ताज़ा खबर
 

World Cup 2019: टीम इंडिया से डरते हैं पाकिस्तानी खिलाड़ी, पूर्व दिग्गज ने किया हार की वजह का खुलासा

पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘‘पाकिस्तान की टीम अब भी सिर्फ प्रतिभा पर भरोसा कर रही है, जबकि भारत के खेल में टीम वर्क दिखता है। टीम के खिलाड़ी अपनी भूमिकाओं को जानते हैं और अपनी भूमिका को मैदान पर उसे शानदार तरीके से निभाते है।’

Author मैनचेस्टर | June 18, 2019 4:59 PM
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वकार यूनुस

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वकार यूनुस का मानना है कि पाकिस्तान की क्रिकेट टीम मौजूदा भारतीय टीम से खौफजदा है जिस कारण वे बड़े मैचों में हमेशा दबाव में रहते हैं। भारत ने रविवार को बारिश से प्रभावित मैच में पाकिस्तान को डकवर्थ लुईस नियम से 89 रन से शिकस्त देकर आईसीसी विश्व कप मुकाबले में उनके खिलाफ सातवीं जीत दर्ज की। वकार ने कहा कि इस हार से दोनों टीमों के बीच ‘बड़े अंतर’ का पता चलता है। वकार ने आईसीसी के लिए लिखे कॉलम में कहा, ‘‘ पिछले कुछ वर्षों में भारत और पाकिस्तान की टीम में बड़ा अंतर आया है और रविवार को यह एक बार फिर यहां के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर दिखा।’’

इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘‘पाकिस्तान की टीम अब भी सिर्फ प्रतिभा पर भरोसा कर रही है, जबकि भारत के खेल में टीम वर्क दिखता है। टीम के खिलाड़ी अपनी भूमिकाओं को जानते हैं और अपनी भूमिका को मैदान पर उसे शानदार तरीके से निभाते है।’’ वकार ने कहा, ‘‘ 90 के दशक में हमारी टीम मजबूत होती थी लेकिन मुझे लगता है कि अब पाकिस्तान भारत से खौफ खाता है। पाकिस्तान की टीम जब भी ऐसे मैचों में जाती है तब वे दबाव में रहते हैं और लगता है कि वे कमजोर टीम है।’’ वकार ने कहा कि भारत को चुनौती देने के लिए पाकिस्तान को अपनी फिटनेस में सुधार करना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान को पहले अपनी खेल संस्कृति को बदलने की जरूरत है, और उनका फिटनेस स्तर भारतीय खिलाड़ियों से मेल खाना चाहिए।’’ वकार ने टास जीत कर गेंदबाजी करने का फैसला करने के लिए सरफराज को लताड़ लगाते हुए कहा कि टीम को ज्यादा निराशा उसकी गेंदबाजी से हुई।
उन्होंने कहा, ‘‘बेशक, सरफराज को टास जीतकर गलत फैसला किया, खासकर जब आप दो स्पिनरों के साथ खेल रहे हैं और आप पहले गेंदबाजी करने का फैसला कैसे कर सकते है।’’ विश्व कप में पाकिस्तान का अगला मुकाबला 23 जून को दक्षिण अफ्रीका से है। टीम को खिताबी दौड़ में बने रहने के लिए अगले चारों मुकाबलों में जीत दर्ज करना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App