विरेंद्र सहवाग के नाम जुड़ा एक और सम्मान, वीरू के नाम पर होगा फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के गेट नंबर 2 का नाम - Feroz Shah Kotla’s Gate no.2 to be named as ‘Virender Sehwag’ gate - Jansatta
ताज़ा खबर
 

वीरेंद्र सहवाग के नाम जुड़ा एक और सम्मान, वीरू के नाम पर होगा फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के गेट नंबर 2 का नाम

शानदार खेल और भारतीय क्रिकेट में लाजवाब योगदान के लिए सहवाग को ये सम्मान देने का फैसला किया गया है।

वीरेंद्र सहवाग ने 1999 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया था। (Photo Courtesy: BCCI)

टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग के नाम एक और सम्मान जुड़ गया है। नजफगढ़ के नवाब कहे जाने वाले वीरेंद्र सहवाग के नाम पर दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम के गेट नंबर 2 का नाम पड़ने जा रहा है। शानदार खेल और भारतीय क्रिकेट में लाजवाब योगदान के लिए सहवाग को ये सम्मान देने का फैसला किया गया है। कोटला स्टेडियेम के गेट नंबर दो का नाम जल्द ही वीरेंद्र सहवाग गेट होने जा रहा है। गेट का नाम सहवाग पर पड़ने का काम 31 अक्टूबर या उससे पहले पूरा हो जाएगा। आपको बता दें कि वीरेंद्र सहवाग दिल्ली की घरेलू टीम से खेलते आए हैं। दिल्ली क्रिकेट असोसियेशन(डीडीसीए) के अनुसार वीरेंद्र सहवाग ने स्टेट क्रिकेट की दुनिया में दिल्ली को नई उचाईयों तक पहुंचाया है।

20 अक्‍टूबर 1978 को जन्‍मे सहवाग अलग ही अंदाज में बल्‍लेबाजी के लिए जाने जाते थे। वे अपनी बल्‍लेबाजी से दुनिया के नामी गेंदबाजों के लिए भी खौफ का पर्याय थे। पाकिस्‍तान के खिलाफ वर्ष 1999 में वनडे के जरिये अपने करियर का आगाज करने वाले वीरू ने 104 टेस्‍ट, 251 वनडे और 19 टी20 मैच खेले।

टेस्‍ट मैचों में उन्‍होंने 49.34 के बेहतरीन औसत से 8586 रन बनाए, इसमें 23 शतक शामिल थे। 251 वनडे मैचों में उन्‍होंने 8273 रन बनाए, जिसमें 219 रन उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा। भारत के लिए वनडे में सचिन और रोहित शर्मा के अलावा वीरेंद्र सहवाग ने ही दोहरा शतक जमाया है। टी20 वर्ल्‍डकप 2007 में चैंपियन बनी भारतीय टीम के सदस्‍य रहे वीरू ने टी20 मैचों में 394 रन बनाए जिसमें 68 उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा। सहवाग ने अपनी ऑफ स्पिन बॉलिंग से टेस्‍ट में 40 और वनडे में 96 विकेट लिए। धोनी की कप्‍तानी में वर्ल्‍डकप 2011 में विजेता बनी भारतीय टीम के भी सहवाग सदस्‍य थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App