ताज़ा खबर
 

ICC Cricket World Cup 2019: 11 खिलाड़ियों को नंबर 4 पर आजमा चुके हैं विराट, बस दो लगा सके हैं शतक

ICC Cricket World Cup 2019 India Squad: अंबाती रायुडू का पलड़ा थोड़ा हल्का है क्योंकि 47.05 के वनडे एवरेज वाले रायुडू का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होम सीरीज में प्रदर्शन बेहद औसत (2, 18 और 13 रन) रहा था। जहां तक दूसरे विकेटकीपर के चुनाव का सवाल है, पंत का पलड़ा भारी माना जा रहा है।

भारतीय टीम। (फोटो सोर्स- एपी)

ICC Cricket World Cup 2019 India Squad Announcement Date: वर्ल्ड कप 2019 के लिए टीम इंडिया के ऐलान से पहले सिलेक्टर्स की सबसे बड़ी चुनौती नंबर 4 पर उतरने वाले बल्लेबाज को तय करना होगा। कप्तान और सिलेक्टर्स के लिए यह तय करना आसान नहीं होगा। कप्तान विराट कोहली साल 2017 के बाद से वनडे में अभी तक नंबर 4 पर कुल 11 खिलाड़ियों को आजमा चुके हैं। ये खिलाड़ी हैं-अंबाती रायुडू, युवराज सिंह, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, अजिंक्य रहाणे, एमएस धोनी, मनीष पांडे, लोकेश राहुल, केदार जाधव, ऋषभ पंत और खुद कप्तान कोहली। उनमें अंबाती रायडू और युवराज सिंह ही दो खिलाड़ी ऐसे है, जिन्होंने सेंचुरी जड़ी है। रायुडू और युवराज इस अवधि में क्रमश: 2 और 1 हाफ सेंचुरी भी लगा चुके हैं। दिनेश कार्तिक ने दो हाफ सेंचुरी लगाई है। वहीं, पंड्या, रहाणे और धोनी ने 1-1 हाफ सेंचुरी लगाई है। पंत का बीते कुछ वक्त में जैसा प्रदर्शन रहा है, जानकार उनकी टीम में एंट्री तय मान रहे हैं। हालांकि, उन्हें अनुभवी दिनेश कार्तिक से कड़ी टक्कर मिलने की उम्मीद है। वहीं, विजय शंकर बतौर ऑलराउंडर अपनी जगह नंबर 4 पर मजबूत करते नजर आते हैं।

अंबाती रायुडू का पलड़ा थोड़ा हल्का है क्योंकि 47.05 के वनडे एवरेज वाले रायुडू का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होम सीरीज में प्रदर्शन बेहद औसत (2, 18 और 13 रन) रहा था। जहां तक दूसरे विकेटकीपर के चुनाव का सवाल है, पंत का पलड़ा भारी माना जा रहा है। हालांकि, इस युवा क्रिकेटर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में कुछ अहम मौके पर गलतियां की। वहीं, दिल्ली में हुए निर्णायक मैच में भी पंत बतौर बल्लेबाज फेल रहे थे। पंत के पक्ष में उनका लेफ्ट हैंडर होना भी जाता है। जानकार मानते हैं कि टीम मैनेजमेंट टॉप 6 में कम से कम 2 लेफ्ट हैंडर चाहती है। शिखर धवन के अलावा यह कमी पंत पूरी कर सकते हैं। इसी वजह से बीते साल सुरेश रैना को इंग्लैंड में वनडे सीरीज में मौका मिला था, लेकिन रैना इस मौके का फायदा उठाने में नाकाम रहे।

हालांकि, दिनेश कार्तिक को नजरअंदाज करना सिलेक्टर्स के लिए आसान नहीं होगा। तमिलनाडु के इस क्रिकेटर ने मिडल ऑर्डर में एक भरोसेमंद खिलाड़ी के तौर पर अपनी पहचान बनाई है। वे आसानी से फिनिश करने में सक्षम हैं। कभी-कभी बड़े शॉट्स लगाने और तेजी से रन बनाने में भी उन्होंने अपनी काबिलियत साबित की है। साल 2018 में निदाहास ट्रॉफी में बांग्लादेश के खिलाफ उनकी 8 गेंदों पर 29 रनों की पारी कौन भुला सकता है। हालांकि, पंत भी बड़े शॉट्स लगाने में सक्षम हैं, लेकिन वह बहुत ज्यादा जोखिम उठाते हैं, जिससे टीम इंडिया को खासा नुकसान हो सकता है। हालांकि, एक संभावना यह भी है कि पंत और कार्तिक, दोनों को मौका मिले। ऐसा करने से विजय शंकर और रायुडू की संभावनाएं पूरी तरह खत्म हो जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App