Ind VS Aus: विराट कोहली ने ‘सबसे बड़ी उपलब्धि’, ऐतिहासिक जीत के बाद क्या बोले कप्तान, पढ़ें

उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजों ने केवल इसी श्रृंखला में नहीं बल्कि पिछले दो दौरों में भी जिस तरह से गेंदबाजी की वैसा मैने भारतीय क्रिकेट में पहले कभी नहीं देखा। वे पिच को नहीं देखते और यह नहीं सोचते कि इससे उन्हें मदद नहीं मिलेगी।’’ कोहली ने इस जीत को टीम के लिये शुरुआती कदम बताया जो अपनी औसत उम्र के लिहाज से अब भी युवा है।

Author Updated: January 7, 2019 11:32 AM
india vs australia, virat kohli, virat kohli record,विराट कोहली (फोटो साभार-BCCI)

India vs Australia: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 2-1 से ऐतिहासिक जीत को अपनी ‘सबसे बड़ी उपलब्धि’ करार दिया। जिससे कि वर्तमान टीम को एक अलग तरह की पहचान मिलेगी। महेंद्र सिंह धोनी ने आठ साल पहले वानखेड़े में जब विश्व कप ट्राफी हाथ में ली थी तो कोहली उस टीम के सबसे युवा सदस्य थे लेकिन उनके अनुसार वर्तमान उपलब्धि इस सूची में सबसे ऊपर होगी। कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह मेरी अब तक की सबसे बड़ी उपलब्धि है। यह सूची में सबसे ऊपर रहेगी। जब हमने विश्व कप जीता था तो मैं टीम का सबसे युवा सदस्य था। मैं देख रहा था कि अन्य खिलाड़ी भावुक हो रहे थे। इस श्रृंखला में जीत से हमें एक टीम के रूप में अलग पहचान मिलेगी। हमने जो हासिल किया मुझे वास्तव में उस पर गर्व है।’’ सिडनी में ही चार साल पहले कोहली टेस्ट टीम के स्थायी कप्तान बने थे और इसी मैदान पर उनकी टीम ने नया इतिहास रचा है।

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘हमारे बदलाव की शुरुआत यहीं पर हुई थी जहां मैंने कप्तान पद संभाला था और मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि चार साल बाद हम यहां जीतने में सफल रहे। मैं केवल एक शब्द कह सकता हूं कि मुझे इस टीम की अगुवाई करने में फक्र महसूस होता है। यह मेरे लिये सम्मान है। खिलाड़ियों के प्रयास से ही कप्तान अच्छा साबित होता है।’’ कोहली ने इस श्रृंखला में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले चेतेश्वर पुजारा, युवा मयंक अग्रवाल और ऋषभ पंत की जमकर प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘मैं पुजारा का विशेष जिक्र करना चाहता हूं। वह ऐसा खिलाड़ी है जो हमेशा परिस्थितियों को स्वीकार करता है। वह बहुत अच्छा इंसान है। मैं मयंक अग्रवाल का भी ख़ास जिक्र करना चाहूंगा। बॉक्सिंग डे पर पदार्पण करके उसने बेहतर आक्रमण के सामने शानदार पारी खेली। ऋषभ पंत भी अपने अंदाज में बल्लेबाजी करके आक्रमण पर हावी रहे।’’ गेंदबाजों ने साल भर अच्छा प्रदर्शन किया और कोहली ने फिर से उनकी तारीफ की।

उन्होंने कहा, ‘‘गेंदबाजों ने केवल इसी श्रृंखला में नहीं बल्कि पिछले दो दौरों में भी जिस तरह से गेंदबाजी की वैसा मैने भारतीय क्रिकेट में पहले कभी नहीं देखा। वे पिच को नहीं देखते और यह नहीं सोचते कि इससे उन्हें मदद नहीं मिलेगी।’’ कोहली ने इस जीत को टीम के लिये शुरुआती कदम बताया जो अपनी औसत उम्र के लिहाज से अब भी युवा है। कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई टीम की भी हौसलाअफजाई की जो कि पूरी श्रृंखला में जूझती रही।

Next Stories
1 IPL 2019: स्‍टीव स्मिथ नहीं करेंगे राजस्‍थान रॉयल्‍स की कप्‍तानी, जानिए क्‍यों
2 India vs Australia 4th Test Day 4 Highlights: खराब रोशनी की भेंच चढ़ा चौथे दिन का खेल, इतिहास रचने से 10 विकेट दूर भारत
3 NZ vs SL: 13 छक्के और 8 चौके जड़ परेरा ने बनाए ताबड़तोड़ 140 रन, टीम को फिर भी नहीं मिली जीत
यह पढ़ा क्या?
X