scorecardresearch

IND vs BAN, Day Night Test: ईडन गार्डन में सचिन, कुंबले और द्रविड़ को याद आए पुराने दिन

IND vs BAN, Day Night Test: तेंदुलकर ने कहा, ‘‘उस हैट्रिक से मैच का नक्शा एकदम से बदल गया। हमने जिस तरह से वह मैच जीता उससे भारतीय टीम के लिये नया दौर शुरू हुआ। भज्जी ने शानदार गेंदबाजी की तथा लक्ष्मण और द्रविड़ की भागीदारी ने ड्रसिंग रूम में आत्मविश्वास नये स्तर पर पहुंचा दिया था। ’

IND vs BAN, Day Night Test: ईडन गार्डन में सचिन, कुंबले और द्रविड़ को याद आए पुराने दिन
टीम इंडिया के लीजेंड्स क्रिकेटर्स ने ईडन गार्डन्स के मैदान में तरो ताजा की पुरानी यादें

 IND vs BAN, Day Night Test: सचिन तेंदुलकर और अनिल कुंबले सहित भारत के दिग्गज खिलाड़ियों ने शुक्रवार को यहां ईडन गार्डन्स से जुड़ी अपनी यादों को ताजा किया जहां देश का पहला दिन रात्रि टेस्ट मैच खेला जा रहा है। भारत और बांग्लादेश के बीच दिन रात्रि टेस्ट मैच के पहले दिन लंच के समय तेंदुलकर, कुंबले, हरभजन सिंह और वीवीएस लक्ष्मण ने इस ऐतिहासिक मैदान से जुड़े खास पलों को याद किया जिनमें वेस्टइंडीज के खिलाफ 1993 में हीरो कप फाइनल और आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2001 का टेस्ट मैच भी शामिल है। इन सभी ने अपने कप्तान और बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली का उन्हें फिर से एक साथ लाने के लिये आभार व्यक्त किया।

गांगुली को भी स्टार स्पोर्ट्स के इस कार्यक्रम में हिस्सा लेना था लेकिन प्रशासनिक व्यस्तता के कारण वह इसमें भाग नहीं ले पाये। वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर छह विकेट लेने वाले कुंबले ने कहा, ‘‘जब हम खेला करते थे तब हमें इस तरह से बैठकर बातें करने का मौका नहीं मिला। यह विशेष दिन है और इस ऐतिहासिक मैच के लिये इससे बेहतर स्थल नहीं हो सकता था। ’’ लक्ष्मण और द्रविड़ ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2001 के टेस्ट मैच में 376 रन की साझेदारी करके भारत को वापसी दिलायी थी जिसके बाद हरभजन और तेंदुलकर ने शानदार गेंदबाजी की। हरभजन ने मैच में 13 विकेट लिये जिसमें हैट्रिक शामिल है।

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘उस हैट्रिक से मैच का नक्शा एकदम से बदल गया। हमने जिस तरह से वह मैच जीता उससे भारतीय टीम के लिये नया दौर शुरू हुआ। भज्जी ने शानदार गेंदबाजी की तथा लक्ष्मण और द्रविड़ की भागीदारी ने ड्रसिंग रूम में आत्मविश्वास नये स्तर पर पहुंचा दिया था। ’’ ईडन गार्डन्स के माहौल को देखकर हरभजन को उन दिनों की याद आ गयी जब वह खेला करते थे।

उन्होंने कहा, ‘‘यहां के माहौल से मैं 15 साल पीछे चला गया। टेस्ट क्रिकेट तब अलग तरह से होता था। यह खास अहसास है। इसके लिये गांगुली का आभार। अगर मैं 100 कप्तानों की अगुवाई में भी खेलूं तब भी वह हमेशा मेरा कप्तान रहेगा। ’’ तेंदुलकर ने मोहाली में एक मैच के दौरान स्थानीय अधिकारियों से हरभजन के बारे में सुना था और फिर भारतीय टीम के नेट अभ्यास के लिये स्पिनर को भेजने के लिये कहा।

तेंदुलकर ने कहा, ‘‘पहली बार मैं भज्जी से मोहाली में मिला था। लोग उसके बारे में बात कर रहे थे। वह अच्छा स्पिनर है जो दूसरा अच्छी तरह से फेंकता है। ’’ गुलाबी गेंद से टेस्ट मैच के बारे में तेंदुलकर और लक्ष्मण ने कहा कि शाम के सत्र में तेज गेंदबाजों को इससे अधिक मदद मिलेगी। बांग्लादेश की टीम पहली पारी में 106 रन पर आउट हो गयी। तेज गेंदबाज इशांत शर्मा ने पांच, उमेश यादव ने तीन और मोहम्मद शमी ने दो विकेट लिये।

पढें क्रिकेट (Cricket News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.