ताज़ा खबर
 

BCCI एजीएम 21 सितंबर को, बोर्ड को समीक्षा याचिका के फैसले का इंतजार

एजीएम की वैधता लोढ़ा समिति पर निर्भर करेगी क्योंकि वह उच्चतम न्यायालय के 18 जुलाई को दिए गए फैसले के अनुरूप इसे अमान्य करार दे सकती है।

Author नई दिल्ली | August 22, 2016 7:40 PM
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ)

भारतीय क्रिकेट बोर्ड अपने मौजूदा संविधान के अनुरूप 21 सितंबर को अपनी वार्षिक आम बैठक (एजीएम) का आयोजन करेगा और संभावना है कि वह लोढ़ा समिति के सुधारों को लागू करने की स्थिति में पहुंचने से पहले समीक्षा याचिका का इंतजार करेगा। बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने बोर्ड की कार्यकारी समिति की बैठक के बाद यहां पत्रकारों से कहा, ‘बीसीसीआई की 21 सितंबर को मुंबई में एजीएम होगी। यह मौजूदा संविधान के अनुरूप होगी।’ हालांकि एजीएम की वैधता लोढ़ा समिति पर निर्भर करेगी क्योंकि वह उच्चतम न्यायालय के 18 जुलाई को दिए गए फैसले के अनुरूप इसे अमान्य करार दे सकती है। ठाकुर से जब 11 सूत्री सुधार कार्यान्वयन पर समिति के पास पहली अनुपालन रिपोर्ट दाखिल करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘हम पहले ही समीक्षा याचिका दाखिल कर चुके हैं। हमें तीन सदस्यीय समिति ने जो दस्तावेज दिये थे उन्हें राज्य संघों तक पहुंचा दिया गया है।’

हाल में कोलंबो में एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) की बैठक में भाग लेने वाले ठाकुर ने हालांकि कहा कि इस महाद्वीपीय संस्था ने बाहरी हस्तक्षेप पर चिंता जताई है। हिमाचल प्रदेश से भाजपा सांसाद ने कहा, ‘एसीसी के साथ हाल की बैठक में नेपाल, श्रीलंका और बीसीसीआई जैसे बोर्डों में बाहरी हस्तक्षेप पर चिंता जतायी गई। एसीसी ने इस तरह के हस्तक्षेप के संभावित प्रभावों के बारे में पूछा।’ कार्यकारी समिति के सदस्यों से बात करने पर पता चला कि कार्यान्वयन के लिए इंतजार करना होगा लेकिन अनुपालन रिपोर्ट दायर की जाएगी। एक राज्य संघ के वरिष्ठ अधिकारी ने बैठक के बाद कहा, ‘हम समीक्षा याचिका के फैसले का इंतजार करेंगे। इसके बाद कार्यान्वयन की बात होगी। निश्चित तौर पर अनुपालन रिपोर्ट संबंधित जानकारियों के साथ समिति को सौंप दी जाएगी। जहां तक राज्य संघों में संवैधानिक संशोधनों की बात है तो ऐसा बीसीसीआई संविधान में संशोधन के बाद ही किया जाएगा।’

बीसीसीआई ने हमेशा की तरह कार्यकारिणी में काम किया तथा वार्षिक बजट और लेखा परीक्षक की रिपोर्ट को मंजूरी दी गई। इसके साथ ही बीसीसीआई टेस्ट मैचों में अधिक दर्शकों को खींचने के लिए टिकटों की दर कम करने और स्कूली बच्चों के लिए कई कार्यक्रमों की योजना बना रहा है। रणजी ट्रॉफी को तटस्थ स्थलों पर आयोजित करने पर भी विचार किया गया। अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के के अलावा राजीव शुक्ला और शरद पवार जैसे सदस्य भी बैठक में उपस्थित थे। जो अन्य फैसले किए गए उनमें भारत अंडर-19 लड़कों की टीम और सीनियर महिला टीम के दैनिक भत्तों में वृद्वि करना था। इन्हें अब सीनियर भारतीय पुरुष टीम के बराबर कर दिया गया है। इन्हें अब अंतरराष्ट्रीय दौरों पर प्रतिदिन 125 डॉलर और घरेलू श्रृंखलाओं में 100 डॉलर मिलेंगे। मैदान तैयार करने, मैदानी उपकरणों तथा मेघायल और नागालैंड में इंडोर अकादमी को मंजूरी दी गई। घरेलू टूर्नामेंटों के कार्यक्रम को मंजूरी दी गयी जिसकी घोषणा जल्द की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App