ताज़ा खबर
 

ICC WORLD CUP 2019: इंडिया को हराने के लिए इंग्लैंड की मदद कर रहे अर्जुन तेंदुलकर

पिछले मैच में श्रीलंका से हारने के बाद इंग्लैंड की टीम अपनी गलतियों से सबक लेकर चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को विश्व कप के ग्रुप मैच में उतरेगी तो दर्शकों को रोमांचक मुकाबले की सौगात मिलने की गारंटी रहेगी।

Author June 25, 2019 6:03 AM
अर्जुन तेंदुलकर अपने पिता और महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के साथ।

इंग्लैंड को आस्ट्रेलिया के खिलाफ महत्त्वपूर्ण मुकाबले से पहले एक तेंदुलकर मदद पहुंचा रहा है लेकिन यह बल्लेबाजी में रिकार्डों का बादशाह नहीं बल्कि गेंदबाजी में तेजी से उभरता एक युवा खिलाड़ी है। अपने प्रतिष्ठित ‘सरनेम’ की ख्याति को बरकरार रखने का उद्देश्य लेकर तैयारियां कर रहे अर्जुन तेंदुलकर ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले विश्व कप मैच से पहले इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए नेट पर तेज गेंदबाजी की।

नारंगी रंग की टी शर्ट पहनकर उतरे अर्जुन ने इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाजी सलाहकार सकलैन मुश्ताक की देखरेख में गेंदबाजी की। यह पहला अवसर नहीं है जबकि अर्जुन ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए नेट पर गेंदबाजी की। इससे पहले 2015 में पंद्रह वर्षीय खिलाड़ी के रूप में वह इंग्लैंड के नेट गेंदबाजों में शामिल थे जिन्होंने आस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज टैस्ट की तैयारियों में मदद की थी। उन्नीस साल के अर्जुन ने पिछले सप्ताह एमसीसी यंग क्रिकेटर्स की तरफ से सर्रे सेकेंड इलेवन के खिलाफ दो विकेट लिए थे।

बता दें कि, पिछले मैच में श्रीलंका से हारने के बाद इंग्लैंड की टीम अपनी गलतियों से सबक लेकर चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को विश्व कप के ग्रुप मैच में उतरेगी तो दर्शकों को रोमांचक मुकाबले की सौगात मिलने की गारंटी रहेगी। क्रिकेट के मक्का लार्ड्स पर होने वाला यह मैच वेसे भी खास था लेकिन पिछले मैच में इंग्लैंड की 20 रन से हार के बाद इसका रोमांच दुगुना हो गया है। हेडिंग्ले में जीत के लिए 233 रन के लक्ष्य के जवाब में इंग्लैंड की टीम 212 रन पर आउट हो गई थी।

ग्रुप चरण में उसे पाकिस्तान ने भी हराया था लेकिन मेजबान टीम शीर्ष चार में बनी हुई है और सेमी फाइनल में प्रवेश की प्रबल दावेदार है। पहली बार विश्व कप जीतने की कोशिश में जुटी इंग्लैंड टीम हालांकि अब कोई कोताही नहीं बरत सकती। उसे आगामी मैचों में आस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड से खेलना है जिन्हें वह 1992 के बाद विश्व कप में नहीं हरा सका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App