ताज़ा खबर
 

IND vs AUS: ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेटर्स के रवैये से खुश नहीं विराट कोहली, बोले- अब उनसे कोई दोस्‍ती नहीं

ऑस्‍ट्रेलियाई मीडिया ने पूरी श्रृंखला में कोहली को निशाना बनाया लेकिन उन्होंने कहा कि वह इसकी परवाह नहीं करते।

Author धर्मशाला | March 28, 2017 5:31 PM
विराट कोहली ने कहा कि वह इस टीम की कप्तानी का पूरा मजा ले रहे हैं। (Photo: Reuters)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया पर मिली 2-1 से जीत को अपनी टीम की सर्वश्रेष्ठ श्रृंखला जीत करार देते हुए कहा कि कोई उनकी टीम को उकसाता है तो वे माकूल जवाब देने में माहिर हैं। कोहली ने चौथे टेस्ट के बाद स्टार स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘ हमारा पलड़ा मैच में भारी हो या नहीं, यदि कोई हमें उकसायेगा तो हम माकूल जवाब देंगे। सभी को यह हजम नहीं होता लेकिन हम जैसे को तैसा में माहिर हैं।’’ ऑस्‍ट्रेलियाई मीडिया ने पूरी श्रृंखला में कोहली को निशाना बनाया लेकिन उन्होंने कहा कि वह इसकी परवाह नहीं करते।

उन्होंने कहा, ‘‘ कुछ लोग दुनिया के एक हिस्से में बैठकर सनसनी फैलाना चाहते हैं। उन्हें खुद इन हालात का सामना नहीं करना पड़ता। सबसे आसान काम है कि घर बैठकर ब्लॉग लिख डालो या माइक पर बोलो लेकिन मैदान में उतरकर खेलना काफी मुश्किल है।’’ उन्होंने कहा कि वह इस टीम की कप्तानी का पूरा मजा ले रहे हैं। कोहली ने कहा, ‘‘ मुझे जिम्मेदारियां लेना पसंद है। भारत के लिये हर मैच खेलते समय कुछ खास करने का मौका होता है।

कार्यभार के बारे में भविष्य में सोचेंगे लेकिन अभी शरीर चुस्त है और मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं। यह हमारी सर्वश्रेष्ठ जीत है। हम जिस तरह विश्व रैंकिंग मेगं सातवें से पहले स्थान पर पहुंचे, वह शानदार उपलब्धि है और बतौर कप्तान मुझे गर्व है।’’ कोहली ने कहा, ‘‘ इंग्लैंड के खिलाफ श्रृंखला प्रतिस्पर्धी थी लेकिन जिस तरह ऑस्‍ट्रलिया ने हमें चुनौती दी, वह अद्भुत था। हमारे खिलाड़ियों ने भी हार नहीं मानी और जमकर सामना किया।’’

उन्होंने चौथे टेस्ट में कप्तानी करने वाले अजिंक्य रहाणे की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ उसने अच्छी कप्तानी की। बाहर बैठकर उसे देखना सुखद था।’’ कोहली ने कहा कि बेहतर फिटनेस के साथ टीम लंबे घरेलू सत्र में अच्छा प्रदर्शन कर सकी। उन्होंने कहा, ‘‘ हमने फिटनेस ट्रेनिंग में जो बदलाव किये, वे कारगर साबित हुए। पूरे सत्र में टीम अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब रही। अतीत में हमने आसानी से मैच गंवाये हैं लेकिन इस सत्र में नहीं। यह टीम का सत्र था, एक या दो खिलाड़ियों का नहीं।’’ जब उनसे पूछा गया कि क्‍या वे अब भी ऑस्‍ट्रेलियन खिलाडि़यों को मैदान के बाहर अपना दोस्‍त मानते हैं। इस पर कोहली ने जवाब दिया कि नहीं। अब ऐसा होना मुश्किल है। पहले लगता था कि ऐसा हो सकता है (मैदान के बाहर दोस्‍ती) लेकिन अब नहीं लगता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App