ताज़ा खबर
 

पाकिस्‍तानी क्रिकेट को तगड़ा झटका, मैच-फिक्सिंग मामले में मशहूर क्रिकेटर पर 5 साल का बैन

यह प्रतिबंध इस साल 10 फरवरी से प्रभावी हुआ, जब उन्हें पहले निलंबित किया गया था और पाकिस्तान के एक अन्य खिलाड़ी खालिद लतीफ के साथ स्पाट फिक्सिंग के आरोपों में दुबई से वापस भेज दिया गया था।

Author , August 30, 2017 6:25 PM
शरजिल पर पीसीबी की भ्रष्टाचार रोधी अधिनियम के उल्लंघन के पांच बड़े आरोप थे और वह सभी आरोपों में दोषी पाए गए। (File Photo)

पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) में स्पॉट फिक्सिंग के दोषी पाए जाने के बाद बल्लेबाज शरजिल खान पर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने पांच साल का प्रतिबंध लगा दिया है। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुताबिक, शरजिल पर पीसीबी की भ्रष्टाचार रोधी अधिनियम के उल्लंघन के पांच बड़े आरोप थे और वह सभी आरोपों में दोषी पाए गए। पीसीबी की तीन सदस्यीय पीठ ने उन्हें पांच साल की सजा सुनाई है। इस दौरान शरजिल वहां मौजूद थे। उनकी यह सजा अजीवन प्रतिबंध में भी बदल सकती है। शरजिल के वकील शेगन इजाज ने प्रतिबंध के खिलाफ अपील करने की बात कही है। हालांकि, पंचाट द्वारा जारी एक संक्षिप्त आदेश के अनुसार शारजील पर दो चरण में यह पांच साल का प्रतिबंध लगेगा जिसमें से ढाई साल वह पीसीबी की निगरानी में निलंबित सजा भुगतेगा।

यह प्रतिबंध इस साल 10 फरवरी से प्रभावी हुआ, जब उन्हें पहले निलंबित किया गया था और पाकिस्तान के एक अन्य खिलाड़ी खालिद लतीफ के साथ स्पाट फिक्सिंग के आरोपों में दुबई से वापस भेज दिया गया था। यह सजा लाहौर उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश असगर हैदर की अध्यक्षता वाली पंचाट द्वारा सुनाई गयी, जिसका मतलब है कि 28 वर्षीय शारजील दो साल के बाद अपना करियर दोबारा शुरू कर सकते हैं।

इजाज ने सुनवाई के बाद कहा, “हमें इस मामले में निर्दोष करार दिए जाने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब हम इसके खिलाफ अपील करेंगे। मैं एक बात साफ कर दूं कि हमें अदालत के व्यवहार से कोई शिकायत नहीं है, लेकिन हमें फैसले पर ऐतराज है, क्योंकि हमारा मानना है की लगाए गए तीन गंभीर आरोप सिद्ध नहीं हुए हैं।”

समाचार पत्र ‘डान’ की रिपोर्ट के अनुसार, शरजिल कम से कम 30 महीने सभी तरह के क्रिकेट से दूर रहेंगे। इसके बाद उन्हें प्रतिबंध पूरा होने तक घरेलू क्रिकेट में खेलने की इजाजत दी जा सकती है, हालांकि यह पीसीबी पर निर्भर करता है। पीसीबी के वकील तफाजुल रिजवी ने कहा कि यह पाकिस्तानी क्रिकेट के लिए यह बुरा दिन है।

उन्होंने कहा, “प्रतिबंध की सजा का पीसीबी के भ्रष्टाचार रोधी अधिनियम में अभी तक जिक्र नहीं है, क्योंकि उसमें सीमित प्रावधान हैं। ढाई साल के प्रतिबंध का मतलब यह नहीं है कि इसके खत्म होने के तुरंत बाद खिलाड़ी को खेलने की मंजूरी मिल जाएगी। इसके बाद भी कई चीजें होती हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App