ताज़ा खबर
 

दिग्‍गज विकेटकीपर बोले- ऋषभ पंत को निखारना चाहिए ताकि पार्थिव पटेल जैसा न हो उसका हाल

पार्थिव ने 2002 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और 16 साल में सिर्फ 65 अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेल पाए। वहीं महेंद्र सिंह धोनी के बाद भारत के अगले विकेटकीपर माने जाने वाले पंत चार टी20 मैचों में प्रभावित नहीं कर सके।

Author नई दिल्ली | March 11, 2018 2:04 PM
भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत। (Photo Courtesy: BCCI)

भारत के पूर्व महान विकेटकीपर सैयद किरमानी का मानना है कि युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत को घरेलू क्रिकेट में ज्यादा खेलने का मौका देना चाहिए। ऐसा न हो कि ऋषभ का हश्र पार्थिव पटेल की तरह हो जाए, जिसे महज 17 साल की उम्र में राष्ट्रीय टीम में खेलने के लिए उतार दिया गया था। पीटीआई से बातचीत के दौरान किरमानी ने कहा ‘‘हर कोई मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर नहीं होता है जो 16 साल की उम्र में सफल हो जाए। हर कोई ऐसा नहीं है। पार्थिव को इतनी जल्दी नहीं उतारना चाहिये था। ऋषभ प्रतिभाशाली हैं लेकिन उसे पूरी तरह तराशने की जरुरत है। उसका हश्र पार्थिव की तरह नहीं होना चाहिए।’’

पार्थिव ने 2002 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और 16 साल में सिर्फ 65 अंतरराष्ट्रीय मैच ही खेल पाए। वहीं महेंद्र सिंह धोनी के बाद भारत के अगले विकेटकीपर माने जाने वाले पंत चार टी20 मैचों में प्रभावित नहीं कर सके। किरमानी ने कहा, ‘‘वनडे क्रिकेट के दबदबे और जॉन राइट के भारत का कोच बनने के बाद नतीजे सर्वोपरि हो गए और तकनीक हाशिये पर चली गई। विकेटकीपरों को कोई मार्गदर्शन नहीं मिल सका और अचानक ऐसे बल्लेबाजों की जरूरत पड़ गई जो विकेटकीपिंग भी कर लेते हों।”

इसके बाद उन्होंने कहा “पार्थिव को बहुत जल्द टीम में शामिल किया गया और वे 1983 में खेले गए वर्ल्ड कप वीनिंग स्क्वॉड के सदस्य भी रहे थे। उन्होंने बहुत कम मैच खेले, अगर उन्हें अच्छे से तराशा जाता तो वे काफी अच्छा खेल सकते थे। अनुभव की कमी के कारण पार्थिव को बहुत कुछ झेलना पड़ा है इसलिए मैं कह रहा हूं कि ऐसे खिलाड़ियों को घरेलू स्तर पर निखारना चाहिए।” धोनी के बारे में बात करते हुए किरमानी ने कहा “धानी ने टेस्ट क्रिकेट से इतनी जल्दी सन्यास लेकर ठीक किया है। कप्तान विराट कोहली को भी उनकी सलाह की जरुरत पड़ती है और आने वाले समय में नए खिलाड़ियों को भी उनकी सलाह की काफी जरुरत होगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App