ताज़ा खबर
 

ICC का कमाऊ पूत है ODI क्रिकेट, टी20 कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा; कैरेबियाई दिग्गज माइकल होल्डिंग का दावा

होल्डिंग ने निखिल नाज से इंस्टग्राम पर बातचीत के दौरान कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आईसीसी कभी 50 ओवरों की क्रिकेट को हटाना चाहेगी क्योंकि जहां तक टीवी अधिकारों का सवाल है तो इससे उसकी सबसे अधिक कमाई होती है।

Author Updated: June 8, 2020 8:10 PM
वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग

वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग का मानना है कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की प्रासंगिकता को लेकर जतायी जा रही चिंताओं के बावजूद यह प्रारूप बना रहेगा क्योंकि इससे अब भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को काफी वित्तीय लाभ होता है। पूर्व में रिकी पोंटिंग और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों ने टी20 की बढ़ती लोकप्रियता और टेस्ट क्रिकेट का एक क्रिकेटर के लिये वास्तविक चुनौती बने रहने के कारण वनडे को लेकर आशंका जतायी थी। हालांकि होल्डिंग को लगता है कि 50 ओवरों के प्रारूप का कुछ नहीं बिगड़ने वाला है।

होल्डिंग  ने निखिल नाज से इंस्टग्राम पर बातचीत के दौरान कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आईसीसी कभी 50 ओवरों की क्रिकेट को हटाना चाहेगी क्योंकि जहां तक टीवी अधिकारों का सवाल है तो इससे उसकी सबसे अधिक कमाई होती है। इससे उसकी कमाई में भारी गिरावट आएगी। ’’ होल्डिंग टी20 के प्रशंसकों में शामिल नहीं हैं और उन्होंने कहा कि अब खेल को और छोटा बनाने से रोकना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘लोग टी20 के ताबड़तोड़ अंदाज का लुत्फ उठाते हैं। जब 10-10 ओवरों का मैच होगा तो आप पाएंगे कि लोगों का टी20 में मन नहीं लग रहा है। और मुझे यह भी लगता है कि किसी मोड़ पर लोगों को पांच-पांच ओवरों का खेल भी पसंद आने लगेगा। ’’ होल्डिंग ने कहा, ‘‘कुछ लोग इनकी तरफ आर्किषत हो जाएंगे लेकिन मेरा मानना है कि आपको हमेशा इस तरह के लोगों का ही ध्यान नहीं रखना चाहिए। आप खेल को हरदम छोटे से छोटा नहीं कर सकते।

हम इस दिशा में आगे नहीं बढ़ सकते क्योंकि तब आपके पास कुछ नहीं बचेगा। ’’ तेज गेंदबाज से कमेंटेटर बने होंिल्डग को लगता है कि गेंद को चमकाने के लिये लार का उपयोग प्रतिबंधित करने की आईसीसी क्रिकेट समिति की सिफारिशों से किसी तरह की व्यावहारिक परेशानी नहीं आएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि लार पर प्रतिबंध गंभीर समस्या है। समस्या है कि इस प्रतिबंध के बाद क्रिकेटरों को इससे सामंजस्य बिठाने में थोड़ा समय लगेगा। यह स्वाभाविक है कि जब आप मैदान पर होते हैं और आपको गेंद चमकानी होती है तो आप उस पर लार लगाते हो। ’’ होल्डिंग का मानना है कि पसीना भी गेंद को चमकाने में लार की तरह प्रभावशाली हो सकता है।
उन्होंने कहा, ‘‘आपको गेंद पर नमी ही तो लानी है और आप पसीने से भी उसे हासिल कर सकते हो।

आपको लार का उपयोग करने की जरूरत नहीं है। आपके हाथ या माथे का पसीना भी लार की तरह ही काम कर सकता है और मैंने किसी से यह नहीं सुना है कि पसीने से कोविड-19 फैल सकता है। ’’ होल्डिंग का इसके साथ ही मानना है कि अगर ऑस्ट्रेलिया में प्रस्तावित टी20 विश्व कप को स्थगित कर दिया जाता है तो बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) को इस साल के अंत में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को आयोजित करने का पूरा अधिकार है।

ऐसी अटकलें हैं कि कोविड-19 महामारी के कारण 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच प्रस्तावित टी20 विश्व कप को स्थगित किया जा सकता है। बीसीसीआई इस दौरान आईपीएल आयोजित करने की योजना पर काम कर सकता है। होल्डिंग ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आईसीसी इस मकसद से टी20 विश्व कप में देरी करेगा कि आईपीएल के लिए जगह बना सके। यह ऑस्ट्रेलियाई सरकार का कानून है, जहां वे किसी निश्चित तारीख से पहले किसी को भी देश में आने की अनुमति नहीं देंगे। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर टी20 विश्व कप का आयोजन तय समय पर नहीं होता है तो बीसीसीआई के पास इस घरेलू टूर्नामेंट को आयोजित करने का पूरा अधिकार है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अनिल कुंबले स्पिनरों को बढ़ावा देने के पक्षधर, लेकिन ‘सेना’ देशों में फ्लाप हैं ये गेंदबाज
2 लॉकडाउन में ‘किसान’ बने MS Dhoni; खरीदा 8 लाख का ट्रैक्टर, सीख रहे जैविक खेती के गुर
3 क्रिकेट फैंस के लिए खुशखबरी: 6 से 8 जून तक होगा टी20 टूर्नामेंट, दर्शकों को मिलेगी स्टेडियम में एंट्री
IPL 2020 LIVE
X