scorecardresearch

IND vs ENG: ‘मैं बोर हो रहा हूं कुछ धमाका करो’, ऋषभ पंत की धमाकेदार पारी को लेकर रवि शास्त्री का खुलासा

रवि शास्त्री ने पिछले साल भारत बनाम इंग्लैंड की घरेलू सीरीज के दौरान ऋषभ पंत के साथ हुई बातचीत का खुलासा किया, जिससे भारत के विकेटकीपर की बल्लेबाजी ने रिवर्स स्वीप खेलना शुरू कर दिया।

अहमदाबाद में ऋषभ पंत ने जेम्स एंडरसन की गेंद पर रिवर्स स्वीप जड़ा था। (फोटो- बीसीसीआई)

ऋषभ पंत को इंग्लैंड के खिलाफ खेलना पसंद है। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने पांच शतक जड़ा है और इनमें से तीन इंग्लैंड के खिलाफ आए हैं। एजबेस्टन टेस्ट में टीम इंडिया बैकफुट पर थी, लेकिन इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ने रविंद्र जडेजा के साथ 222 रनों की साझेदारी करके ड्राइविंग सीट पर ला दिया है। रवि शास्त्री ने पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के दौरान ऋषभ पंत के साथ हुई मजेदार बातचीत का खुलासा किया है।

पंत ने उस सीरीज में जेम्स एंडरसन को रिवर्स स्वीप जड़कर काफी सुर्खियां बटोरी थी। तब शास्त्री टीम इंडिया के कोच थे। अब वह भारत – इंग्लैंड के बीच सीरीज में कमेंट्री कर रहे हैं। उन्होंने अहमदाबाद में ऋषभ पंत की दमदार पारी को लेकर मजेदार किस्सा बताया है। उन्होंने कमेंट्री करते हुए स्काई स्पोर्ट्स पर कहा, “पिछले साल मैं पंत से बात कर रहा था और मैंने उनसे कहा कि मैं तुम्हें हर बार इस अंदाज में देखकर बोर हो रहा हूं, क्या तुम भी बोर नहीं हो रहे हो? तो क्यों न आप कुछ अलग करने की कोशिश करो, रिवर्स स्वीप जैसा कुछ धमाकेदार…मैंने उसकी आंखों की चमक देखी। एक खिलाड़ी की क्षमता का समर्थन करना बहुत महत्वपूर्ण है। “

शास्त्री ने कहा कि पंत ने अहमदाबाद टेस्ट में दूसरी नई गेंद लेने पर जेम्स एंडरसन को रिवर्स स्वीप किया और उसके बाद व्हाइट बॉल सीरीज में जोफ्रा आर्चर के खिलाफ भी यह शॉट खेला, जिनकी गति काफी तेज है। शास्त्री ने कहा, “उन्होंने जैक लीच को दो बार रिवर्स स्वीप किया। अगले टेस्ट में उन्होंने एंडरसन के खिलाफ ऐसा किया। सीमित ओवरों की सीरीज में उनके सबसे तेज गेंदबाजों में से एक जोफ्रा आर्चर को भी रिवर्स स्वीप किया।”

पंत की बल्लेबाजी में एक बार फिर वही रवैया दिखाई दे रहा था। उन्होंने शुक्रवार को बर्मिंघम में सीरीज के निर्णायक मुकाबले में इंग्लैंड के खिलाफ अपना पांचवां टेस्ट शतक बनाया। पंत ने सिर्फ 89 गेंदों पर शतक जड़ा। पंत ने 111 गेंदों पर 146 रन बनाए। टीम इंडिया 98 रन पर 5 विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी। इसके बाद रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर टीम को संकट से निकाला।

टीम इंडिया ने पहले दिन का खेल समाप्त होने तक 7 विकेट पर 338 रन बना लिया। जडेजा 83 और मोहम्मद शमी 0 रन बनाकर क्रीज पर हैं। पहले दिन बारिश के कारण सिर्फ 73 ओवर का ही खेल हो सका। बता दें कि टीम इंडिया सीरीज में 2-1 से आगे है। साल 2007 के बाद इंग्लैंड में सीरीज जीतने का उसके पास मौका है। राहुल द्रविड़ की कप्तानी में तब ने 1-0 से सीरीज अपने नाम किया था।

पढें क्रिकेट (Cricket News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X