ताज़ा खबर
 

धोनी को नहीं मिला बल्लेबाजी का मौका, तो दर्शकों ने लगाया सौरव तिवारी हाय-हाय का नारा

सौरभ तिवारी की हूटिंग इसलिए हुई क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी को बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिल पाया। मैदान में मौजूद फैंस धोनी की बल्लेबाजी देखना चाहते थे, इसलिए वे तिवारी की हूटिंग कर रहे थे

Vijay Hazare Trophy, Saurabh Tiwary, Ishank Jaggi, Jharkhand vs Services, MS Dhoni, Saurabh Tiwary Gets Booed, Cricket News, Sports Newsविजय हजारे ट्रॉफी में सर्विसेज के खिलाफ मुकाबले में सौरभ तिवारी ने शतकीय पारी खेली। महेंद्र सिंह धोनी को इस मैच में बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला।(Photo: BCCI)

झारखंड के बल्लेबाज सौरव तिवारी ने विजय हजारे ट्रॉफी में सर्विसेज के खिलाफ शानदार शतक जमाकर अपनी टीम को जीत दिलायी। जीत के लिए 277 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी झारखंड टीम को अपने कैप्टन कूल की बल्लेबाजी की जरूरत ही नहीं पड़ी, क्योंकि सौरभ तिवारी (103 गेंद में नाबाद 102 रन, तीन चौके और छह छक्के) और इशांक जग्गी (92 गेंद में नाबाद 116 रन, 10 चौके और चार छक्के) ने मिल कर 214 रन की भागीदारी निभायी, जिससे टीम ने 22 गेंद रहते जीत दर्ज कर ली। लेकिन, शतक लगाने के बाद भी झारखंड के सौरभ तिवारी की हूटिंग हुई और कारण जानकर आप चौंक जाएंगे। झारखंड ने यह मुकाबला 7 विकेट से जीता।

सौरभ तिवारी की हूटिंग इसलिए हुई क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी को बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिल पाया। मैदान में मौजूद फैंस धोनी की बल्लेबाजी देखना चाहते थे, इसलिए वे तिवारी की हूटिंग कर रहे थे। उन्होंने सौरभ तिवारी हाय हाय के नारे भी लगाए। तिवारी ने कहा, मैंने अपनी हूटिंग का बुरा नहीं माना, क्योंकि दर्शक माही भाई की बैटिंग देखना चाहते थे। इससे पहले सेना की टीम गौरव कोचर (50 रन) और नकुल वर्मा (48 रन) के बीच 104 रन की मजबूत सलामी साझेदारी का फायदा नहीं उठा सकी, जिससे टीम नौ विकेट पर 276 रन ही बना सकी।

धोनी ने भले ही बल्लेबाजी नहीं की, लेकिन ड्रिंक्स ब्रेक के दौरान उनके टिप्स ने टीम की जीत में अहम भूमिका अदा की। इसका खुलासा जग्गी ने मैच के बाद किया। जग्गी ने कहा, ‘धोनी भाई ने भले ही बल्लेबाजी नहीं की, लेकिन ड्रिंक्स के दौरान उनकी टिप्स हमारे काम आई। माही भाई ने हमें संयम बरतते हुए खेलते रहने को कहा।’ तिवारी ने कहा, हम इसलिए भी ज्यादा चिंतित नहीं थे क्योंकि धोनी भाई की बल्लेबाजी बाकी थी। हम खुलकर खेले और टीम को जीत ‍दिलाने में सफल रहे। झारखंड ने 17 ओवरों में 65 रनों पर 3 विकेट खो दिए थे, लेकिन इसके बाद सर्विसेज के फील्डरों ने दोनों बल्लेबाजों को जीवनदान दिए। जिसका फायदा उठाते हुए सौरभ तिवारी और इशांक जग्गी ने शतक ठोक दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 SL vs BAN: टेस्ट सिरीज़ के लिए श्रीलंका टीम में दो नए चेहरे, हेराथ करेंगे कप्तानी
2 विजय हजारे ट्रॉफी: 125 के स्कोर पर ही धोनी की झारखंड टीम ने हासिल की जीत, सौराष्ट्र को 42 रन से हराया
3 गप्टिल ने अपनी नाबद शतकीय पारी में जड़े 11 छक्के, कीवियों ने द. अफ्रीका को 3 विकेट से दी मात
ये पढ़ा क्या?
X