ताज़ा खबर
 

ख‍िलाड़‍ियों के इशारों पर न नाचें चयनकर्ता, पूर्व क्रिकेटर की BCCI पर तीखी टिप्‍पणी

भारत के लिए 74 वनडे खेल चुके 53 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने कहा, 'मेरा हमेशा ही मानना रहा है कि परिस्थितियां तब तक अनुचित नहीं होती, जब तक ये दोनों टीमों के लिए एक सी हैं।' मांजरेकर ने कहा, 'आज टेस्ट क्रिकेट खाली स्टैंड के सामने खेला जाता है और आईपीएल 50,000 से ज्यादा जुनूनी लोगों के सामने जिसे लाखों लोग टीवी पर देखते हैं।'

Author Updated: October 2, 2018 4:14 PM
भारतीय टेस्ट टीम। (फोटो सोर्स- AP)

पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर का मानना है कि पिछले एक साल में खिलाड़ी और चयनकर्ता के रिश्तों के बीच बदलाव देखने को मिला है। संजय मांजरेकर ने सोमवार को कहा कि खिलाड़ियों और प्रशासकों के बीच संतुलन बनाए रखा जाना चाहिए। मांजरेकर ने कहा, “मेरा मानना है कि टॉप पर मौजूद खिलाड़ियों की बात पर चयनकर्ताओं को फैसला नहीं करना चाहिए। बीसीसीआई को इस बात को समझना चाहिए कि इससे खिलाड़ी और सेलेक्टर्स के रिश्तों के बीच खट्टास पैदा हो सकता है।” क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया में नौंवे दिलीप सरदेसाई स्मारक व्याख्यान में भाषण देते हुए मांजरेकर ने कहा, ”भारत में डे-नाइट टेस्ट मैचों का आयोजन किया जाना चाहिए। डे-नाइट टेस्ट मैचों से दर्शकों की संख्या में इजाफा होगा और उन्होंने हैरानी जताई कि न जाने भारत इसे अपनाने के खिलाफ क्यों है? उन्होंने कहा कि खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट के बजाए टी20 लीग में खेलना इसलिए पंसद कर रहे हैं क्योंकि छोटे प्रारूप में काफी धन राशि होती है। सोमवार को दिए अपने व्याख्यान में संजय मांजरेकर ने कहा, ‘ज्यादा से ज्यादा लोगों को टेस्ट क्रिकेट के प्रति रुझाने, दर्शकों की संख्या बढ़ाने, लोकप्रियता बढ़ाने का एकमात्र तरीका दिन-रात्रि टेस्ट मैच हैं।’

संजय मांजरेकर। (Photo Courtesy: Twitter)

मांजरेकर ने कहा, ‘भारत ने हाल में एक पेशकश को ठुकरा दिया- क्योंकि खिलाड़ी इसमें खेलने से भयभीत हैं। गुलाबी गेंद और ओस में नहीं खेलना चाहते।’ भारत के लिए 74 वनडे खेल चुके 53 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने कहा, ‘मेरा हमेशा ही मानना रहा है कि परिस्थितियां तब तक अनुचित नहीं होती, जब तक ये दोनों टीमों के लिए एक सी हैं।’  मांजरेकर ने कहा, ‘आज टेस्ट क्रिकेट खाली स्टैंड के सामने खेला जाता है और आईपीएल 50,000 से ज्यादा जुनूनी लोगों के सामने जिसे लाखों लोग टीवी पर देखते हैं।’

उन्होंने कहा, ‘हर हालत में खिलाड़ी आईपीएल में खेलना चाहते हैं, जिसके बाद और इसके दौरान खिलाड़ियों को कितनी ही चोटें लगती हैं। आईपीएल से आपको शोहरत और धन मिलता है, कौन इसे न कहेगा?’ मांजरेकर ने कहा, ‘साथ ही टेस्ट क्रिकेट इतना मुश्किल है, इसलिए हैरानी की बात नहीं है कि कई क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट के बजाए टी20 लीग को चुन रहे हैं।’ (एजेंसी इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Ind vs WI: खेलने को नहीं मिला मौका, अब करुण नायर से बोले चीफ सिलेक्टर- लगे रहो!
2 Ind vs WI: 35 साल से भारत में वेस्टइंडीज नहीं जीत पाया है एक भी टेस्ट सीरीज, क्या इस बार बदलेगी टीम की किस्मत
3 पाकिस्तान के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के सिर पर लगी गेंद, मैदान से जाना पड़ा बाहर
जस्‍ट नाउ
X