा दिखाया और 122 गेंदों पर 134 रन बनाये। भारत ने बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर कप्तान विराट कोहली सहित तीन विकेट 25 रन पर गंवा दिये थे जिसके बाद युवराज और धोनी ने चौथे विकेट के लिये रिकार्ड 256 रन की साझेदारी निभायी जिससे टीम छह विकेट पर 381 रन का विशाल स्कोर खड़ा करने में सफल रही।

मोर्गन ने आखिर तक इंग्लैंड की उम्मीद बनाये रखी लेकिन आखिर में उनकी टीम आठ विकेट पर 366 रन तक ही पहुंच पायी। सलामी बल्लेबाज जैसन राय : 82 : ने टीम को अच्छी शुरूआत दी और जो रूट : 54 : के साथ दूसरे विकेट के लिये 100 रन जोड़े। कप्तान मोर्गन ने फार्म में वापसी करके 81 गेंदों पर 102 रन की पारी खेली और मोईन अली : 55 : के साथ छठे विकेट के लिये 93 रन और लियाम प्लंकेट : नाबाद 26 : के साथ चार ओवर में 50 रन की साझेदारी की लेकिन यह जीत के लिये पर्याप्त नहीं था।

इंग्लैंड को आखिरी आठ ओवरों में 105 रन की दरकार थी। मोर्गन ने बड़े साहसिक तरीके से मिशन आगे बढ़ाया लेकिन जब आखिरी ओवर में 22 रन चाहिए थे तब तक वह पवेलियन लौट चुके थे। भुवनेश्वर : 63 रन देकर एक : ने इस ओवर में छह रन दिये।बल्लेबाजों के लिये स्वर्ग बनी पिच पर भारतीयों गेंदबाजों में रविंद्र जडेजा ने प्रभाव छोड़ा। उन्होंने दस ओवर में 45 रन देकर एक विकेट लिया। रविचंद्रन अश्विन सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 65 रन देकर तीन विकेट जबकि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने नौ ओवर में 81 रन देकर दो विकेट लिये।

इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन लगातार दूसरी हार से निराश थे लेकिन उन्होंने भी धोनी और युवराज की तारीफ की जिन्होंने चौथे विकेट के लिये 256 रन की साझेदारी की। मोर्गन ने कहा, ‘‘हम फिर से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाये। इतना करीब पहुंचकर जीत हासिल नहीं करना निराशाजनक है। धोनी और युवराज के लियेगेंदबाजी करना मुश्किल था। हमने बाद में अच्छी चुनौती पेश की। हमें विश्वास था कि हम लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। विश्वास था लेकिन हमारे पास उस के लायक कौशल नहीं था। ’’युवराज को उनकी जबर्दस्त पारी के लिये मैन आफ द मैच चुना गया। उन्होंने कहा कि यह उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक थी।

बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘घरेलू सत्र में मैं गेंद को अच्छी तरह से हिट कर रहा था। मैंने और धोनी ने स्थिति को अच्छी तरह से परखा और नये सिरे से शुरूआत की। हमने सही समय पर हमलावर तेवर अपनाये। हम साझेदारी बनाये रखना चाहते थे और फिर हमने कई शाट खेले। हम 340 से 350 रन के स्कोर तक पहुंचने के बारे में सोच रहे थे। ’’युवराज ने कहा, ‘‘यह संभवत: मेरी सर्वश्रेष्ठ पारी है। मैंने निचले क्रम के बल्लेबाज के रूप में शुरूआत की थी लेकिन उच्च्परी क्रम में आने पर आपको अधिक गेंदें खेलने को मिलती हैं। मेरे लिये 150 रन लक्ष्य था। जब आप 30 के पार हो जाते हो तो आपको अपनी फिटनेस पर कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। ’’

युवराज- धोनी का शतक, इंग्लैंड को 382 रनों का लक्ष्य

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.