ताज़ा खबर
 

क्रिकेट मैच के दौरान आठ साल के बच्‍चे की मौत, सिर में गेंद लगने के बाद मैदान पर ही टूट गई सांसें

मरने वाले लड़के का नाम कोथरलंका लीलाधर था और वह चौथी कक्षा में पढ़ता था।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

आंध्र प्रदेश में क्रिकेट बॉल सिर में लगने से एक आठ साल के बच्‍चे की मैदान में ही मौत हो गई। घटना गुरुवार (13 अप्रैल) को राज्‍य के गुंटुर जिले के बापटला मंडल के एक गांव में हुई। मरने वाले लड़के का नाम कोथरलंका लीलाधर था और वह चौथी कक्षा में पढ़ता था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बच्‍चा अपने दोस्‍तों के साथ जिला परिषद हाई स्‍कूल मैदान में क्रिकेट खेल रहा था। इसी दौरान गेंद उसके सिर पर लगी। उसकी वहीं मौत हो गई।

लीलाधर के दोस्‍तों ने बताया कि गेंद लगने के बाद वह वहीं गिर गया। जब देखा कि वह सांस नहीं ले पा रहा है और मैदान पर गिर गया है तो दोस्‍त मदद को दौड़े। उन्‍होंने कृत्रिम श्‍वास देने के लिए एक नौजवान की मदद भी लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। लीलाधर को पास के अस्‍पताल भी ले जाया गया। यहां पर डॉक्‍टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। डॉक्‍टर्स ने बताया कि माथे पर गेंद लगने से लीलाधर का ब्रेन डेड हो गया इसके चलते उसकी सांस रूक गई। मृतक के पिता छोटा सा व्‍यापार चलाते हैं। वह उनका सबसे छोटा बेटा था।

बता दें कि क्रिकेट के खेल के दौरान कई क्रिकेटर्स गेंद से चोट लगने के चलते जिंदगी गंवा चुके हैं। ऑस्‍ट्रेलिया के फिल ह्यूज की भी 2014 में इसी तरह से मौत हुई थी। ऑस्‍ट्रेलिया के घरेलू क्रिकेट के दौरान सीन एबट की एक बाउंसर ह्यूज के कान के पीछे के हिस्‍से पर लगी थी। इसके बाद वे क्रीज में ही गिर गए थे। उन्‍हें अस्‍पताल ले जाया गया था। दो दिन बाद उनकी मौत हो गई थी। ह्यूज काफी प्रतिभावान खिलाड़ी थे और वे ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेट के उभरते सितारे थे। उनकी मौत के बाद बल्‍लेबाजों के हेलमेट में सुरक्षा की दृष्टि से बदलाव भी किया गया है़।

भारत के रमन लांबा की भी मैच के दौरान ही मौत हो गई थी। एक मैच के दौरान कनपटी पर गेंद लगने के बाद वे कोमा में चले गए थे। तीन बाद उनकी अस्‍पताल में मौत हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App