ताज़ा खबर
 

AUS vs IND, 1st ODI: धड़ाधड़ गिर गए थे तीन विकेट, नौ साल बाद धोनी ने अपने कंधों पर ली यह जिम्‍मेदारी

कोहली के बाद अंबाती रायडू को खाता खोलने का मौका नहीं मिला और वह एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। तीन विकेट जल्दी गिरने के बाद पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी करने आए।

महेंद्र सिंह धोनी और भारतीय टीम।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे के दौरान बारतीय टॉप ऑर्डर बल्लेबाजों का प्रदर्शन शर्मनाकजनक रहा। 289 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को पहले ही ओवर में शिखर धवन के रूप में पहला झटका लगा। इसके बाद कप्तान कोहली भी तीन रन बनाकर झेय रिचर्डसन की गेंद पर मार्क्स स्टोइनिस को अपना कैच थमा बैठे। कोहली के बाद अंबाती रायडू को खाता खोलने का मौका नहीं मिला और वह एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। तीन विकेट जल्दी गिरने के बाद पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी करने आए। इससे पहले धोनी पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने 9 साल पहले साल 2010 में श्रीलंका के खिलाफ आए थे। महज चौथी बार ऐसा हुआ है जब धोनी इतनी जल्दी बल्लेबाजी करने आए हों, धोनी इस मैच के दौरान चौथे ओवर में ही बल्लेबाजी करने मैदान पर आ गए थे। वहीं इससे पहले पीटर हैंड्सकोंब की तेजतर्रार पारी के अलावा उस्मान ख्वाजा और शॉन मार्श के अर्धशतक की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ पांच विकेट पर 288 रन बनाए थे।

हैंड्सकोंब ने 61 गेंद में छह चौकों और दो छक्कों की मदद से 73 रन की पारी खेलने के अलावा मार्कस स्टोइनिस (43 गेंद में नाबाद 47, दो छक्के, दो चौके) के साथ पांचवें विकेट के लिए 68 रन की साझेदारी भी की। ख्वाजा ने 59 जबकि शान मार्श ने 54 रन की पारी खेली। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 92 रन जोड़े। हैंड्सकोंब और स्टोइनिस की तेजतर्रार पारियों से टीम अंतिम सात ओवर में 80 रन जोड़कर 300 रन के करीब पहुंचने में सफल रही।

भारत की ओर से कुलदीप यादव ने 54 जबकि भुवनेश्वर कुमार ने 66 रन देकर दो विकेट चटकाए। रविंद्र जडेजा ने 48 रन देकर एक विकेट हासिल किया। मोहम्मद शमी ने 10 ओवर में सिर्फ 46 रन खर्च किए लेकिन उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App