ताज़ा खबर
 

टीम इंडिया की परेशानी बढ़ाने में जुटे राशिद खान, बताया अपना प्लान

राशिद खान ने फर्स्ट पोस्ट को एक इंटरव्यू में कहा, "मैं नेट पर पांच अलग अलग तरह की डिलीवरी सिखने की कोशिश कर रहा हूं। मैंने अभी तक इसका इस्तेमाल नही किया है, आने वाले टेस्ट में मैं अलग-अलग बॉलिंग के साथ इसका इस्तेमाल करूंगा।"

राशिद खान आईपीएल इतिहास के ऐसे पहले खिलाड़ी बन गए हैं जिसने किसी टीम के खिलाफ 25 रन बनाने के अलावा तीन विकेट लिए हो, दो कैच लिए हों और एक रन आउट किया हो। (पीटीआई फोटो)

क्रिकेट के नये सेंसेशन राशिद खान अपनी बॉलिंग और बैटिंग स्किल की वजह से टॉक ऑफ द टाउन बन गये हैं। शुक्रवार को उन्होंने केकेआर के खिलाफ धमाकेदार परफॉर्मेंस दिया। राशिद की आतिशी पारी तब आई जब हैदराबाद का 150 के पार जाना भी मुश्किल लग रहा था। उन्होंने अपनी पारी में चार छक्के और दो चौके मारे। वहीं गेंदबाजी में अपने कोटे के चार ओवरों में राशिद ने महज 19 रन देकर तीन विकेट झटका कोलकाता की कमर तोड़ दी। हालांकि अब राशिद खान की नयी प्लानिंग है। अफगानिस्तान की टीम 14 जून से टेस्ट मैचों में डेब्यू करने वाली है। पहले मैच में अफगानिस्तन का मुकाबला दुनिया की नंबर वन टेस्ट टीम इंडिया से होने वाला है। इस मैच में राशिद खान भी खेलेंगे।

राशिद खान ने भारतीय गेंदबाजों को चेतावनी देते हुए कहा है कि वह इंडिया के बैट्समैन के खिलाफ 5 तरह की डिलीवरी का इस्तेमाल करेंगे। राशिद खान ने फर्स्ट पोस्ट को एक इंटरव्यू में कहा, “मैं नेट पर पांच अलग अलग तरह की डिलीवरी सिखने की कोशिश कर रहा हूं। मैंने अभी तक इसका इस्तेमाल नही किया है, आने वाले टेस्ट में मैं अलग-अलग बॉलिंग के साथ इसका इस्तेमाल करूंगा।” अपने डिलीवरी के बारे बताते हुए उन्होंने कहा, “मैं अलग अलग तरह की गुगली डिलीवरी करता हूं, लेकिन सबसे कठिन वो है जब मैं अपनी कलाई के बजाए उंगलियों का इस्तेमाल करता हूं, तब गेंद दूसरे तरह से निकलती है।”

उन्होंने आगे कहा, “लेग स्पिन गेंद मेरी उंगलियों के अगले भाग से निकलती है, लेकिन स्पेशल गुगली के लिए मैं बॉल पर इस तरह का दबाव बनाता हूं कि गेंद उंगलियों के पीछे चला जता है। इसके अलावा मैं कलाइयों को इस तरह घुमाता हूं कि आसानी से समझ में ना आ सके।”

बता दें कि पिछले साल जून में आईसीसी ने आयरलैंड और अफगानिस्तान को टेस्ट टीम का दर्जा दिया था। आयरलैंड की टीम पिछले सप्ताह अपना पहला टेस्ट मैच भी खेली। राशिद खान मानते हैं कि भारत जैसी टीम के खिलाफ पहली मैच में खेलना सभी अफगानियों और खासकर उनकी टीम के लिए गर्व का विषय है। उन्होंने कहा, “‘टेस्ट टीम के रूप में स्वीकार किया जाना अभिमान की बात है, हमलोगों ने मात्र 13 से 14 सालों में इसे हासिल किया है, इस उपलब्धि में गर्व छुपा हुआ है, हर अफगानी इस ओर देख रहा है, यदि हम क्रिकेट में अच्छा करते हैं तो दुनिया भर में लोग अफगानिस्तान के बारे में अच्छी बातें करेंगे, अभी तो सिर्फ बम और मौत की बातें होती है, ये सुनकर हमें बहुत दुख होता है। हम अपने देशवासियों को अपने उपलब्धियों के बारे में गर्व महसूस कराना चाहते हैं, हम चाहते हैं कि दुनिया हमारे क्रिकेट के बारे में चर्चा करे। इसलिए यह खेल हमारे लिए बहुत कुछ मतलब रखता है। हमारे लिये यह सिर्फ खेल नहीं है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App