ताज़ा खबर
 

क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने दी भारत को धमकी- तुम्‍हें पता नहीं, पठानों के हाथ में है बॉर्डर की सिक्‍योरिटी

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी ने भारत को चेतावनी दी है। आफरीदी ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान के बॉर्डर की सुरक्षा पठान करते हैं, आपको पता नहीं है।

Author नई दिल्ली | October 4, 2016 5:38 PM
पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कैप्टन शाहिद अफरीदी। (Photo- Twitter)

भारत-पाकिस्तान से शांति की अपील करने वाले पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी ने अब भारत को चेतावनी दी है। आफरीदी ने भारत को चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान के बॉर्डर की सुरक्षा पठान करते हैं, आपको पता नहीं है। एक क्रिकेट शो के दौरान जब शाहिद आफरीदी से भारतीय सेना से डरने वाली बात पूछी गई तो उन्होंने जवाब दिया कि भारतीय सेना पाकिस्तानी आर्मी को ठीक से जानती नहीं है। इसमें पठान तैनात हैं। वहीं सरहद की सुरक्षा करते हैं। पाकिस्तानी आर्मी से पहले बॉर्डर पर पठान खड़े होते हैं। इन्हें पता नहीं है पठानों ने बॉर्डर संभाला हुआ है। बता दें कि शाहिद अफरीदी खुद एक पठान है।

भारतीय सेना द्वारा एलओसी पार कर पीओके में किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कैप्टन शाहिद आफरीदी ने भारत और पाकिस्तान से शांति बनाए रखने के लिए कहा था। अफरीदी ने ट्वीट कर कहा था, ‘पाकिस्तान अमन पसंद देश है। पाकिस्तान हर किसी के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध चाहता है। जब चीजें बातचीत से सुलझ सकती हैं तो कठोर कदम उठाने की जरूरत नहीं है।’

READ ALSO: शाहिद अफरीदी नहीं चाहते भारत-पाक में जंग, कहा-पड़ोसियों के झगड़े में दोनों के घर पर होता है असर

गौरतलब है कि उरी हमले के बाद से भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍ते ज्यादा बिगड़ गए हैं। इस हमले में सेना के 17 जवान शहीद हो गए थे बाद में तीन घायल जवानों ने भी दम तोड़ दिया था। इसके जवाब में भारतीय सेना की ओर से 28-29 सितंबर की रात को सर्जिकल स्‍ट्राइक किया गया। इसमें भारतीय सेना ने पीओके में आतंकियों के 7 ठिकानों को निशाना बनाया गया था। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से दोनों देशों के रिश्तों में तनाव बढ़ गया है। इसे देखते हुए खुफिया एजेंसियों द्वारा अलर्ट जारी किया जा चुका है।

READ ALSO:  शाहिद आफरीदी बोले- भारत में मिला पाकिस्‍तान से भी ज्‍यादा प्‍यार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App