ताज़ा खबर
 

19 साल बाद खुलेंगे मैच फिक्सिंग के कई राज, लंदन से बाहर लाया गया सटोरिया संजीव चावला

विदेश मंत्रालय ने पिछले साल मार्च में ब्रिटिश सरकार को संजीव चावला के बारे में डोजियर सौंप कर प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू की थी। 50 वर्षीय चावला ब्रिटिश नागरिक है। दिल्ली पुलिस की टीम ने उसे अदालत में पेश किया।

Author Updated: February 14, 2020 11:38 AM
मैच फिक्सिंग मामले का प्रमुख आरोपी संजीव चावला

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए की संलिप्तता वाले मैच फिक्सिंग मामले के एक प्रमुख आरोपी संजीव चावला को गुरुवार को ब्रिटेन से प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया। विदेश मंत्रालय ने पिछले साल मार्च में ब्रिटिश सरकार को संजीव चावला के बारे में डोजियर सौंप कर प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू की थी। 50 वर्षीय चावला ब्रिटिश नागरिक है। दिल्ली पुलिस की टीम ने उसे अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे पूछताछ के लिए 12 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

प्रत्यर्पण की कार्रवाई पूरी होने के बाद भारत से दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के अधिकारियों की एक टीम संजीव चावला को लाने के लिए लंदन भेजी गई थी। अधिकारियों के मुताबिक, ब्रिटेन का 50 वर्षीय यह नागरिक सुबह आइजीआइ हवाई अड्डे पर लाया गया। चावला को पहले अपराध शाखा कार्यालय ले जाया गया। वहां से उसे अदालत में पेश किया गया।

अदालत ने उसे 12 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट सुधीर कुमार सिरोही ने यह आदेश दिया। पुलिस ने अदालत से चावला की 14 दिनों की हिरासत मांगी थी। पुलिस ने अदालत को बताया कि लंदन से प्रत्यर्पित करके लाए गए चावला को बड़ी साजिश का पता लगाने के लिए विभिन्न स्थानों पर ले जाया जाएगा और कई लोगों से आमना-सामना कराया जाएगा।

पुलिस ने अदालत को बताया कि चावला पांच मैचों की फिक्सिंग में शामिल रहा है। उस पर फरवरी-मार्च 2000 में दक्षिण अफ्रीका टीम के भारत दौरे पर मैच फिक्सिंग के लिए क्रोनिए के साथ मिलकर साजिश रचने का आरोप है। 19 साल यानी 2 दशक बाद सटोरिए पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है। ब्रिटिश अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक, दिल्ली में जन्मा कारोबारी चावला 1996 में व्यापार वीजा पर ब्रिटेन चला गया था और वहां की नागरिकता ले ली।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X