ताज़ा खबर
 

IND vs NZ: न्‍यूजीलैंड को उसी के घर में 4-1 से हराया, टीम इंडिया ने बना डाला यह रिकॉर्ड

India vs New Zealand, Ind vs NZ 2019 Schedule, Time Table, Squad: इस मैच के दौरान भारतीय गेदंबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा और वह 252 के टारगेट को डिफेंड करने में कामयाब रहे। इस जीत के साथ ही सीरीज पर भारत ने 4-1 से कब्जा जमाया।

एमएस धोनी, अंबाती रायडू और केदार जाधव। (फोटो सोर्स- एपी)

न्यूजीलैंड की धरती पर कीवियों के खिलाफ 4-1 से वनडे सीरीज जीतकर भारत ने कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं। वेलिंग्टन में खेले गए सीरीज के आखिरी मुकाबले को भारत ने 35 रनों से जीता। इस मैच के दौरान भारतीय गेदंबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा और वह 252 के टारगेट को डिफेंड करने में कामयाब रहे। इस जीत के साथ ही सीरीज पर भारत ने 4-1 से कब्जा जमाया। साल 2009 के बाद न्यूजीलैंड में भारत की यह दूसरी वनडे सीरीज जीत है। विराट कोहली की कप्तानी में टीम ने शुरू के तीन मुकाबले पहले ही जीत लिए थे, इसके बाद खेले गए दो मैचों में भारत को एक में जीत तो एक में हार का सामाना करना पड़ा। साल 2009 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में टीम ने 3-1 से सीरीज अपने नाम किया था। वहीं इस सीरीज को भारत 4-1 से जीतने में कामयाब रहा, यह न्यूजीलैंड की धरती पर भारत की सबसे बड़ी सीरीज जीत है। न्यूजीलैंड की धरती पर सबसे पहले 4-1 से द्विपक्षीय सीरीज जीतने का कारनामा ऑस्ट्रेलिया ने किया था।

ऑस्ट्रेलिया ने साल 1999 के दौरान न्यूजीलैंड को 4-1 से शिकस्त देकर सीरीज अपने नाम किया था। इसके ठीक एक साल बाद साल 2000 में श्रीलंका की टीम न्यूजीलैंड को 4-1 से हराने में कामयाब रही थी। साल 2004-5 के दौरान ऑस्ट्रेलिया ने एक बार फिर कीवियों को उनके घर में ही पटखनी दी। पांच मैचों की इस सीरीज में न्यूजीलैंड एक मैच में नहीं जीत सका था। इसके बाद साल 2009 में भारतीय टीम पहली बार न्यूजीलैंड में जीत हासिल करने में कामयाब रही थी। वहीं इस सीरीज के बाद भारत न्यूजीलैंड को इतने बड़े अंतर से हराने वाली तीसरी टीम बन गई है।

बता दें कि भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ 6 फरवरी से तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेलनी है। इस सीरीज में भी टीम की कोशिश जीत के लय को बरकरार रखने की होगी। इस सीरीज के दौरान टीम की कप्तानी रोहित शर्मा के कंधो पर होगी। विराट की गैरमौजूदगी में न्यूजीलैंड को टी-20 में उन्हीं के घर में मात देना आसान नहीं होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App