ताज़ा खबर
 

आईपीएल को मिला नया चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर, बीसीसीआई के भरोसेमंद को सौंपी गई जिम्‍मेदारी

आईपीएल के नए सीओओ बीसीसीआई के साथ पिछले सात साल के काम कर रहे हैं।

Author July 22, 2017 8:00 PM
2017 का आईपीएल।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने शनिवार को हेमांग अमीन को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का नया मुख्य कार्यपालन अधिकारी (सीओओ) नियुक्त किया है। इससे पहले अमीन बीसीसीआई के वित्त एंव वाणिज्य विभाग में महाप्रबंधक थे। आईपीएल के प्रबंधन और संचालन को सफलतापूर्वक अंजाम देने के बाद उन्हें यह नई जिम्मेदारी सौंपी गई है। वह बीसीसीआई के साथ पिछले सात साल के काम कर रहे हैं। अमीन की नियुक्ति पर बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सी.के. खन्ना ने कहा, “अमीन ने आईपीएल की सफलता में अहम रोल निभाया है। उनकी नेतृत्व क्षमता ने पिछले सात साल में आईपीएल की रणनीति को अच्छे से अंजाम दिया और इसकी भविष्य की नींव को मजबूत किया है।” आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा, “हेमांग अमीन अच्छा अनुभव रखने वाले शानदार इंसान हैं। उनकी बाजार और हितधारकों में अच्छी पकड़ है। उनके साथ काम करते हुए मुझे पता है कि वह आईपीएल के लिए सही शख्स हैं।”

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14850 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

दूसरी तरफ, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की देखरेख के लिए गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) के अध्यक्ष विनोद राय ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने विदेशी दौरों (टेस्ट) के दौरान राष्ट्रीय टीम का बल्लेबाजी सलाहकार बनने से इनकार कर दिया है जबकि जहीर खान के गेंदबाजी सलाहकार को लेकर फैसला अभी तक नहीं हुआ है। राय के मुताबिक, द्रविड़ ने खुद ही पद लेने से मना कर दिया है।

बीसीसीआई ने 15 जुलाई को सहायक कोचों को लेकर चार सदस्यीय समिति का गठन किया था। इस समिति में बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके. खन्ना, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी, सीओए के सदस्य डायना इडुल्जी और बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी शामिल हैं। द्रविड़ और जहीर को सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस. लक्ष्मण की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने टीम के बल्लेबाजी सलाहकार और गेंदबाजी सलाहाकर नियुक्त करने की सिफारिश की थी।

लेकिन शास्त्री अपने पसंदीदा लोगों को सहयोगी स्टाफ में चाहते थे और इसी कारण बीसीसीआई ने शास्त्री की पसंद भरत अरुण को टीम का गेंदबाजी कोच नियुक्त किया और संजय बांगर को सहायक कोच। बीसीसीआई ने कहा कि उन्हें सीएसी पर पूरा भरोसा है और बोर्ड ने किसी भी तरह से सीएसी का अपमान नहीं किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App