ताज़ा खबर
 

Ind vs Eng 3rd Test: विराट कोहली की कप्तानी पर बोले हरभजन, 38 मैचों में 38 बदलाव बहुत ज्यादा

Ind vs Eng, India vs England 3rd Test Match: हरभजन ने कहा ,‘‘ निजी तौर पर मेरा मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव कुछ ज्यादा है। लेकिन हर कप्तान अलग होता है और हर टीम की जरूरत अलग होती है। जरूरत के अनुसार खिलाड़ी चुने जाते हैं और यह रणनीति उनके लिए कारगर साबित हो रही है।

Author August 23, 2018 1:20 PM
भारतीय टीम और हरभजन सिंह।

ind vs Eng, India vs England 3rd Test Match: भारत के अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव बहुत ज्यादा है लेकिन विराट कोहली एंड कंपनी अगर नतीजे दे रही है तो इससे फर्क नहीं पड़ता। भारत ने कोहली की कप्तानी में 38 टेस्ट में 38 अलग अलग संयोजन के साथ खेला है। हरभजन ने कहा ,‘‘ निजी तौर पर मेरा मानना है कि 38 टेस्ट में 38 बदलाव कुछ ज्यादा है। लेकिन हर कप्तान अलग होता है और हर टीम की जरूरत अलग होती है। जरूरत के अनुसार खिलाड़ी चुने जाते हैं और यह रणनीति उनके लिए कारगर साबित हो रही है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ वे दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीतने के करीब पहुंचे और इंग्लैंड में भी सीरीज में वापसी की। यदि कप्तान को इस पर भरोसा है और प्रबंधन तथा खिलाड़ी राजी है तो क्या फर्क पड़ता है।’’ कोहली इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन करते हुए अभी तक दो शतक बना चुके हैं। उनकी तारीफ करते हुए हरभजन ने कहा ,‘‘ उसने इंग्लैंड के हालात में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी मेहनत की है। गेंद को छोड़ने और खेलने को लेकर भी उसने काफी अनुशासन बरता है।

ऋषभ पंत और विराट कोहली।

भज्जी ने कहा, ”कोहली शानदार बल्लेबाज हैं और मैने ऐसे बहुत कम बल्लेबाज देखे हैं जो दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में बल्लेबाजी को इतना आसान बना देते हैं।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ विराट की सबसे बड़ी खूबी यह है कि वह जीतने के लिए ही खेलता है, हालात चाहे जो भी हो । ऐसे में कुछ मैच हार भी जाते हैं लेकिन लय में आने पर अधिक जीत मिलती है। वहीं इंग्लैंड की बल्लेबाजी काफी कमजोर है और स्पिन तथा तेज गेंदबाजों दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है जिससे भारत पांच टेस्ट मैचों की सीरीज जीत सकता है।

हरभजन ने कहा ,‘‘ इंग्लैंड का बल्लेबाजी क्रम समस्या से घिरा है। वे ऐसे खेल रहे हैं मानो भारत दौरे पर हैं। ऐसा लग ही नहीं रहा कि वे अपने देश में खेल रहे हैं।’’ उन्होंने कहा ,‘‘उनकी बल्लेबाजी स्पिन और तेज आक्रमण दोनों के सामने कमजोर पड़ रही है। उनके कुछ स्टार बल्लेबाजों का घरेलू र्सिकट में औसत 30.35 का रिकॉर्ड रहा है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ भारत में आपको चयन के लिए नाम पर विचार होने के लिए भी 50 से ऊपर का औसत चाहिए। उनके पास वनडे में गहराई है लेकिन टेस्ट में नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App