ताज़ा खबर
 

पहले मैच में जीरो पर आउट हुए अर्जुन तेंडुलकर, कल लिया था पहला विकेट

पहली बार एज-ग्रुप के अंतर्राष्ट्रीय मैच में बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे अर्जुन बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए।

शुरुआती मैच में ऑलराउंडर अर्जुन का यह प्रर्दशन उनके करियर के लिए काफी मुश्किलें पैदा कर सकता है। (BCCI)

क्रिकेट इतिहास के सबसे महान खिलाड़ियों में शुमार सचिन तेंडुलकर के बेटे अर्जुन तेंडुलकर अपने पहले ही अंडर-19 मैच में बुरी तरह नाकाम साबित हुए हैं। पहली बार एज-ग्रुप के अंतर्राष्ट्रीय मैच में बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे अर्जुन बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। पीडब्ल्यूएस दुलशान की गेंद पर पसिंदू सूर्याबंडारा ने उनका कैच लपका। शुरुआती मैच में ऑलराउंडर अर्जुन का यह प्रर्दशन उनके करियर के लिए काफी मुश्किलें पैदा कर सकता है। हालांकि अर्जुन गेंदबाजी में जरूर एक विकेट लेने में कामयाब हुए। उन्होंने पहली पारी के दूसरे ओवर की आखिरी गेंद पर श्रीलंका के कामिल मिश्रा को अपना शिकार बनाया। अर्जुन ने मिश्रा को एलबीडब्ल्यू आउट किया। पारी में यह उनका पहला और आखिरी विकेट साबित हुआ। मगर भारतीय टीम के हर्ष त्यागी और आयुष बदोनी टीम के लिए खासे फायदेमंद साबित हुए। दोनों खिलाड़ियों ने महत्वपूर्ण चार-चार विकेट हासिल किए। बदोनी ने बल्लेबाजी में भी खूब जौहर दिखाए।

बता दें कि अथर्व तायडे (113) और आयुष बदोनी (107) के शतक से भारत अंडर 19 टीम ने टेस्ट के दूसरे दिन श्रीलंका अंडर 19 पर शिकंजा कस दिया। श्रीलंका अंडर 19 को 244 रन पर समेटने के बाद भारतीय अंडर 19 टीम ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक पहली पारी में पांच विकेट पर 473 रन बनाए। भारत अंडर 19 टीम ने दिन की शुरुआत एक विकेट पर 92 रन से की। सलामी बल्लेबाज तायडे ने शतक पूरा करते हुए 160 गेंद में 13 चौकों की मदद से 113 रन बनाए। उन्होंने डी पदिक्कल (25) और पवन शाह (38) के साथ दूसरे और तीसरे विकेट के लिए क्रमश: 49 और 86 रन की साझेदारी की।

पारी के 64 वें ओवर में तायडे के आउट होने के बाद वाईवी राठौड़ (34) भी 71 वें ओवर में पवेलियन लौट गए। नेहल वढेरा (81) और बदोनी (107) ने इसके बाद छठे विकेट के लिए 183 रन की अटूट साझेदारी करके भारतीय टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। वढेरा ने 117 गेंद की अपनी पारी के दौरान अब तक नौ चौके और तीन छक्के जड़े हैं। बदोनी ने 115 गेंद का सामना करते हुए 11 चौके और दो छक्के जड़े हैं। भारत को दो युवा टेस्ट और पांच वनडे खेलने हैं। दूसरा युवा टेस्ट 24 जुलाई से हंबनटोटा में खेला जाएगा जबकि एकदिवसीय श्रृंखला कोलंबो में 30 जुलाई से शुरू होकर 10 अगस्त तक चलेगी।

गौरतलब है कि जूनियर क्रिकेट में उम्दा प्रदर्शन के बाद अर्जुन को अंडर-19 टीम में चुना गया था, जो टीम में तेज गेंदबाजी का नेतृत्व कर रहे हैं। अर्जुन अब जूनियर वर्ल्ड कप में टीम में खेलने के लिए उपस्थित नहीं हो सकेंगे। ऐसा इसलिए है क्योंकि जिस वक्त इस टूर्नामेंट की शुरुआत होगी अर्जुन तब तक 20 साल के हो चुके होंगे। (एजेंसी इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App