ताज़ा खबर
 

कैंसर पीडि़त बच्‍चों से मिले युवराज, बोले- संकट में कुंबले की मदद, फिर लगाऊंगा 6 छक्‍के

बच्चों के एक सवाल के जवाब में युवराज सिंह ने कहा कि हेजल से अभी सगाई हुई है, शादी नहीं। जब शादी होगी तो सबको पता चल जाएगा।

Author मोहाली | May 16, 2016 11:27 AM
सनराइजर्स हैदराबाद ने युवराज सिंह को 7 करोड़ में खरीदा है। दिल्ली ने पिछली बार युवराज को 16 करोड़ में खरीदा था।

किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ रविवार (15 मई) को खेले गए मैच में 24 गेंदों पर 42 ठोककर हैदराबाद को जीत दिलाने वाले युवराज सिंह ने हाल ही में कैंसर से जूझ रहे बच्‍चों के साथ मुलाकात की। मोहाली में पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के क्रिकेट ग्राउंड पर 34 साल के युवराज ने रविवार रात इन बच्‍चों के साथ मुलाकात की। खुद को बच्‍चों के बीच युवराज खुद को बच्‍चे बन गए और उन्‍होंने बच्‍चों के हर सवाल का जवाब दिया।

Read Also: युवी बोले- अविश्‍वसनीय, रैना ने बताया फर्स्‍ट क्‍लास, टि्वटर पर छा गए विरोट कोहली, देखें क्‍या कह रहे हैं फैंस

बच्चों ने युवी से कैंसर और उनकी निजी जिंगी के बारे में सवाल किए। युवी ने कैंसर के अनुभव साझा करते हुए बताया कि जब वह कैंसर से जूझ रहे थे, उस समय क्रिकेट से दूर रहने के कारण बेहद निराश थे। तब अनिल कुंबले उनसे मिले और हौसला दिया। युवराज ने बच्‍चों को सलाह दी कि ऐसे मौके पर जिंदगी को आगे बढ़ाना ही जिंदगी का नाम है।

बच्चों के एक सवाल के जवाब में युवराज सिंह ने कहा कि हेजल से अभी सगाई हुई है, शादी नहीं। जब शादी होगी तो सबको पता चल जाएगा। बच्चों ने उनसे पूछा की दूसरी बार छह गेदों पर छह छक्के मारने का कारनामा कब दिखाएंगे। इस पर युवी का जवाब था, ‘आप लोग भगवान से प्रार्थना करें तो मैं जल्द ही दोबारा छह छक्के मारूंगा।’

Read Also: IPL9 में तीन शतक, सिर्फ 15 गेंदों में ठोके 58 रन, डिविलियर्स को छोड़ा पीछे, पढ़ें कोहली की रिकॉर्ड बुक
कैंसर को मात देने वाला एक बच्चा अब आठ साल का है और उसे सिर्फ 18 माह की उम्र में कैंसर का पता चला था। अब चौथी कक्षा में पढ़ रहे इस लड़के ने पीटीआई से कहा कि युवराज जैसे खिलाड़ी उनके लिए बहुत बड़ी प्रेरणा हैं। बच्चे ने कहा, ‘‘मुझे क्रिकेट पसंद है और युवी तथा सुरेश रैना को खेलते हुए देखकर मुझे काफी आनंद आता है।’’ युवराज ने बच्चों को टिप्स देते हुए कहा कि कैंसर जैसी बीमारी से जंग आपको सिखाती है कि जीवन को कभी हल्के में नहीं लेना चाहिए और अपने परिवार या मित्रों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। युवराज को 2011 विश्व कप का प्लेयर आफ द टूर्नामेंट चुना गया था और बाद में इसी साल उन्हें कैंसर का पता चला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App