ताज़ा खबर
 

Flashback: जब फाइनल में ऑस्‍ट्रेलिया को पीट श्रीलंका ने जीता था वर्ल्‍ड कप 1996, देखें वीडियो

World Cup, 1996: 242 रनों का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने सिर्फ 12 रन पर ही सनथ जयसूर्या का विकेट गंवा दिया। जयसूर्या 9 रन बनाकर रन आउट हो गए।

श्रीलंकाई टीम के कप्तान अर्जुन रणतुंगा। (फोटो सोर्स- ट्विटर)

AUS vs SL, Final: ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच आज के ही दिन साल 1996 में आईसीसी वर्ल्ड कप का फाइनल मैच खेला गया था। पाकिस्तान के लाहौर शहर के गद्दाफी स्टेडियम में खेले गए इस मैच को श्रीलंका की टीम ने सात विकेट से अपने नाम किया। इसके साथ ही वह भारत और पाकिस्तान के बाद वर्ल्ड कप जीतने वाला तीसरा एशियाई देश भी बना। अर्जुन रणतुंगा की कप्तानी में श्रीलंका ने यह खास उपलब्धि अपने नाम करने में कामयाब हासिल की। अर्जुन रणतुंगा ने इस मैच के दौरान टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया।

ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मार्क टेलर की ताबड़तोड़ 74 रनों की मदद से 50 ओवर में सात विकेट खोकर 241 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही और मार्क वॉ महज 12 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए रिकी पोंटिंग ने मार्क टेलर के साथ टीम को संभाला और स्कोर को 130 के पार पहुंचाया। पोंटिंग 45 रन बनाकर डी सिल्वा की गेंद पर बोल्ड हो गए।

इसके बाद ऑस्ट्रेलिया नियमित अंतराल पर अपने विकेट गंवाती चली गई और 50 ओवर में टीम सात विकेट खोकर 241 रन ही बना सकी। 242 रनों का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने सिर्फ 12 रन पर ही सनथ जयसूर्या का विकेट गंवा दिया। जयसूर्या 9 रन बनाकर रन आउट हो गए। हालांकि, इसके बाद टीम के बल्लेबाजों ने सूझ-बूझ के साथ बल्लेबाजी की और श्रीलंका को एकतरफा जीत दिला दी। विनिंग रन श्रीलंकाई टीम के कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने बनाया और पूरी टीम के लिए यह पल यादगार बन गया।

श्रीलंका की ओर से अरविंद डी सिल्वा ने फाइनल मैच में दो कैच तीन विकेट और नाबाद 107 रन बनाकर ऑलराउंडर पारी खेलने का काम किया। इसके अलावा अर्जुन रणतुंगा ने भी टीम के लिए 47 रन जोड़ने का काम किया। अर्जुन रणतुंगा ने 37 गेंदों में 4 चौके और एक छक्के की मदद से 47 रन बनाए। इस जीत के साथ ही श्रीलंका पहला ऐसा आयोजक देश बना जिसने विश्व कप खिताब जीता हो।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App