ताज़ा खबर
 

टी-20 में बड़ा स्कोर बनाने में आस्ट्रेलिया की बादशाहत

श्रीलंका के खिलाफ पल्लेकल में तीन विकेट पर 263 रन बनाकर तीसरी बार एक पारी में सर्वोच्च स्कोर के रेकार्ड को अपने नाम किया है।

Author नई दिल्ली | September 8, 2016 4:57 AM
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टी।

ग्लेन मैक्सवेल भले ही एक पारी में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर के रेकार्ड से चूक गए हों लेकिन आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को श्रीलंका के खिलाफ पल्लेकल में तीन विकेट पर 263 रन बनाकर तीसरी बार एक पारी में सर्वोच्च स्कोर के रेकार्ड को अपने नाम किया है। टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के 2005 में शुरुआत होने के बाद से यह केवल चौथा अवसर है जब  सर्वोच्च स्कोर का रेकार्ड टूटा है। दिलचस्प आंकड़ा यह है कि अब तक केवल दो टीमों आस्ट्रेलिया और श्रीलंका के नाम पर ही सर्वोच्च स्कोर का रेकार्ड दर्ज रहा है। पहला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच 17 फरवरी 2005 को आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। उस मैच में आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट पर 214 रन बना लिए थे। इस तरह से शुरुआती टी-20 मैच में ही एक टीम ने 200 रन का आंकड़ा पार कर दिया। उस मैच में आस्ट्रेलिया के तत्कालीन कप्तान रिकी पोंटिंग ने नाबाद 98 रन बनाए थे।

आस्ट्रेलिया ने दो साल बाद नौ जनवरी 2007 को सिडनी में इंग्लैंड के खिलाफ पांच विकेट पर 221 रन बनाकर अपने पिछले रेकार्ड में सुधार किया। संयोग से उसी वर्ष सितंबर में खेली गई आइसीसी विश्व टी-20 चैंपियनशिप में क्रिस गेल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 117 रन बनाकर टी-20 अंतरराष्ट्रीय में शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज भी बने थे। आस्ट्रेलिया के नाम एक पारी में सर्वोच्च स्कोर का रेकार्ड भी ज्यादा दिन तक नहीं रह पाया। दक्षिण अफ्रीका में खेली गई इस पहली आइसीसी विश्व टी-20 चैंपियनशिप के दौरान ही श्रीलंका ने 14 सितंबर 2007 को केन्या के खिलाफ जोहानिसबर्ग में छह विकेट पर 260 रन ठोक दिए। इसके बाद अगले नौ साल तक कोई भी टीम 250 रन के जादुई आंकड़े को नहीं छू पाई लेकिन आस्ट्रेलिया ने मंगलवार को न सिर्फ 250 रन की संख्या पार की बल्कि श्रीलंका का रेकार्ड भी अपने नाम कर दिया।

इस तरह से आस्ट्रेलिया टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 250 से अधिक का स्कोर बनाने वाली केवल दूसरी टीम बनी। अब तक जो 565 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले गए हैं उसमें केवल 51 बार टीमों ने 200 या इससे अधिक स्कोर बनाया है जबकि केवल छह बार टीमें 240 रन के स्कोर को छू पाई है। इनमें से तीन स्कोर तो पिछले दो सप्ताह के अंदर बने हैं।
आस्ट्रेलियाई पारी से पहले वेस्ट इंडीज ने 27 अगस्त 2016 को अमेरिका के लौडरहिल में भारत के खिलाफ छह विकेट पर 245 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। भारत ने हालांकि आखिर तक जीत की उम्मीद बनाए रखी थी और चार विकेट पर 244 रन बनाए थे। आस्ट्रेलिया का इससे पहले उच्चतम स्कोर छह विकेट पर 248 रन था जो उसने 29 अगस्त 2013 को इंग्लैंड के खिलाफ साउथम्पटन में बनाया था।

दक्षिण अफ्रीका (छह विकेट पर 241, बनाम इंग्लैंड सेंचुरियन, 2009) अन्य टीम है जिसने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 240 से अधिक का स्कोर बनाया है। दक्षिण अफ्रीका ने अब तक टी-20 अंतरराष्ट्रीय में सर्वाधिक दस बार 200 या इससे अधिक का स्कोर बनाया है। उसके बाद आस्ट्रेलिया (नौ बार), इंग्लैंड व वेस्टइंडीज (छह-छह), भारत और श्रीलंका (पांच-पांच), न्यूजीलैंड (चार), पाकिस्तान और अफगानिस्तान (दो-दो), जिम्बाब्वे और आयरलैंड (एक-एक) का नंबर आता है। मैक्सवेल के पास मंगलवार को हमवतन आरोन फिंच के 156 रन की सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत पारी के रेकार्ड को तोड़ने का मौका था लेकिन आखिर में वह 145 रन बनाकर नाबाद रहे। फिंच ने 2013 में साउथम्पटन में इंग्लैंड के खिलाफ यह पारी खेली थी। उन्होंने तब न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम के 123 रन के रेकार्ड को तोड़ा था जिन्होंने 2012 में बांग्लादेश के खिलाफ पल्लेकल में यह स्कोर बनाया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App