ताज़ा खबर
 

IND vs AUS: सचिव को ट्रॉफी बांटने नहीं दिया गया, BCCI ने सीओए पर निकाला गुस्‍सा

अमिताभ चौधरी ने CoA और CEO राहुल जौहरी के समक्ष गुस्सा जाहिर करते हुए चार सवाल भी भेजे।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी ने प्रशासकों की समिति (CoA) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को शिकायत भरा एक ईमेल लिखा है। इसमें उन्होंने दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांचवें और आखिरी वनडे के बाद पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना द्वारा नजरअंदाज किए जाने पर गुस्सा जाहिर किया है। अमिताभ चौधरी ने CoA और CEO राहुल जौहरी के समक्ष गुस्सा जाहिर करते हुए चार सवाल भी भेजे। उन्होंने कहा कि बुधवार (13 मार्च, 2019) को सीके खन्ना ने विेजेता पुरस्कार ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरोन फिंच को देने की अनुमति नहीं दी। इसके उलट दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (DDCA) के अध्यक्ष रजत शर्मा को ट्रॉफी सौंप दी गई, जिनकी कार्यक्रम से ठीक उनकी खन्ना से बहस हुई थी।

इंडियन एक्सप्रेस को मिले ईमेल में अमिताभ चौधरी ने कहा, ‘यह बीसीसीआई इवेंट था या डीडीसीए इवेंट था? अगर यह BCCI का इवेंट नहीं था प्रेजेंटेशन पार्टी में BCCI प्रतिनिधि को शामिल क्यों किया गया? अगर वास्तव यह BCCI का इवेंट था तो DDCA पदाधिकारी द्वारा ट्राफी  क्यों दी गई थी? जबकि कार्यवाहक अध्यक्ष वहां मौजूद थे। चौथा सवाल पूछा गया कि संबंधित बीसीसीआई पदाधिकारी को प्रेजेंटेशन देने से बाहर करने का फैसला किसका था? प्रोटोकॉल के मुताबिक अगर भारत में आयोजित इंटरनेशनल सीरीज के दौरान बीसीसीआई के पदाधिकारी मौजूद रहते हैं, तो वह मैच के बाद प्रेजेंटेशन पार्टी का हिस्सा होंगे। बीसीसीआई का नियम कहता है कि सिर्फ प्रायोजक, राज्य संघ के सदस्य और एक भारतीय बोर्ड के पदाधिकारी मौजूद रहेंगे।

हालांकि जब मामले में DDCA अध्य रजत शर्मा से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने इसे गैर जरुरी मुद्दा बताया। रजत शर्मा ने इंडियन एक्सप्रेस कहा, ‘मेरा मानना है कि यह मुद्दा नहीं है। मोहाली में भी एक दिवसीय मैच के बाद, राज्य संघ के अध्यक्ष द्वारा ट्रॉफी दी गई थी।’ संयोग से, मोहाली में कोई बीसीसीआई अधिकारी प्रेजेंटेशन पार्टी में मौजूद नहीं था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App