ताज़ा खबर
 

अंपायर का विरोध कर फंसे अंबाती रायडू, बीसीसीआई ने भेज दिया नोटिस

11 जनवरी को कर्नाटक और हैदराबाद के बीच सयैद मुस्ताक अली टूर्नामेंट का टी20 मैच खेला गया था। इस मैच के दौरान अंपायर की एक गलती के कारण दोनों टीमों के बीच गलतफहमी पैदा हो गई थी।

Author हैदराबाद | January 19, 2018 1:21 PM
अंबाती रायडू के अलावा बीसीसीआई ने हैदराबाद टीम के मैनेजर कृष्ण राव को भी नोटिस जारी किया है। (Photo Source: PTI)

बीसीसीआई ने हैदराबाद के कप्तान अंबाती रायडू को नोटिस जारी कर यह स्पष्ट करने को कहा है कि उन्होंने कर्नाटक के खिलाफ खेले गए मैच में अंपायर के फैसले का विरोध क्यों किया। बीसीसीआई ने सप्ताहांत तक रायडू को इस मामले पर जवाब देने के लिए कहा है। अंबाती रायडू के अलावा बीसीसीआई ने हैदराबाद टीम के मैनेजर कृष्ण राव को भी नोटिस जारी किया है। बता दें कि 11 जनवरी को कर्नाटक और हैदराबाद के बीच सयैद मुस्ताक अली टूर्नामेंट का टी20 मैच खेला गया था। इस मैच के दौरान अंपायर की एक गलती के कारण दोनों टीमों के बीच गलतफहमी पैदा हो गई थी।

इस मैच में पहले कर्नाटक की टीम बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी थी। टीम ने पांच विकेट के नुकसान पर 203 रन बनाए। हैदराबाद के गेंदबाज मोहम्मद सिराज की आखिरी गेंद पर कर्नाटक के बल्लेबाज करुण नायर ने गेंद को हिट किया। बाउंड्री पर खड़े फील्डर मेहदी हसन ने गेंद को पकड़ा लेकिन जिस समय उन्होंने गेंद पकड़ी उनका पैर बाउंड्री को छू रहा था। अंपायर को लगा की गेंद ने बाउंड्री को पार नहीं किया है और उन्होंने कर्नाटक टीम को दो रन दिए। टीम का स्कोर उस समय तक 203/5 था।

कर्नाटक की टीम जब गेंदबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी तो कप्तान विनय कुमार अंपायर के पास पहुंचे और उनसे उनकी टीम के स्कोर में दो अतिरिक्त रन जोड़ने की मांग की, जिसके बाद हैदराबाद के लिए जीत का लक्ष्य 204 से 206 हो गया था। इसे लेकर दोनों टीमों का अंपायर के साथ विवाद हो गया, जो कि हैदराबाद की पारी खत्म होने तक चला। 20 ओवरों में हैदराबाद की टीम 9 विकेट के नुकसान पर 203 रन बना पाई थी, लेकिन टीम का कहना था कि यह मैच टाई हुआ है इसलिए सुपर ओवर कराकर जीत का फैसला किया जाए। इस विवाद को लेकर बीसीसीआई को इसमें दखल देना पड़ा और मैच रेफरी की रिपोर्ट के आधार पर आचार संहिता के तहत एक्शन लेने की बात कही गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App