IND vs NZ: Hardik Pandya-Kane Williamson collide, big accident averted, See Photos - IND vs NZ: मैदान पर हुई केन विलियमसन और हार्दिक पंड्या की जोरदार टक्‍कर, देखें तस्‍वीरें - Jansatta
ताज़ा खबर
 

IND vs NZ: मैदान पर हुई केन विलियमसन और हार्दिक पंड्या की जोरदार टक्‍कर, देखें तस्‍वीरें

भारत के लिए अच्‍छी बात ये रही कि पंड्या को गंभीर चोट नहीं आई और उन्‍होंने अपने ओवर पूरे किए।

रन लेने समय विलियमसन और पंड्या की टक्‍कर हो गई। (Photo: PTI)

भारत व न्‍यूजीलैंड के बीच खेले गए तीसरे वनडे में 28वें ओवर के दौरान बड़ा हादसा होते-होते रह गया। हार्दिक पंड्या गेंदबाजी कर रहे थे और बल्‍लेबाज थे न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान केन विलियमसन। 338 रनों के भारी-भरकम लक्ष्‍य के सामने किवी टीम आसानी से बढ़ रही थी। विलियमसन उस समय 64 के निजी स्‍कोर पर बल्‍लेबाजी कर रहे थे, तब पंड्या के साथ उनकी टक्‍कर हुई। हार्दिक पंड्या की कद-काठी अच्‍छी है मगर रिप्‍ले में साफ था कि रन लेने के चक्‍कर में विलियमसन उनके हाथ पर चढ़ गए हैं। पंड्या गेंद पकड़ने के चक्‍कर में स्‍टंप के आस-पास ही थे और उन्‍होंने विलियमसन को नहीं देखा था। रिप्‍ले में दिखा कि पंड्या की उंगलियों से खून रिस रहा था। हालांकि भारत के लिए अच्‍छी बात ये रही कि पंड्या को गंभीर चोट नहीं आई और उन्‍होंने अपने ओवर पूरे किए। रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड को छह रनों से मात देते हुए तीन मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा (147) और विराट कोहली (113) के बीच हुई दोहरी शतकीय साझेदारी के दम पर निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 337 रन बनाए थे। जवाब में किवी टीम पूरे ओवर खेलने के बाद सात विकेट पर 331 रन ही बना सकी।

विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी किवी टीम को मुनरो ने तेज शुरुआत दी। उन्होंने पहले ओवर में ही भुवनेश्वर पर एक छक्का और दो चौके जड़े। मुनरो ने अगले ओवर में बुमराह को भी नहीं बख्शा। हालांकि दूसरे छोर से उन्हें मार्टिन गुप्टिल (10) का साथ नहीं मिला। गुप्टिल 44 के कुल स्कोर पर बुमराह की गेंद पर दिनेश कार्तिक को कैच दे बैठे। पिछले दो मैचों से खामोश चल रहे किवी कप्तान विलियमसन ने इस मैच में अपना का जौहर दिखाया और मुनरो का बखूबी साथ दिया। दोनों ने मिलकर दूसरे विकेट के लिए 109 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचा दिया। मुनरो लगातार भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की बखियां उधेड़ रहे थे। तो विलियमसन ने आते ही हार्दिक पांड्या पर दो शानदार चौके जड़े। इन दोनों ने केदार जाधव और अक्षर पटेल को भी अच्छे से खेला।

हालांकि लेग स्पिनर चहल ने मुनरो से भारत का पीछा छुड़ाया और 153 के कुल स्कोर पर 62 गेंदों में आठ चौकों और तीन छक्कों की मदद से खेली गई 75 रनों की मुनरो की पारी का अंत उन्हें बोल्ड करते हुए किया। मुनरो के जाने के बाद कप्तान भी कुछ ही देर में पवेलियन लौट लिए। कप्तान को चहल ने महेंद्र सिंह धौनी के हाथों स्टम्प कराया। विलियमसन ने थोड़ा धीमा खेल खेला और 64 रन बनाने के लिए 84 गेंदे लीं। अपनी अर्धशतकीय पारी में उन्होंने आठ चौके जड़े। रॉस टेलर (39) को बड़ी पारी खेलने से बुमराह ने रोका। 247 के कुल स्कोर पर टेलर जाधव को कैच दे बैठे।

यहां से पहले मैच में शतक लगाकर टीम को जीत दिलाने वाले लाथम और हेनरी निकलोस ने मेजबानों की परेशानियों को बढ़ा दिया। इन दोनों ने किवी टीम की जीत की उम्मीदों को जिंदा रखा, लेकिन जीत के करीब जाते-जाते निकोलस भुवनेश्वर की गेंद पर बोल्ड हो गए। 37 रन बनाने वाले निकोलस ने लाथम के साथ 59 रनों की साझेदारी की। उम्मीदें लाथम से थीं, लेकिन वह 48वें ओवर की पांचवीं गेंद पर दुर्भाग्यवश तरीके से रन आउट हो गए।

लाथम ने 52 गेंदों में सात चौकों की मदद से 65 रन बनाए। यहां से किवी टीम की उम्मीदें खत्म हो गईं थीं। बुमराह ने आखिरी ओवर में जरूरी 15 रन बनाने से कोनिल डी ग्रांडहोमे (नाबाद 8) और टिम साउदी (नाबाद 4) को वंचित रखा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App